काम में सबसे आगे और टॉप पर रहने की चाहत में अक्सर हम में से कई लोग अपने मन की शांति खो देते हैं। हम अपना सारा समय सिर्फ और सिर्फ काम में लगा देते हैं। एक नई नौकरी अपने साथ सफलता के नए अवसर, नए लोगों साथ काम करने के मौके और प्रोफेशनल प्रगति लेकर आती है। कोई भी नौकरी सिर्फ एक कमाई का साधन नहीं होती है। हमारा जॉब काफी हद तक हमारा व्यक्तित्व सुधारने में मदद करता है और हमें व्‍यावसायिक रूप में ज़्यादा होशियार बना देता है। हम जब ऑफ़िस के कल्चर की बात करते हैं तो हमें साथ में यह भी ध्यान रखना चाहिए कि क्या हमारे ऑफ़िस का कल्चर हमारी प्रोफेशनल ग्रेथ के लिए लाभकारी है भी या नहीं। प्रोफेशनल ग्रोथ का मतलब सिर्फ यह नहीं होता की आपकी तनख्वाह बढ़े, ग्रोथ का असली मतलब होता है उस नौकरी से आपका ज्ञान बढ़ना चाहिए और आपका मानसिक विकास होना चाहिए।

आपकी काम करने की क्षमता इस बात पर भी निर्भर करती है कि आप किस तरह के वातावरण में काम करते है। आपके आस-पास एक प्रगतिशील वातावरण का होना बहुत ज़रूरी है, क्योंकि तभी आप अपना बेस्ट काम दे सकेंगे। आज क्यों लोग लोग बार-बार अपनी नौकरियां बदलते रहते हैं? इसका सबसे बड़ा कारण है कि लोगों को किसी जगह का वर्क कल्चर पसंद नहीं आता तो वह दूसरी नौकरी की तलाश करने लगते हैं। आज हम आपके साथ कुछ ऐसे उपाय शेयर करेंगे, जिससे आपको यह पता चलेगा की किस तरह का वर्क कल्चर आपके लिए सही है :

अपने प्रतिभाओं को समझें

हर इंसान को यह पता होना चाहिए कि उनकी प्रतिभा क्या है और वे किस काम में सबसे ज़्यादा सक्षम है। इससे आपको काम करने के लिए प्रेरणा मिलती रहेगी आप खुद को एक ऐसे कल्चर में काम करते हुए पाएंगे जो ना केवल विकास के लिए अनुकूल है, बल्कि आपको एक बेहतर इंसान भी बनाता है। आप जितना ज्यादा ऐसे कल्चर में काम करेंगे, आप उतने ज्यादा समझदार बनते जाएंगे।

अपने सहकर्मियों से बातचीत करते रहे

अपने वर्क कल्चर को बेहतर समझने के लिए अपने सहयोगियों से बातें करें

हमेशा अपने सहयोगियों के साथ एक अच्छा संबंध बनाए रखें। इस तरह आपको पता चलेगा कि आप जिस संस्कृति में काम कर रहे हैं वह आपके लिए ठीक है या नहीं। अपने सहयोगियों से बातचीत करके उनके काम, उनकी आकांक्षाओं और उपलब्धियों के बारे में जानकारी लें। यह इस बात को पता करने का सबसे सही तरीका है कि यह लोग और यह जगह आपके लिए सही है या नहीं।

बॉस के साथ बननी बहुत ज़रुरी है

अपने बॉस के साथ एक अच्छा रिश्ता रखें। अपने बॉस से डरे बिना उनके साथ अपने काम से संबंधित हर महत्वपूर्ण बात को बेझिझक होकर करें। यदि आपको अपने वर्क कल्चर में किसी तरह की मुश्किल हो रही है तो आप अपने बॉस से बिना किसी संकोच के बात कर आप उस मुश्किल का हल ढूंढ सकते हैं।

कंपनी की वेबसाइट चेक करें

कंपनी के बारे में जानकारी प्राप्त करने हेतु उनकी वेबसाइट को ठीक से जांच लें

यदि यह किसी नई नौकरी पर है या आप किसी नये काम पर है, तो आपको कंपनी की वेबसाइट के माध्यम से उसके बारे में जानकारी प्राप्त करनी चाहिए। इससे आपको वहां के वर्क कल्चर को समझने में मदद मिलेगी। साथ ही आपके मन में उठ रहे अनेक सवाल जैसे, किस तरह के लोग वहां काम करते होंगे ? कंपनी का उद्देश्य क्या है ? जैसे कई सवालों का जवाब भी मिल जाएगा।

जो दिल कहे वही सही

जैसे ही आप सारी जानकारी प्राप्त कर लें तो अपने दिल से एक बार ज़रूर पूछ लें कि आप इस जॉब और उसके वर्क कल्चर में काम करने के लिए तैयार है भी या नहीं। हमारा दिल कभी झूठ नहीं बोलता। इसीलिए अपने दिल की आवाज़ को सुनें। आखिर में वही करें जो आपका दिल कहता हो। वरना ऐसा ना हो जाए कि आप किसी ऐसी जगह पर कदम रखें जो दिखने में तो आकर्षक हो लेकिन आगे चलकर आपको वहां काम करने में मुश्किलों का सामना करना पड़े।

इन सरल उपायों की मदद से आप वर्क कल्चर के बारे में आसानी से समझ सकेंगे।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।