यह ज़रूरी नहीं कि हर कोई प्रभुत्व या कहें डॉमिनेंस का खुलें हाथों से स्वागत करें। खास कर जब आप से छोटी उम्र का कोई व्यक्ति आपसे ऊंची पोस्ट पर पहुंच जाए,तो उसे स्वीकार करना और भी मुश्किल होता है। लेकिन जब सवाल आपकी नौकरी और कमाई का आता है तो दिल पर पत्थर रखकर उन सभी बातों को स्वीकार करना पड़ता है जो आपको बिलकुल नहीं भाति। अब बढ़ते हुए तकनिकी विकास के कारण नए प्रकार की नौकरियों के अवसर आ चुके है, जिससे सभी नौजवानो को अपनी काबिलयत दिखाने का मौक़ा मिल रहा है। वे पुरानी पीढ़ि को मात देने के सक्षम बनते जा रहें हैं।

इसलिए, आज कल ऐसा अक्सर देखा जाता है कि काफी कर्मचारी अपने से छोटी उम्र के बॉस के नीचे काम रहे हैं। इस उदाहरण से यह बात साबित होती है कि उम्र सिर्फ नाम की एक संख्या है। यह वो समय होता है जब आपका अहंकार, गर्व और आपके आत्म-सम्मान से जुडी सभी बातें आपके मन में घूमती रहती हैं। इसलिए यदि आप अपने यंग बॉस से खतरा महसूस कर रहे हैं, तो हम आपको कुछ ऐसी बातें बताएंगे जिससे आपका भय दूर हो जाएगा।

बातों को अपनाएं

Acceptance-Is-The-Key-500x360
आप जितनी जल्दी अपने बॉस की स्किल्स को स्वीकार कर उसका सम्मान कर लेंगे, उतना ही आपके लिए बेहतर होगा

Image Credit: willmarre.com

आप जितनी जल्दी इन सब के पीछे का कारण समझ लेंगे, उतना ही आपके लिए बेहतर होगा। आपके बॉस को उसके पद पर किसी कारणवश ही नियुक्त किया गया है। उनमे ज़रूर काम करने की ऐसी जबरदस्त क्षमता होगी जो सम्मान करने योग्य है। इसलिए सिर्फ इस बात से उदास हो जाना कि आपका बॉस आपसे उम्र में छोटा कैसे हो सकता है, गलत बात होगी। सबसे अच्छी बात यही होगी कि आप इस बात को स्वीकार कर आगे बढ़ें।

बॉस के करें बात

अपने उम्र के अंतर के कारण यदि आपको काम करने के दिक्कत महसूस होती है, तो इसे अपने बॉस से ज़रूर शेयर करें। यह आपके लिए तो अच्छा होगा ही, साथ ही आपके और बॉस के रिश्ते को बनाए रखने का भी अच्छा ज़रिया होगा। शुरुआत में आपको हिचकिचाहट महसूस होगी लेकिन बिना किसी झिझक के अपने बॉस से खुलकर बात करना काम के लिए अच्छा साबित होता है।

तो, क्या आपको लगता है की एक यंग बॉस के आदेश मानने में आपके अहम को चोट पहुंचेगी?

इसका जवाब हैट्स ऑफ दिगीतव प्रा. लि. के को-फाउंडर और तकनिकी हेड श्री ताहेर मांदीवाला ने बहुत खूब दिया है। “ऐसा हर्गिज़ नहीं होगा। यंग है तो क्या हुआ, अगर उनका दृष्टिकोण सही है, तो उनका निर्देश सुनने में कभी कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। यदि उनके निर्देश ऑफिस की हर एक चीज़ को नियंत्रण में रखने के लिए है, जिससे सबका फायदा हो रहा है, तो उसे मानने में ही समझदारी होती है। आजकल, कई एम्प्लॉयर्स इस बार में रूचि रखते हैं कि आपके पास काम का कितना अनुभव है और आप उस काम में कितने सफल रहे हैं, न की इसमें कि आप कितने वर्षों से काम कर रहे हैं।” क्योंकि युवा पीढ़ी नई तकनीकियों और किसी भी प्रकार के परिवर्तन को अपनाने में ज़्यादा सक्षम होती है और उसकी मदद से आगे बढ़ सकती है, इसीलिए हमे खास तौर पर उनके स्किल्स की मदद लेनी चाहिए।

साथ ही उन्होंने बताया कि, “जब तक एक युवा बॉस अपनी कंपनी और टीम को अच्छा नेतृत्व और मज़बूत मार्गदर्शन प्रदान करता है और उन्हें जूनून और प्रेरणा से भर देता है, तब तक उसकी उम्र कम हो या ज़्यादा, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। अपने बॉस के साथ चलें, यदि आप उन्ही की अपनी कंपनी को विकसित करने और टीम को आगे बढ़ाने में जुट जाएं, तो सब कुछ ठीक हो जाएगा और उम्र में अंतर होने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा।”

सीधे नतीजे पर ना पहुंचे

Don’t-Jump-Into-Conclusions-500x360
ऐसा ज़रूरी नहीं है कि आपका युवा बॉस ऑफिस में हमेशा आपको निर्देश देगा

Image Credit: diageoindia.com

आपके बॉस का आपसे छोटे होने का मतलब यह नहीं है कि वह बिना किसी कारण आप पर रोब जमाएगा। किसी भी स्थिति को पहले से ही बुरा मान लेना गलत होता है। किसी भी परिणाम पर आने से पहले आपको अपने काम पर अच्छे से ध्यान देना चाहिए। इससे आपके लिए भी सब कुछ बहुत आसान हो जाएगा। और कौन जानता है, यह आपके भविष्य की संभावनाओं के लिए भी अच्छा हो सकता है।

इसलिए, अगर आप उम्र को सिर्फ एक संख्या मान कर चलेंगे, तो वह आपके और आपके बॉस के रिश्ते के लिए अनुकूल होगा।

This is aawaz guest author account