ऑफिस में स्ट्रेस तो आम बात है लेकिन कई बार यह इतना बढ़ जाता है कि कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है। इससे आपके काम की प्रोडक्टिविटी और परफॉरमेंस तो प्रभावित होती ही है,साथ ही यह आपकी फिज़िकल और इमोशनल हेल्थ पर भी असर डालता है। यूं तो थोड़ा बहुत स्ट्रेस बुरा नहीं होता और यह काम को काम के प्रति फोकस होने, उत्साही होने और समय पर काम पूरा करने के लिए भी प्रेरित करता है लेकिन कई बार अधिक स्ट्रेस से प्रोफेशनल लाइफ में दिक्कतें आने लगती हैं, जिसका असर आपकी पर्सनल लाइफ पर पड़ने लगता है। आज हम आपको बताते हैं ऑफिस में स्ट्रेस से बचने के लिए कुछ उपाए जिसे फॉलो कर आप अपने वर्कप्लेस पर कम स्ट्रेस से काम कर पाएंगे।

कब होता है ज्यादा स्ट्रेस?

कई बार दूसरों से आगे निकलने की होड़, काम समय पर न होने और ओवरटाइम करके उसे पूरा करने, मैनेजमेंट की बढ़ती उम्मीदों को पूरा करने, हर तरफ से बढ़ते टारगेट और प्रेशर में काम करने की वजह से हम स्ट्रेस का शिकार हो जाते हैं। इससे कई बार गुस्सा, चिड़चिड़ापन,सिर दर्द, थकान, नींद न आना, काम में मन न लगना, डिप्रेशन जैसा फील होना,अकेले रहने की इच्छा करना,सिगरेट या अल्कोहल की तरफ आकर्षित होने जैसी चीजें होने लग जाती हैं।

किसी के साथ अपनी बात शेयर करें

Try to share your probles with others-500x360
यूँ बचिए स्ट्रेस से

Image Credit: studentsportal.co.in

करीबी से कहें दिल का हाल:

साइकेट्रिस्ट मिताली सोनी के मुताबिक, अगर आप स्ट्रेस्ड फील कर रहे हैं तो किसी ऐसे क़रीबी से दिल खोलकर बातें करें जो आपको सुन सके। किसी से बात करके और उससे अपनी उलझन साझा करने से कई बार बहुत ही हल्का महसूस होने लगता है और यह सबसे अच्छा स्ट्रेस बस्टर भी माना जाता है।

को-वर्कर्स से घुलें-मिलें:

ऑफिस में किसी को-वर्कर का सपोर्ट मिलने से बहुत राहत होती है। अगर आप ऑफ़िस में ज्यादा किसी से घुलना-मिलना पसंद नहीं करते तो इस आदत को बदलिए। ब्रेक के समय स्मार्टफोन से ज्यादा आप जितना ज्यादा अपने कलीग्स से बात करेंगे और उनसे जुड़ेंगे, उतना ही अच्छा महसूस होगा और कहीं न कहीं काम का स्ट्रेस उनसे साझा करने की वजह से मन भी हल्का हो जाएगा।

फ्रेंड्स और फैमिली के साथ बिताएं वक्त:

ऑफिस में कलीग्स के साथ घुलने-मिलने के अलावा आप फ्रेंड्स और फैमिली को भी वक्त देना शुरू करेंगे तो स्ट्रेस आपके पास भी नहीं फटक पाएगा। वहीं, अगर आप अकेले और सबसे कटे रहेंगे तो सोच-सोचकर और स्ट्रेस ही बढ़ाएंगे।

इससे भी तनाव कम हो सकता है

जॉगिंग के लिए निकालिए वक्त

Image Credit: womenfitness

कई बार हम काम पर जरुरत से ज्यादा फोकस करने के लिए अपनी फिज़िकल हेल्थ को अनदेखा कर देते हैं। इस आदत को बदलें, जॉगिंग,रनिंग या एक्सरसाइज करने से आप काफी हद तक स्ट्रेस से छुटकारा पा सकते हैं तो थोड़ा समय अपने लिए जरुर निकालिए।

डाइट का रखें ख्याल:

वर्कप्लेस पर आपका मूड कैसा रहेगा, यह काफी हद तक आपकी फूड चॉइस पर भी डिपेंड करता है इसलिए एक साथ खाने की बजाए थोड़े-थोड़े अन्तराल में खाते-पीते रहें। शुगर और रिफाइंड कार्ब्स जैसे केक,पेस्ट्री,फ्रेंच फ्राइज,पास्ता,पिज्जा आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं, इनसे दूर ही रहें तो बेहतर है। ओमेगा 3 फैटी एसिड्स आपका मूड अच्छा रखने में मदद करते हैं इसलिए अखरोट, अलसी,फिश से बने फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करें। स्मोकिंग और ड्रिंकिंग को ज्यादातर लोग स्ट्रेस में अपनाते हैं लेकिन इनका असर बॉडी पर खराब ही होता है इसलिए इससे दूर ही रहें। खाने के अलावा वर्क मैनेजमेंट प्लान बनाएं। दिनभर में आपको ऑफिस में किन-किन चीजों पर फोकस करना वो लिखकर रख लें। जो काम ज्यादा ज़रुरी है उसे पहले निपटा लें। लगातार काम न करें बल्कि छोटे-छोटे ब्रेक लें।

This is aawaz guest author account