हमारे देश में वर्किंग वुमन के लिए कई चुनौतियां होती है। घर के साथ-साथ करियर को भी आगे बढ़ाने की ज़िम्मेदारी हर वर्किंग वुमन की होती है। इन सबके बावजूद वर्किंग महिलाऐं अपनी सेविंग के लिए कभी कुछ नहीं कर पातीं। यदि आप भी अपनी सैलेरी में से सेविंग नहीं कर पा रही हैं, तो इन टिप्स को ज़रूर आज़माएं। क्योंकि ये कई मायनों में आपकी मदद कर सकती हैं।

निवेश का ऑप्शन चुने

आपको निवेश के लिए पॉलिसी के बारे में अधिक जानकारी नहीं है, तो आप वित्तीय मामलों को समझने के लिए फायनेंशियल प्लानर को भी हायर कर उसकी मदद ले सकती हैं

 

मुंबई की एक निवेश कंपनी में फायनेंशियल एडवाइज़र के तौर पर काम कर रहे सुक्रित भाटिया कहते हैं यदि आप हर महीने पैसे बचा कर घर पर ही रखती हैं, तो ये आपके ज़्यादा काम नहीं आएंगे। इससे बेहतर यदि आप किसी स्कीम या पॉलिसी को अच्छी तरह से जान कर उसमें निवेश करें। इससे पैसा सुरक्षित भी रहेगा और दिन पर दिन उसमें बढ़ोतरी भी होगी।

यदि आपको निवेश के लिए पॉलिसी के बारे में अधिक जानकारी नहीं है, तो आप वित्तीय मामलों को समझने के लिए फायनेंशियल प्लानर को भी हायर कर उसकी मदद ले सकती हैं।

ज़रुरत पड़ने पर ही करें खर्च

खास शॉपिंग के लिए जाएं, तो लिस्ट साथ रखें

 

अक्सर हम जब बाहर शॉपिंग के लिए जानते हैं, तो अचानक पसंद आई किसी भी चीज़ को खरीदने की इच्छा होने लगती है। उस वक्त बेहद ज़रूरी है कि आप खरीदने से पहले खुद से सवाल करें, क्या इस चीज़ की आपको ज़रुरत है? ऐसा करने पर आप बेवजह पैसे खर्च करने से बचेंगी और पैसे बर्बाद नहीं होंगे। खास शॉपिंग के लिए जाएं, तो लिस्ट साथ रखें। ऐसा करने पर न सिर्फ ज़रुरत की चीज़ घर आएगी, बल्कि आप पैसे भी बचा पाएंगी।

इसके अलावा जब आप खर्च कर लें, तो इसे लिखकर रखना ना भूलें। क्योंकि ऐसा करने पर आपको पता चलता है कि आपने कितना अमाउंट कहां और कैसे खर्च किया है।

स्टेटमेंट करें चेक

स्टेटमेंट की मदद से आप आसानी से अपने महीने के खर्च का हिसाब रख सकती हैं

 

यदि आप नेट बैंकिंग और डेबिट कार्ड की मदद से ट्रांसेक्शन करती हैं, तो हर महीने बैंक स्टेटमेंट चेक करने की आदत डालें। ऐसा करने पर आपको पता चलता है कि आपने कहां वाजिब और कहां बेवजह खर्च किया है। वहीं बैंक के एप को हमेशा अपने फ़ोन में रखें, इससे ज़रुरत पड़ने पर आप अकाउंट डिटेल चेक कर सकती हैं।

स्टेटमेंट की मदद से आप आसानी से अपने महीने के खर्च का हिसाब रख सकती हैं और अपने खर्च को एक मात्रा में सिमित कर सकती हैं।

बनाएं बजट

अक्सर हम बजट बनाए बगैर महीने भर की सैलरी खर्च कर देते हैं और अंत में ज़रुरत की चीज़ों के लिए पैसे नहीं बचते। ये किसी भी वर्किंग वुमन के लिए आम समस्या है। यदि आप इससे बचना चाहती हैं, तो अपने लिए एक बजट तैयार करें, जिससे आपको पता हो कि आपको महीने में कितने पैसों की ज़रुरत पड़ती है। इस तरह आप बेवजह खर्च करने से बचेंगी और महीने के अंत तक आपके पास फंड की कमी नहीं होगी।

यदि आप पैसों को सोच-समझकर खर्च करना चाहती हैं, तो पैसे बचाने के लिए इन टिप्स का इस्तेमाल ज़रूर करें।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणीप्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..