ये कहानी भगवान् विष्णु के १० अवतार की है जिसे दशावतार भी कहा जाता है. ये कथाएं पौराणिक एवं प्राचीन है।