अगर आप ऐसी नौकरी में लग गए जहां आपका मन ना लग रहा हो, और आपको काम कर के वो मज़ा नहीं आ रहा जो आपको चाहिए, तो क्या आप अपने मन की सुनेंगे, या फिर चुपचाप उसी नौकरी में लगे रहेंगे?

क्या आपके मन में कहीं ये डर भी रहेगा कि अगर आपने अपनी अच्छी खासी नौकरी को छोड़ दिया, तो हो सकता है आगे आपको उतने अच्छे पैसे या सुविधाएं ना मिलें?

रीयल एस्टेट से हेयर स्टालिंग का अनोखा सफर

सही काम में आने से आप अपना बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते हैं
सही काम में आने से आप अपना बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते हैं

Credits: Instagram

स्वागत जागीरदार BBlunt में स्टाइलिस्ट हैं। ये आज भारत के टॉप का salon (सलों) है, जो ना सिर्फ आम इंसान बल्कि सेलेब्रिटीज़ का भी चहीता है।

कई सालों तक रीयल एस्टेट में काम करने के बाद स्वागत ने आखिर ठान ही लिया कि अब उन्हें वही करना है जहां वाकई में उनका दिल है – स्टाइलिंग।

अगर आप उनसे ये पूछें कि उन्होंने आखिर अपने काम के क्षेत्र में इतना बड़ा बदलाव क्यों किया, तो वो यही कहेंगे कि उनके लिए जवाब एक तरह से आसान ही था – उन्हें ऐसा कुछ करना था जिससे उन्हें वाकई में ख़ुशी मिले, और अपनी कला को ठीक से दिखाने का मौका भी।

रणवीर सिंघ के साथ GullyBoy मूवी के लिए
रणवीर सिंघ के साथ GullyBoy मूवी के लिए

Credits: Instagram

उत्साह और कड़ी मेहनत

अगर आप कभी स्वागत को काम करते हुए देखेंगे तो जल्द ही समझ जाएंगे कि आखिर उनके सभी क्लाइंटज़ उन्हें इतना पसंद क्यों करते हैं। चाहे उनके पास कितने ही क्लाइंट्स क्यों ना हो, स्वागत इस बात का हमेशा ख्याल रखते हैं कि वो जिनके साथ भी काम कर रहे हैं उन्हें अपना पूरा ध्यान दें, चाहे इसमें उन्हें ज़्यादा काम और मेहनत भी करनी पड़ जाए।

भारत क्रिकेट प्लेयर सूर्यकुमार यादव के साथ
भारत क्रिकेट प्लेयर सूर्यकुमार यादव के साथ

Credits: Instagram

दूसरों की ही तरह स्वागत के मन में भी पैसे को लेकर चिंताएं आई ही थी, क्योंकि एक नौकरी से दूसरी में जाना, या अपनी पूरी इंडस्ट्री ही बदल लेना बहुत ही बड़ी बात है। पर इस डर को ध्यान में रखते हुए भी स्वागत ने ठान लिया कि बदलाव ज़रूरी है, और साथ ही ये भी ठान लिया कि वो इसमें अपना १०० प्रतिशत से भी अधिक देंगे।

चाहे स्वागत को उनके क्लाइंट्स कितना ही पसंद क्यों ना करें, उनका कहना है कि वो अभी भी काम करते हुए कुछ नया सीखते ही रहते हैं। चाहे उन्हें एक तरह का भी काम करना पड़े, वो हर क्लाइंट की अलग अलग ज़रूरतों को अच्छे से समझ कर उसी हिसाब से काम करते हैं। मसलन के तौर पर, अगर उनके क्लाइंट उनसे १०० फीसदी खुश नहीं हैं, तो वो ऐसे सुझाव देंगे जिससे क्लांइट बेहद खुश होकर ही लौटे, पूरे १०० प्रतिशत या उससे भी ज़्यादा।

ये हो ही सकता है कि शायद आप भी अपनी फिलहाल की नौकरी में उतने खुश नहीं हैं, और आपका दिल किसी और काम में लगा है। अगर ऐसा है, तो हो सकता है स्वागत की कहानी से आपको भी प्रेरणा मिले।