Get it on Google Play

Post Image
पढ़ोमनोरंजन

पटाखा रिव्यू: फ़िल्म ‘पटाखा’ फुलझड़ी है, एटम बम नहीं

हंसी की फुलझड़ियां और मस्ती का पटाखा है, विशाल भारद्वाज की फ़िल्म पटाखा। हमेशा संजीदा फिल्में बनानेवाले विशाल पहली बार कुछ ...
Read More

Download Aawaz app

१ - अंडा करी २ - सेमेस्टर सिस्टम के फायदे ३ - पेड़ पर उल्टा लटके थे ४ - कार्ड पर लिखा था। .... ५ - इनको दो टेस्ट करने पड़ेंगे ६ - दो दो सीढ़ी चढ़ना ७ - इंसानियत से भरोसा उठ गया ८ - टूयू का बर्थडे ९ - हाथ जल गया १० - वैलेंटाइन डे पर रतन नूरा .... ११ - दो रूपए का दूध १२ - तस्वीर से बाहर आयी १३ - शाहरुख ख़ान सब जगह फेमस क्यों ? १४ - घर वाली से परेशान १५ - फुटबॉल फेंक रहे थे १६ - चेक बाउंस हुआ १७ - हमे लड़का पसंद नहीं १८ - रतन नूरा हॉस्पिटल में गए १९ - चेंज के लिए लड़ रहे हैं २० - रतन नूरा गाना सुन रहे थे २१ - राजपाल टीवी देखने गए २२ - शेर पास आकर कहने लगा। .. २३ - क्लास में फाइट नहीं करनी चाहिए २४ - मच्छर रिस्पॉन्सिबल है २५ - स्टार और एक्टर में क्या फर्क है २६ - ठग्स ऑफ़ हिन्दोस्तान २७ - नेता भाषण दे रहा था २८ - कंपनी का एक चालू नहीं हो रहा २९ - एक रूपए का पेट्रोल डालो ३० - बन्दर फुटबॉल खेलते हैं ३१ - कारतूस और बंदूक कहां हैं ? ३२ - दो का टेबल बताओं ३३ - चिकन के साथ खाना। ३४ - छोटा गेट टुगेदर ३५ - शीशा एंटीक है ३६ - पिताजी का नाम अलग अलग ३७ - धमकी आ रही हैं ३८ - पैसे जमा करने है ३९ - रतन नूरा ने बेटे से कहा... ४० - शाहरुख ख़ान जवान क्यों लगता है ४१ - मम्मी ने मारा ४२ - नंबर १ बिज़नेसमैन ४३ - कोई हमारा कॉलर नहीं पकड़ सकता ४४ - नंबर वन ड्राइवर हूं ४५ - सिंगिंग का शौक ४६ - ट्रक ड्राइवर बन गए रतन नूरा ४७ - पहाड़ से नीचे उतरना है ४८ - बस मिस कर दी ४९ - बच्चो को पिट रहे थे रतन नूरा ५० - शुद्ध शाकाहारी हो गया हूं