कंपनी के वर्क कल्चर को समझना और फिर उसे अच्छा या बुरा कहना कुछ लोगों के लिए आसान होता है तो कुछ के लिए मुश्किल। मुश्किल इसलिए होता है क्योंकि एक कॉर्पोरेट कल्चर को बनाए रखने में बहुत सी चीज़ें शामिल होती है, और एक व्यक्ति के लिए बारी-बारी उन सभी चीज़ों की जांच करना कठिन हो सकता है। कुछ लोगों के लिए यह बिल्कुल आसान होता है, क्योंकि एक अच्छे वर्क कल्चर की बहुत सारी ख़ूबियां होती है। तो चलिए आज कॉर्पोरेट कल्चर को परखने के सबसे आसान तरीकों को समझें।

इंटरव्यू के समय ही कंपनी के कल्चर को परख लेना ज़रूरी है

कंपनी का वर्क कल्चर ही है जो या तो आपके नौकरी के अनुभव को बनाता है या बिगाड़ता है। इसलिए पहली बार जब कंपनी में जाएं तो अच्छे से हर चीज़ को देखे और परखने की कोशिश करें

Image Credit: Pexels.com

इंटरव्यू के दौरान यदि किसी कंपनी का बर्ताव आपसे बहुत अच्छा और विनम्र हो, तो वे आसानी से आपका भरोसा जीत सकती है। यदि कंपनी पहली बार में ही आपके साथ प्यार से बर्ताव करे और आपके हर सवाल का जवाब अच्छे से दे, इसका मतलब है कि उनका वर्क कल्चर अच्छा है। दूसरी ओर, यदि आपको किसी कंपनी के साथ इंटरव्यू के समय बुरा अनुभव हो, तो आपको अपने लिए कोई और नौकरी चुन लेनी चाहिए क्योंकि अगर किसी कंपनी का वर्क कल्चर अच्छा होता है, तो वे शुरुआत से ही उसे दर्शाने की कोशिश करती है।

क्या ऑफ़िस में आप पूरी आज़ादी से अपने स्किल्स का प्रदर्शन कर सकते हैं?

एक निष्पक्ष कंपनी का कल्चर अपने सभी एम्प्लॉईज़ को पूरी आज़ादी से काम करने की अनुमति देता है और आप पूरे आत्मविश्वास के साथ ऑफ़िस में अपने सभी स्किल्स का प्रदर्शन कर सकते हैं।

एक कंपनी का लीडर हमेशा संवेदनशील और हाज़िर-जवाब होना चाहिए। उन्हें कंपनी में हो रहे बदलावों को स्वीकारना और अपने सभी एम्प्लॉईज़ को उनका टैलेंट दिखाने के लिए समान अवसर देना आना चाहिए। एक लीडर को काम के परिणामों से ज़्यादा अपने एम्प्लॉईज़ की चिंता होनी चाहिए। उन्हें एक ऐसा ऑफ़िस कल्चर बनाना चाहिए जिसमे ऑफिस पॉलिटिक्स, कम्पटीशन आदि चीज़ें ना हो। एक अच्छा ऑफिस कल्चर टीम वर्क को बढ़ावा देता है और अपने एम्प्लॉईज़ को एक दूसरे से बातचीत और विचार-विमर्श करने का मौका देता है।

हमेशा सवाल पूछते रहें

हमेशा याद रखें, कम्पनी के जवाब देने अथवा जानकारी देने के लहज़े और रवैये से भी ऑफ़िस कल्चर परखा जा सकता है।

Image Credit: Pexels.com

गौर से देखकर चीज़ों को परखना जितना ज़रूरी होता है, उतना ही ज़रूरी अपने सवालों के जवाब ढूंढना भी होता है। आप कंपनी के एम्प्लॉईज़ से वहां के वर्क कल्चर के बारे में पूछ सकते हैं। यह बिल्कुल मुश्किल नहीं होता क्योंकि ज़्यादातर किस्सों में एम्प्लॉईज़ सही जवाब ही देते हैं। लेकिन वहां के ऑफिस कल्चर के बारे में पूरी तरह से जानने के लिए आप कंपनी के क्लाइंट्स, कस्टमर्स, सप्लायर्स, पार्टनर्स और हर एक स्टेकहोल्डर से भी पूछताछ कर सकते हैं। हर प्रकार की पूछताछ करने के बाद ही आपको कंपनी के वर्क कल्चर के बारे में सच्ची जानकारी मिल सकती है।

अब इन टिप्स के साथ आप भी पहले कंपनी के वर्क कल्चर को जांचे और पूरी तस्सली होने के बाद ही उसमें काम करने या ना करने का निर्णय लें।