Logo
Logo
mic
    
Download
एरर ४०४

एरर ४०४

Duration

0hr 24m

Language

Hindi

Released

Category

Horror

Like

Favorite

like

Review

share

Share

जब आप कोई एलियन आधारित सिनेमा देखते हैं या साइंस फिक्शन पर आधारित किताब पढ़ते हैं, तब आपने पाया होगा कि कई बार समानांतर ब्रह्माण्ड यानी कि पैरेलल यूनिवर्स का जिक्र आता है। कई बार यह भी माना गया है कि हम जिस ब्रह्माण्ड में रहते हैं, ठीक वैसा ही एक और ब्रह्माण्ड मौजूद है, जहाँ आपकी और हमारी मौजूदगी विद्यमान हो सकती है, जैसे कि यहाँ है। ज्यादातर वैज्ञानिक समानांतर ब्रह्माण्ड की बात को नकारते हैं। लेकिन कई हैं, जो इस सिद्धांत को मानते हैं एवं इस पर शोध कर रहे हैं। 'एरर ४०४' हमारा एक ऐसा शो, जहाँ हम आपको पैरेलल यूनिवर्स, एलियंस के अस्तित्व, समय में आगे और पीछे जाकर शोध करने और कोरोना वायरस के रहस्य से जुड़ी सभी बातों पर पर चर्चा करेंगे। वैसे क्या आप मानते हैं कि पैरेलल यूनिवर्स और एलियंस जैसी कोई चीज़ होती है? क्रिएशन पार्टनर हैडरूम टीम (Creation partner Headroom Team)

एरर ४०४

Horror|Hindi|10 Episodes |Released on -
Like
share
like

About Show

जब आप कोई एलियन आधारित सिनेमा देखते हैं या साइंस फिक्शन पर आधारित किताब पढ़ते हैं, तब आपने पाया होगा कि कई बार समानांतर ब्रह्माण्ड यानी कि पैरेलल यूनिवर्स का जिक्र आता है। कई बार यह भी माना गया है कि हम जिस ब्रह्माण्ड में रहते हैं, ठीक वैसा ही एक और ब्रह्माण्ड मौजूद है, जहाँ आपकी और हमारी मौजूदगी विद्यमान हो सकती है, जैसे कि यहाँ है। ज्यादातर वैज्ञानिक समानांतर ब्रह्माण्ड की बात को नकारते हैं। लेकिन कई हैं, जो इस सिद्धांत को मानते हैं एवं इस पर शोध कर रहे हैं। 'एरर ४०४' हमारा एक ऐसा शो, जहाँ हम आपको पैरेलल यूनिवर्स, एलियंस के अस्तित्व, समय में आगे और पीछे जाकर शोध करने और कोरोना वायरस के रहस्य से जुड़ी सभी बातों पर पर चर्चा करेंगे। वैसे क्या आप मानते हैं कि पैरेलल यूनिवर्स और एलियंस जैसी कोई चीज़ होती है? क्रिएशन पार्टनर हैडरूम टीम (Creation partner Headroom Team)

EpisodesDuration

You may also like

Picture of the author

मध्यंतर !

play
Picture of the author

आम्ही बहिणी

play
Picture of the author

सिंधु घाटी सभ्यता

play
Picture of the author

मुकेश जी की मेहनत

play
Picture of the author

जूडो

play
Picture of the author

बहिणाबाई चौधरी

play