हाल ही में यू.एस. ने इंटरव्यू के दौरान एक ऐसा सवाल पूछने पर पाबंदी लगा दी जो कई लोगों को उलझन में डाल देता था। सवाल था – “आपको अपनी नौकरी में कितनी तन्खवाह मिल रही है?”

ऐसे सवाल का जवाब देने में हर किसी को हिचक होती है। ऐसा मुमकिन है कि आपको अपनी फिलहाल की नौकरी में उतनी तन्खवाह नहीं मिल रही जितनी आपको मिलनी चाहिए या ऐसा भी हो सकता है कि आपको अभी तक अपने दर्जे की नौकरी ना मिली हो और इसीलिए आप नई नौकरी की तलाश कर रहे हैं।

यू.इस. के इस निर्णय से भारत के एच.आर अधिकारी बेहद खुश है। कॉर्पोरेट कनेक्शंस एच.आर. पार्टनर्ज़ में बतौर मैनेजिंग डिरेक्टर काम कर रहे हैं ऋषि अभिचंदानी के अनुसार “आपकी पिछली तन्खवाह के बारे में बात ना कर आपकी काबिलियत पर ध्यान दिया जाएगा ये एक समझदारी का काम है।” ऋषि 17 साल से इस क्षेत्र से जुड़े है और लोगो को बेहतर नौकरी दिलाने में मदद करते हैं।

क्या जवाब दें जब कोई पूछता है “आपकी पिछली तन्खा क्या है?” या “आपको कितनी तन्खा चाहिए?”

अंकों में पड़े बिना अपनी काबिलियत और आप क्या कर सकते हैं, इस बात की तरफ ध्यान आकर्षित करें

ये कुछ ऐसे तरीकें हैं जिनसे आप अक्लमंदी के साथ इस सवाल का जवाब दे सकते हैं।

1. आपके बॉस ने ये जानकारी देने से मना किया है

अगर आप अभी कहीं काम कर रहे हैं, तो बताइये कि आपके बॉस ने आपकी तन्खवाह के बारे में बात करने से मना किया है। आप ये बता सकते हैं कि आप अपने बॉस की इस बात की इज़्ज़त करते हैं और आपको उम्मीद है कि जो आपका इंटरव्यू ले रहे हैं, वो भी इस बात को समझेंगे।

2. एक अंदेशा दे दीजिये, लेकिन पूरी जानकारी नहीं

अगर आपका इंटरव्यू लेने वाला आपसे बार बार ये जानना चाह रहा हैं, तो कोई एक आंकड़ा मत बताइये, बल्कि ऐसा बताइये कि आप एक ऐसी नौकरी ढूंढ रहे हैं जहां आपको ‘इतने से इतने’ के बीच तन्खवाह मिल सके।

ऋषि के अनुसार, अभी आपको जितना मिलता है, आप उससे २५ से ३० प्रतिशत ज़्यादा की मांग आसानी से कर सकते हैं। अगर आपको इस क्षेत्र में कई सालों का तज़ुर्बा है और अगर आपको लगता है कि आप कंपनी के लिए फ़ायदेमंद रहेंगे तो इससे ज़्यादा की भी मांग आप कर सकते हैं। सिर्फ आंकड़ा देने के बजाये इसके बारे में साफ़ साफ़ बात कीजिये कि आपको क्यूँ लगता है आपको इतनी तन्खा मिलनी चाहिए।”

आजकल स्टार्टअप का ज़माना है। ऋषि ये भी बताते हैं कि ऐसे कई स्टार्टअप हैं जिनसे आप परफॉरमेंस बोनस, एल.टी.आई (लॉन्ग टर्म इंसेंटिव) और ई.इस.ओ.पी. (एम्प्लोयी स्टॉक ऑप्शन) के बारे में बात कर सकते हैं, जो आपकी तन्खवाह के अलावा दिया जाता है।