यह कहानी है, तीन फ्रेंड्स कि जिन्हें यह हॉन्टेड या डरावनी डॉल इतना आतंकित कर देती है कि उन्हें उससे मुक्ति पाने के लिए पेशेवर पैरानॉर्मल इंवेस्टीगेटर्स, एड और लॉरेन वारेन से मदद लेनी पड़ती है। यह डॉल आज भी वारेन के ओकलट म्यूज़ियम में, शीशे के शोकेस में रखी है। शोकेस के ऊपर इसे ना खोलने कि चेतावनी भी लिखी हुई है। एड और लॉरेन वारेन के अनुसार इस डॉल की शैतानी ताकतें अभी भी जिन्दा है यदि इसे अभिमंत्रित बॉक्स से बाहर निकाला, तो ये फिर से सक्रीय हो जाएगी उनके अनुसार इस डॉल को बॉक्स में बंद करने के बाद भी, यह एक इंसान कि मौत के लिए ज़िम्मेदार है।