फ्रेशर्स के लिए जॉब पाने का सबसे सुनहरा चांस होता है इंटर्नशिप। यही वह मौक़ा होता है जब एक इंटर्न अपनी स्किल्स को निखार सकता है, संबंधित कंपनी को भी इंटर्न का काम देखने और समझने का मौक़ा मिलता है, जिसके बेसिस पर यह चुनाव होता है कि आपको नौकरी दी जाए या नहीं। हालांकि, प्रत्येक बार यह संभव नहीं होता कि इंटर्नशिप करने के बाद संबंधित कम्पनी में जॉब लग ही जाये। ऐसे में यह समझना ज़रूरी है कि अगर इंटर्नशिप जॉब में न बदले तो किन स्टेप्स को फॉलो करना चाहिए

नेटवर्किंग

आप मानें या ना मानें, आपको प्रोफेशनल क्वालिफिकेशन के साथ जिस चीज़ की सबसे ज्यादा ज़रुरत पड़ने वाली है वह है नेटवर्किंग। जी हां, यदि आपकी इंटर्नशिप प्रॉपर जॉब में कन्वर्ट नहीं हो पाई है तो अपने प्रोफेशनल सर्कल को फ़ौरन बढ़ाएं। अपने मेंटर, कलीग्स और फील्ड में अपने सीनियर्स के साथ टच में रहें। ऐसा करने से आपके लिए नई संभावनाओं के रास्ते खुलेंगे। जब आप सोशली अपने पीयर ग्रुप में एक्टिव रहेंगे तो लोग आपको संभावित जॉब्स के लिए रिकमेंड करेंगे।

इंटर्नशिप के बदले चाहिए जॉब तो ध्यान रखें ये बातें

पॉजिटिव लोगों के साथ ही रहें

Image Credit: uniqtechnologies.co.in

नेगेटिव माहौल से करें तौबा

यह एक बेहद ज़रूरी स्टेप है। यदि आप अपने करियर की शुरुआत करने जा रहे हैं तो याद रखिये आपका पाला कई किस्म के लोगों से पड़ेगा। ऐसे में ज़रूरी है कि आप पॉजिटिव लोगों के साथ ही रहें। यह ना सिर्फ आपको करियर में आगे बढ़ने में मदद करेगा, बल्कि आपके लिए नई संभावनाओं के द्वार भी खोलेगा। याद रखिये यदि आप करियर की शुरुआत से ही नेगेटिव लोगों के साथ जुड़ गए तो यह ना सिर्फ आपके करियर बल्कि मनोदशा को भी अच्छी खासी चपत लगा सकता है। वहीं पॉजिटिव लोग हमेशा आपको आगे बढ़ने में मदद करेंगे।

डेडलाइन फॉलो करें

यदि आप इंटर्नशिप पर हैं और चाहते हैं कि आपको जॉब मिले तो समय की कीमत को पहचानना सीखिए। यह आदत जितनी जल्दी डाल लेंगे आपके लिए उतना ही अच्छा होगा। समय की कीमत जानने वाले और किसी भी प्रोजेक्ट को तय डेडलाइन में पूरा करने वाले लोगों की ज़रुरत हर समय बनी रहती है। साथ ही यह आदत आपको दूसरों से अलग बनाती है, किसी प्रोजेक्ट को तय समय से पहले पूरा करने से आपका केआए मजबूत होता है। साथ ही आपके पास अनुभव और जिम्मेदारी दोनों आती हैं। यह दोनों ही चीज़ें आपको भविष्य में किसी भी अन्य प्रोजेक्ट को संभालते समय दूसरों से कहीं आगे रखती हैं

बोलें कम और सुनें ज्यादा

आप चाहते हैं कि आपकी इंटर्नशिप जल्द जॉब में बदले तो कम बोलें और ज्यादा से ज्यादा सुनने की कोशिश करें। करियर एक्सपर्ट्स की मानें तो आप इंटर्नशिप पर कुछ सीखने के लिए आये हैं ना कि सामने वाले को सिखाने के लिए इसलिए, इंटर्नशिप के दौरान ज्यादा से ज्यादा सुनने और समझने की कोशिश करें और अपनी तरफ से कम ही बोलें, लेकिन इसके साथ सवाल पूछने की अपनी आदत को बनाये रखें। जब आप कम बोलते हैं और ज्यादा सुनते हैं तो बेहतर ढंग से चीजों को समझ सकते हैं।

फीडबैक लें

यह सबसे ज़रूरी प्रोसेस है। यदि आप चाहते हैं कि आपकी इंटर्नशिप, जॉब में बदल जाये तो इसके लिए ज़रूरी है समय-समय पर फीडबैक लेना। यदि आप अपने डायरेक्ट सुपरवाइजर से अपने काम का फीडबैक लेंगे तभी उसमें सुधार कर सकेंगे। एक और बात याद रखें, अपने काम को लेकर यदि आप लगातार फीडबैक लेते हैं तो इससे काम के प्रति आपका कमिटमेंट भी नज़र आता है और हो सकता है कि आपके काम में हो रहे सुधार को देखते हुए आपको संबंधित कम्पनी में जॉब मिल जाये।

This is aawaz guest author account