बॉस को लेकर अक्सर कर्मचारियों में तरह-तरह की धारणाएं रहती हैं। अधिकांश लोग इसी उधेड़बुन में पूरी नौकरी निकाल लेते हैं कि बॉस की गुड बुक्स में कैसे आयें और उनके साथ पटरी कैसे बैठाएं, लेकिन क्या करें जब आपका बॉस एक ऐसा व्यक्ति हो, जो आपसे उम्र और अनुभव दोनों में कम हो ? जी हां, यह एक ऐसी सिचुएशन है जिससे डील करना बेहद चुनौतीपूर्ण काम है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम में हम कुछ ऐसी टिप्स पर चर्चा करेंगे, जिनसे आपको ऐसी किसी भी सिचुएशन से निकलने में मदद मिलेगी, तो आइए शुरू करते हैं।

कोई धारणा ना बनाएं

अपने बॉस को लेकर पहले से ही कोई भी धारणा नहीं बनाना चाहिए। यदि कोई कम उम्र और अनुभव वाले व्यक्ति को आपका बॉस बनाया गया है तो इसके पीछे कोई ना कोई वजह ज़रूर होगी। ऐसे में यह मान लेना कि आपको ज़्यादा आता है और सामने वाला नया खिलाड़ी है, गलत होगा। याद रखें आपके द्वारा बनाया गया परसेप्शन आगे चलकर मुसीबत खड़ी कर सकता है। ज़रूरी नहीं कि सभी नए और कम उम्र के लोगों को कुछ नहीं आता हो, बल्कि नए लोग पुरानों की तुलना में ज्यादा फ्लेक्सिबल और किसी भी सिचुएशन में ढलने वाले भी हो सकते हैं। इसलिए, यदि किसी यंग एज के व्यक्ति को आपका बॉस बनाया गया है तो उसके साथ थोड़ा समय बिताइए, उसे समझिये उसके बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचिए।

रिस्पेक्टफुल रहें

छोटी उम्र का व्यक्ति आपका बॉस बन गया है इसका यह मतलब नहीं कि आप उसे बच्चा ही समझें और उसी तर्ज पर उसके साथ व्यवहार करें। याद रखें वह बॉस है और आप उसकी रिपोर्टिंग में, इसलिए पद का सम्मान हमेशा करें और अपने बॉस के साथ हमेशा रिस्पेक्टफुल व्यवहार करें।

कम उम्र के बॉस के साथ कैसे डील करें?

साथी बनकर काम करें
साथी बनकर काम करें

Image Credit: cnbcfm.com

पार्टनर बनने की कोशिश करें

आपका बॉस भले ही आपसे उम्र में छोटा हो लेकिन हो सकता है कि उसके पास ज़बरदस्त नॉलेज हो। इसलिए खुद को अपने बॉस से अधिक ज्ञानी साबित करने में समय नष्ट ना करें, बल्कि अपना ईगो एक तरफ रखकर पूरे समर्पण के साथ काम करें। बेहतर होगा कि आप एक टीम की तरह अपने बॉस के साथ काम करें और सीनियर-जूनियर वाली भावना से ऊपर उठते हुए एक बेहतरीन पार्टनर की तरह आगे बढ़ें। आप देखेंगे कि ऐसा करने से ना सिर्फ आपकी ग्रोथ होगी, बल्कि बॉस के साथ आपके संबंध भी सुधरेंगे।

जानकारी साझा करें

टीम भावना से काम करते हुए अपने अनुभव और नॉलेज को नए बॉस के साथ शेयर करें। ऐसा करने से ना सिर्फ आपके नए बॉस, जो कि आप से उम्र में कम है, उनकी लर्निंग होगी बल्कि हो सकता है वह भी अपने कुछ अनुभव आपके साथ साझा करें, जिससे आपको भी कुछ सीखने को मिल जाए। ऐसा करने से एक तरफ आपकी अपने नए बॉस के बॉन्डिंग बढ़िया होगी, वहीं किसी भी क्राइसिस के समय हो सकता है कि आप से ही सबसे पहले उसका सोल्यूशन पूछा जाने लगे।

जैसे हैं वैसे ही रहें

यह सबसे काम की बात है। बॉस कोई भी, वह चाहे आप से उम्र में बड़ा हो या छोटा, अंत में सिर्फ आपका काम ही आपको पहचान दिलवाता है। इसलिए यदि आप एक ऐसे कर्मचारी हैं जो नई चीज़ें सीखने और बदलावों के प्रति सजग है तो आपको वैसे भी कोई कठिनाई नहीं होगी। आप किसी भी सेक्टर में काम करते हों, प्रयास करें कि आप कोई ना कोई नई स्किल्स ज़रूर सीखें, ऑफ़िस पॉलिटिक्स से बचें और अपने काम को पारदर्शी रखें, कंपनी के विजन की जानकारी रखें और उसके अनुरूप ही काम करें और सबसे ज़रूरी बात, फीडबैक लेने से घबराएं नहीं बल्कि इनका स्वागत करें।

This is aawaz guest author account