पैरानॉर्मल एक्टिविस्ट, प्रोफेसर अग्नीस्वरूप आपके लिए उनके करियर का एक ऐसा केस शेयर करने जा रहे हैं, जिसे याद कर आज भी उनके मन की शांति छिन जाती है। उनके सबसे करीबी दोस्त अविनाश के साथ उस रात जो हुआ, वह कोई आम बात नहीं है। उस हादसे के बाद से अविनाश और उसकी पूरी टीम, जब भी काम के लिए शहर से बाहर किसी सुनसान और घनी जगह पर काम करने जाती, तो उनके मन में हर समय डर लगा रहता। वे कभी भी कहीं अकेले नहीं जाते और रात होने से पहले ही अपना काम पूरा कर घर लौट जाते, आइए अविनाश की जीवन की इस रहस्यमय कहानी को प्रोफ़ेसर की जुबानी सुनते हैं।