आज वॉयस ओवर आर्टिस्ट्स की ज़रुरत हर जगह है – टेलीविज़न कमर्शियल, यूट्यूब ट्यूटोरियल, एनिमेटेड फिल्म हर जगह वॉयस ओवर आर्टिस्ट्स है, जो अपना कमाल दिखा रहे है।

एनिमेटेड फिल्में, रेडियो स्टेशन, वीडियो गेमिंग, टेलीफ़ोनिक जॉब्स के तेजी से बढ़ने की वजह से वॉयस ओवर इंडस्ट्री में वॉयस ओवर आर्टिस्ट्स की ज़रूरत भी बढ़ती ही जा रही है। कैसा लगता अगर ‘फाइंडिंग डोरी’ जैसी एनिमेटेड फिल्म या कोई भी अन्य एनिमेटेड या नॉन-एनिमेटेड फिल्म में वॉयस ओवर आर्टिस्ट्स की आवाज़ ना होती? हो सकता है कि शायद वह फ़िल्में हमे बिलकुल पसंद ही ना आ पाती।

भले ही इन दिनों काफी सेलिब्रिटीज इस इंडस्ट्री में भी अपना काम जमा रहे हो, लेकिन आपके पास भी बहुत स्कोप है यहाँ अपना नाम बनाने का। बॉलीवुड में भी वॉयस ओवर आर्टिस्ट्स की बहुत ज़रूरत होती है। आपने बिग बी की आवाज़ तो सुनी ही होगी ? क्या आपको विश्वास होगा कि ऑल इंडिया रेडियो ने उन्हें 60 के दशक में रिजेक्ट कर दिया था, लेकिन आज वो अपनी दमदार आवाज़ से बॉलीवुड और हॉलीवुड में भी राज करते है।

एक सफल वॉयस ओवर कलाकार बनने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप निरंतर प्रेक्टिस करते रहे । हर दूसरी इंडस्ट्री की तरह वॉयस ओवर आर्टिस्ट भी प्रेक्टिस करते रहते है। बेहतर होगा कि आप अलग अलग आवाज़ देने वाले ऐसे ही अन्य आर्टिस्ट से मिलते रहे और सेमिनार में जाते रहे, जिससे आपको इस इंडस्ट्री में कॉन्टेक्ट्स बनाने में भी मदद मिलेगी। शायद आपका बनाया हुआ कोई कांटेक्ट भविष्य में आपके काम आ जाएं।

वॉयस ओवर आर्टिस्ट और वॉयस मॉड्यूलेशन ट्रेनर प्रसन्न वी कहते हैं, “वास्तव में वॉयस ओवर इंडस्ट्री तेजी से बढ़ रही है क्योंकि ऐप्स और दूसरे टेक्निकल माध्यमों के आविष्कार में वॉयस ओवर की मौजूदगी की आवश्यकता बढ़ रही है। शॉर्ट फिल्म्स की बढ़ती मांग से फिल्म में नेरेशन देने के लिए वॉयस ओवर् आर्टिस्ट्स के लिए स्कोप बढ़ गया है । इसके अलावा दुनिया भर में ऑडियो बुक की मांग भी तेजी से बढ़ रही है। प्रोफेशनल वॉयस कलाकारों को अपनी आवाज़ बड़े-बड़े ऑथर्स की किताबों के लिए भी देनी होती हैं। टीवी विज्ञापन भी अब YouTube, Gaana जैसे ऐप इंटरनेट के माध्यम में प्रवेश कर रहे हैं, इस कारण क्षेत्रीय भाषा के वॉयस ओवर की मांग भी बढ़ गई है। कई शिक्षण संस्थान अब ई-लर्निंग की तकनीत अपना रहे है, जिसमे उन्हें वॉयस ओवर आर्टिस्ट्स की ज़रूरत होती है।”

दिलचस्प बात यह है कि वॉयस ओवर इंडस्ट्री में मांग उन लोगों की ज़्यादा है, जिनमे एक्सेंट हो। जिन एक्सेट की मांग है वह है, ऑस्ट्रेलियन या फिर ब्रिटिश। ये दोनों ही एक्सेंट सुनने में बहुत सुन्दर लगते है।

How-to-become-a-voice-over-artist-500x360
अपने वॉयस मॉड्यूलेशन से अपने दर्शकों के साथ जुड़ जाना बहुत आवश्यक है।

Image Credit: strugglingstory.com

वॉयस ओवर इंडस्ट्री के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि एक अच्छा कंटेंट बनाने के लिए बजट की दिक्कत नहीं होती है । आमतौर पर आपकी आवाज़ रोल के लिए सही है या नहीं और दर्शकों से जुड़ पाएगी या नहीं यह मायने रखता है। इसमें एक और ट्रेंड यह है की आपको हमेशा ऐसी आवाज़ देने को कहा जाएगा, जो आपकी उम्र के सामान हो ताकि आपकी आवाज़ दर्शकों से जुड़ सकें।

हालांकि इस इंडसट्री में जितनी मांग बढ़ेगी, उतना आप के लिए ही अच्छा है। क्या पता आप अपनी आवाज़ के बल पर ढ़ेरो पैसे कमा सकें।