यदि आप से कोई पूछे कि ऑफिस में ग्रोथ के लिए क्या सिर्फ अच्छा काम आना ही ज़रूरी होता है ? तो आपका जवाब क्या होगा ? जवाब हम आपको बताते हैं- अधिकांश लोग यह जानते हैं कि सिर्फ अच्छा काम करना ही ऑफिस में ग्रोथ के लिए ज़रूरी नहीं होता है। इसके साथ यह भी अहम है कि हम अपने रिपोर्टिंग मैनेजर या बॉस की गुड बुक्स में रहें। हालांकि, कई बार लोग इसे एक प्रकार से ‘बॉस की चापलूसी’ करना मान लेते हैं जो पूरी तरह गलत है। गुड बुक्स में होने का यह मतलब कतई नहीं है कि आप किसी को अनायास ही इम्प्रेस करने में लगे रहें। बल्कि इसका मतलब होता है कि टीम को लीड करने वाले लीडर के साथ आपकी फ्रीक्वेंसी कितनी मिलती है। आइए इस आर्टिकल के ज़रिए जानते हैं कुछ ऐसी टिप्स जिनकी मदद से आप भी बॉस की गुड बुक्स में आ सकते हैं।

बॉस की जानकारी में रहे काम

सबसे पहली टिप्स में से एक है कि आप ऑफिस का सभी काम अपने बॉस/रिपोर्टिंग मैनेजर की जानकारी में ज़रूर रखें। संवाद जितना सरल और स्पष्ट होगा आपके लिए उतना ही अच्छा रहेगा। बॉस की जानकारी में आपका सभी काम रहने से टकराव और किसी भी प्रकार के कन्फ्यूजन की स्थित निर्मित नहीं होगी। इसलिए आप जो भी काम करें उसकी पुख्ता जानकारी अपने रिपोर्टिंग मैनेजर को ज़रूर दें।

ईमानदार रहें

ऑफिस में आप जिस भी व्यक्ति की रिपोर्टिंग में हों उसके प्रति ईमानदार रहें। ऑफिस पॉलिटिक्स का हिस्सा कभी ना बने और अपने कलीग्स के बीच अपने बॉस को लेकर कभी भी कुछ उल्टा-सीधा ना बोले। बॉस के प्रति आपकी जवाबदेही को समझें और उसके अनुसार ही बर्ताव करें। यदि बॉस के द्वारा आपको कोई टास्क दिया जाए तो उसमें पूरी ईमानदारी बरतते हुए अपना बेस्ट देने की कोशिश करें।

बॉस की नज़रों में अच्छे बनने के टिप्स

टास्क में बढ़ाएं हिस्सेदारी
टास्क में बढ़ाएं हिस्सेदारी

पार्टिसिपेट करें

टीम में हमेशा सब लोग एक जैसे नहीं होते और यही वो बात है जिसे आपको भुनाना है। याद रखें जो लोग आगे बढ़-चढ़ कर टीम के काम में पार्टिसिपेट करते हैं वह अपनी अलग ही पहचान बनाते हैं। साथ ही ऐसे लोगों को टीम लीडर्स आगे बढ़ने का मौक़ा भी देते हैं ताकि उनकी टीम का ओवरआल परफॉरमेंस सुधरे। तो यदि आप बॉस की गुड बुक्स में आना चाहते हैं तो टीम में किसी भी टास्क में अपनी हिस्सेदारी बढाइए।

दूसरों की मदद करें

बेहतर टीमें हमेशा एक-दूसरे की मदद से ही तैयार होती हैं। एक-दूसरे की मदद करने वाले ही आगे चलकर टीम लीडर बनते हैं साथ ही किसी भी प्रकार की प्रॉब्लम होने की स्थिति में ऐसे लोगों को टीम के बाकी सदस्य सबसे पहले खोजते हैं। इसलिए यदि आप बॉस की नज़र में या कह लें कि गुड बुक्स में आना चाहते हैं तो सबसे पहले टीम स्तर पर दूसरों की मदद करना शुरू कर दें।

जिम्मेदारी लें

आगे बढ़कर ज़िम्मेदारी लेना और उसे समय से पूरा करके देने वाले लोग हमेशा से ही मैनेजमेंट की पहली पसंद रहते हैं।ऐसा करने वाले ना सिर्फ खुद को रूटीन काम करने वाले लोगों से अलग कर लेते हैं, बल्कि अपनी एक अलग पहचान भी डेवलप कर लेते हैं। ज़िम्मेदारी लेकर ना सिर्फ आप बॉस बल्कि टीम के लिए भी डिपेंडेंसी क्रिएट कर लेंगे जो आपको सीधे बॉस की गुड बुक्स में ले जायेगा।

सुझाव दें समस्या नहीं बनें

याद रखें आपको हमेशा सुझाव वाले रास्ते पर चलना चाहिए ना कि शिकायत वाले। ऑफिस से जुड़ी किसी भी बात पर आपको समस्या की जगह उसके समाधान पर जाना चाहिए। क्योंकि अधिकांश लोग आपको समस्या बताने वाले ही मिलेंगे लेकिन उस समस्या से निकलना कैसे है यह बताने वाले लोग बेहद कम होंगे और यकीन मानिए यही वह लोग होते हैं जिन्हें बॉस की गुड बुक्स में सबसे पहले जगह मिलती है।

This is aawaz guest author account