हो सकता है आपने सही से प्लैनिंग कर ली है और पता है कि आपके स्टार्टअप आइडिआ में दम है, जो लोगों को भी पसंद आएगा। पर जब तक आप को इन्वेस्टर नहीं मिलेंगे, आपको अपने इन आइडिआज़ को सच करने में दिक्कत आ सकती है।

कई ऐसे एन्जेल इन्वेस्टर होते हैं जो ऐसे ही स्टार्टअप्स में पैसा इन्वेस्ट, या पैसा निवेश करते हैं। लेकिन उनके पास हर रोज़ हज़ारों ऐसे लोग इन्वेस्टमेंट की दरख्वास्त करते हैं, ताकि उनका स्टार्टअप भी चल जाए।

पर क्या आपको पता है कि इन्वेस्टर सिर्फ वहीं अपना पैसा लगाते हैं जहां उन्हें लगता है कि आगे चलके कोई मुनाफा हो सकता है।

तो अगर आप भी ऐसा ही कोई स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं और अपने बिज़नेस के लिए कोई इन्वेस्टर ढून्ढ रहे हैं, तो इन बातों को ध्यान में रख सकते हैं।

१. इन्वेस्टरों की एक प्रोफ़ाइल बना लीजिये

सबसे पहले अच्छे से रिसर्च कर लीजिये और देखिये कि आप किन इन्वेस्टरों से बात कर सकते हैं और कौन वाकई आपकी मदद कर सकते हैं। हो सकता है आपको लगे कि आप जीतने इन्वेस्टरों से बात करेंगे उतना ही बेहतर है, पर दरअसल इससे ज़्यादा ज़रूरी ये है कि आप सही निवेशकों से बात करें। अच्छे से एक लिस्ट तैयार कर लीजिये और क्या बात करनी है वो भी तैयार कर लीजिये।

Saloni-jain
ये जानना ज़रूरी है कि ये इन्वेस्टर आपके स्तर पर निवेश करते हैं या नहीं

सलोनी जैन सन कैपिटल के स्टार्टअप एक्विटी में डिरेक्टर हैं और स्टार्टअप एक्विटी डिविषन की हेड हैं। वो १०० से भी ज़्यादा एन्जेल इन्वेस्टमेंट्स और ४० VC फण्ड्स के साथ जुड़ी हुई हैं। वो कई समय से स्टार्टअप्स को निवेश पाने में मदद करती हैं और पिछले ६ महीनों में उन्होंने ५० से भी अधिक स्टार्टअप्स को इसी तरह मदद दिलवाई है।

सलोनी के हिसाब से ये बेहतर है कि आप ठीक से अपना रिसर्च कर लें और उन्हीं से निवेश के बारे में बात करें। ये भी देख लीजिये कि वो आपके स्तर पर निवेश करते हैं या नही।

<H2२. अपनी टीम बना लें

अगर आप किसी निवेशक से बात करने वाले हैं, तो पहले एक टीम तैयार कर लीजिये। चाहे आपकी टीम में २ लोग हों या १०, सबको ऐहमियत देना बहुत ज़रूरी है। निवेशक आपसे पूछ सकते हैं कि आपके स्टार्टअप में कितने लोग हैं, कौन क्या करता है, और टीम की खासियत। चाहे कितने ही लोग क्यों ना हो, सबके बारे में जानकारी तैयार रखिये।

३. पैसों की प्लैनिंग कर लें

आप निवेशक से उसके पैसे ले रहे हैं, तो आपको ये भी ठीक से बताना पड़ेगा कि वो पैसा कहां और कैसे इस्तेमाल किया जाएगा। कितना पैसा चाहिए, कहां खर्चा होगा, आगे कैसे उसपे मुनाफा होगा – पैसों से जुड़ी हर छोटी छोटी बात को ध्यान में रखिये। सलोनी कहती हैं कि निवेशक से मिलने से पहले आपके पास ये सब तैयारी होनी चाहिए। निवेशकों को हमेशा ज़्यादा मुनाफा चाहिए होता है, इसलिए अक्लमंदी से काम लें।

अच्छे से अच्छा आइडिया भी कई मुश्किलों से गुज़रता है, इसीलिए हिम्मत मत हारिये और अपने सपनों को सच करने में लगे रहिये।