क्या आप अपने स्टार्टअप को मार्केट में पूरी तरह से लॉन्च करने के लिए तैयार हैं? क्या आपने भी अपने स्टार्टअप को मार्केट में एक नई पहचान देने के लिए प्लानिंग कर ली है? यदि हां, तो आपके लिए ये एक अच्छी बात है।

लेकिन इस स्टार्टअप से जुड़े सपनों को पूरा करना इतना आसान नहीं होता है। इन सब के लिए आपको अच्छे खासे फंड्स की ज़रूरत होती है।

मार्केट में मौजूद सभी इन्वेस्टर्स को आए दिन बहुत से एन्त्रोप्रोनोर द्वारा प्रपोज़ल्स भेजे जाते हैं। लेकिन उन में से बहुत कम एन्त्रोप्रोनोर होते हैं जो कि इन्वेस्टर्स को अपने आइडियाज़ से इम्प्रेस कर उन्हें अपने साथ काम करने के लिए राज़ी कर पाते हैं।

इसलिए यदि आप भी एक उभरते एन्त्रोप्रोनोर हैं और स्टार्टअप के लिए एक इन्वेस्टर की तलाश में हैं, तो शायद हमारी ये टिप्स आपकी कुछ मदद कर सकती है।

एक इन्वेस्टर प्रोफ़ाइल बनाएं

सबसे पहले इस बात की जांच करें कि आपको किस तरह के इन्वेस्टर्स की ज़रूरत है और किस तरह के इन्वेस्टर्स आपकी मदद कर सकते हैं। हो सकता है कि आपको ऐसा लगे कि जितने ज़्यादा इन्वेस्टर्स से बात करेंगे, आपके स्टार्टअप के लिए उतना अच्छा होगा। लेकिन इन सब में यह ना भूले कि ज़्यादा नहीं, बल्कि सही इन्वेस्टर्स से ज़रूरी है। इसलिए अपनी रिसर्च अच्छे से करें और फिर ही इन्वेस्टर्स से बात करें।

पता करें कि क्या वे आपकी ज़रूरतों के अनुसार इन्वेस्ट करने के लिए तैयार है या नहीं, और फिर ही आगे अपनी बात चलाएं।
पता करें कि क्या वे आपकी ज़रूरतों के अनुसार इन्वेस्ट करने के लिए तैयार है या नहीं, और फिर ही आगे अपनी बात चलाएं।

सलोनी जैन, सन कैपिटल की स्टार्ट-अप इक्विटी डायरेक्टर हैं और स्टार्टअप इक्विटी डिवीजन को हेड करती हैं। 100 से अधिक इंवेस्टमेंट्स और 40 वीसी फंड के बड़े नेटवर्क के साथ उन्होंने पिछले 6 महीनों में लगभग 50 से ज़्यादा स्टार्टअप्स के लिए फंड्स जोड़ने में मदद की है। सलोनी का मानना है कि रिसर्च करने के बाद आपको बहुत कम इन्वेस्टर्स के पास जाना चाहिए। पता करें कि क्या वे आपकी ज़रूरतों के अनुसार इन्वेस्ट करने के लिए तैयार है या नहीं और फिर ही आगे अपनी बात चलाएं।

अपनी टीम को बराबर का महत्त्व दें

यदि आप किसी इन्वेस्टर से अपने स्टार्टअप के बारे में बात करने जा रहे हैं, तो ध्यान रहे कि आप अपनी टीम को हमेशा महत्व दें और उन्हें हर काम में शामिल करें। आपके इन्वेस्टर्स भी यह देखेंगे कि आपकी कंपनी में कौन-सा व्यक्ति किस प्रकार योगदान देता है। यहां तक कि अगर आपकी कंपनी सिर्फ दो लोगों की है, तो भी सारा डेटा और सारे डॉक्युमेंट्स तैयार रखें। सलोनी का मानना है कि यदि आपका इन्वेस्टर कोई व्यक्ति नहीं, बल्कि एक बड़ी और सिस्टेमेटिक कंपनी है, तो वे इन चीज़ों पर बहुत ध्यान देते हैं।

एक फायनेंशियल प्लान तैयार करें

आखिरकार आप किसी से पैसे लेने जा रहे हैं, इसलिए आपका सारा हिसाब पक्का होना चाहिए। इसलिए इन्वेस्टमेंट लेते समय आपको पता होना चाहिए कि आपको कितने पैसे की ज़रुरत है, कौनसा पैसा कहां इस्तेमाल होनेवाला है, फायनेंस मैनेज कैसे होगा आदि। आपके पास इन सबकी सही जानकारी होनी चाहिए। सलोनी का कहना है कि इन्वेस्टर्स से बात करने से पहले एक फायनेंशियल प्लान बनाएं। सलोनी कहती हैं कि पैसों से जुड़ी ये सारी जानकारी महत्वपूर्ण होती है। इन्वेस्टर्स सिर्फ यह सोचकर आपकी कंपनी में पैसा लगाते हैं कि उन्हें सामने फायदा होगा, इसलिए सोच-समझकर अपना हर एक कदम उठाएं।

बिना हार माने हमेशा आगे बढ़ते रहें, मेहनत करते रहें, इससे लोग आपकी मदद ज़रूर करेंगे।