अगर आपके पास परीक्षा के बाद खाली समय है, तो इस वक़्त को आप बहुत ही अच्छी तरह से काम में ला सकते हैं। कॉलेज की परीक्षा के बाद अगर आप इंटर्न बनते हैं, तो इससे आपकी आने वाली कामकाजी ज़िन्दगी में काफी मदद मिल सकती है।

देखिये कैसे हो सकता है फायदा

अपने काम में दिलचस्पी दिखाइए

अगर आपके पास ज़्यादा काम नहीं है, तो ऑफिस में दूसरों का हाथ बंटा दीजिये

अगर आपको इस काम में वाकई दिलचस्पी है, तो आपको इंटर्न का रोल मिल सकता है। अपने इंटरव्यू के दौरान ये बात साफ़ कर दीजिये कि आप वाकई में ये करना चाहते हैं। ये भी बताइये कि आपको इसमें दिलचस्पी क्यूँ है। ये बात भी ज़रूर कहिये कि आप यहां काम सीखना चाहते हैं और ये आपके लिए सिर्फ थोड़ी पॉकेट मनी नहीं है। इससे आपके बॉस को समझ में आएगा कि आप वाकई इस काम के प्रति सीरियस हैं।

एक इंटर्न के पास काम का इतना दबाव नहीं रहता है और हो सकता है की आपके पास थोड़ा खाली वक़्त हो। ऐसे में दूसरों की मदद करने की कोशिश करें। उनसे पूछिए कि ऐसा क्या काम है जो आप उनके लिए कर सकते हैं। इससे आपको भी कुछ नया सीखने को मिलेगा और बाकी लोगों को और आपके बॉस को भी लगेगा की आप खुद आगे आकर काम में दिलचस्पी लेते हैं।

दफ्तर में दूसरों के साथ मेलजोल बढ़ाइए

दूसरों का हाथ बंटाने से आपका खाली वक़्त बीत जाएगा और आपको नया सीखने को भी मिलेगा। राघव शर्मा, जो श्रूमस क्रिएटिव में इंटर्न हैं, बताते हैं की अपने कान और आँख खुली रखना ही आपको सही से और जल्दी काम सिखा सकता है। अपने सीनियर्स से सीखना बहुत ज़रूरी है। कोई भी झिझक हो तो उनसे साफ़ साफ़ पूछ लीजिये, ऐसा करने से आप छोटे नहीं बन जायेंगें।

जिस क्षेत्र में आप काम कर रहे हैं, उसके बारे में थोड़ा सा पड़ लें। इससे आपको और जानकारी मिलेगी और ऑफिस में काम में भी मदद मिल सकती है।