आज के समय जॉब पाना किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है। मार्केट में दिन-प्रतिदिन बढ़ते कॉम्पटीशन और नई-नई ज़रूरतों के हिसाब से खुद को ढालने का हुनर रखने वाले लोगों तक को जॉब पाने के लिए पापड़ बेलने पड़ते हैं। ऐसे टफ समय में अधिकांश कैंडिडेट्स कुछ ऐसी गलतियां भी कर देते हैं जो ना सिर्फ उनकी जॉब पाने की संभावना को ख़त्म करता है, बल्कि इंडस्ट्री में उन्हें ब्लैक-लिस्ट भी करवा सकता है। अनुभव और स्किल्स में कमी या आपसे योग्य उम्मीदवार के चलते आपको जॉब भले ही ना मिले, लेकिन यदि आप किन्हीं कारणों से ब्लैक-लिस्ट ही हो गए तो मामला ज़्यादा गड़बड़ है। इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम यही जानने की कोशिश करेंगे कि वह कौन सी वजहें हैंं, जिनके चलते अक्सर उम्मीदवार ब्लैक लिस्ट हो जाते हैं।

एप्लीकेशन की भरमार लगा देना

सबसे बड़ी गलती है एक ही संस्थान में कई जगहों के लिए एक साथ अप्लाई कर देना। इसकी पीछे अधिकांश लोगों की मानसिकता होती है कि -’’कोई ना कोई जॉब तो मिल ही जाएगी”। लेकिन रुकिए जनाब, यह सबसे बड़ी गलती है। एक्सपर्ट्स की मानें तो जॉब पाने की आपकी संभावना पर इसका उल्टा असर तक पड़ सकता है और जिस कंपनी में आपने जॉब के लिए अप्लाई किया है वह आपको ब्लैक लिस्ट तक कर सकती है। इसलिए प्रयास करें कि जब भी आप कहीं जॉब के लिए अप्लाई करें तो चुनिंदा पोजीशन के लिए ही अपना आवेदन भेजें।

हायरिंग मैनेजर को बार-बार कॉल करना

आपने जॉब के लिए अप्लाई कर दिया है लेकिन अब आप इसकी आगे की प्रक्रिया के लिए बार-बार हायरिंग मैनेजर को कॉल कर रहे हैं, तो आपको बता दें कि यह गलत है। आपका काम सिर्फ जॉब के लिए अप्लाई करने तक का है, इसके आगे की प्रक्रिया संबंधित कंपनी को देखनी होती है जिसमें आपका हस्तक्षेप कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। ऐसे में यदि आप हायरिंग मैनेजर को बार-बार कॉल करके जॉब के संबंध में पूछताछ कर रहे हैं तो बहुत हद तक संभव है कि आप ब्लैक-लिस्ट कर दिए जाएं। इसलिए हमारी सलाह आपको यही है कि यदि आप कभी ऐसा कुछ ना करें जिससे उल्टा लेने के देने पड़ जाएं।

तमीज-तहजीब भूलना

कॉन्फिडेंस और ओवरकॉन्फिडेंस के बीच बहुत बारीक सा फर्क होता है। कई बार ओवरकॉन्फिडेंस के चक्कर में हम ऐसी गलतियां कर जाते हैं जो बाद में हम पर ही भारी पड़ती हैं। ऐसी ही एक गलती है मैनर्स की कमी, अक्सर ओवरकॉन्फिडेंस दिखाने के चक्कर में जॉब इंटरव्यू देने आए लोग गलत ढंग से व्यवहार करने लगते हैं, लाउड हो जाते हैं। आगे चलकर यही उनके लिए सबसे बड़ी समस्या बन जाता है। आपके द्वारा इंटरव्यूअर के साथ किया गया गलत व्यवहार आपको हमेशा के लिए संबंधित कंपनी से ब्लैक लिस्ट करवा सकता है। इसलिए यदि आप कहीं भी इंटरव्यू देने के लिए जाएँ तो सभ्य और शालीन ढंग से ही बात करें।

जॉब सर्च के दौरान कैसे हो सकते हैं आप ब्लैक लिस्ट?

बेवजह न बोलें
बेवजह न बोलें

Image Credit: prdaily.com

ज़रुरत से ज्यादा बोलना

इंटरव्यूअर को इम्प्रेस करने के चक्कर में कई बार लोग ज़रुरत से ज्यादा बोलने लगते हैं। ऐसे कैंडिडेट्स की कोशिश होती है कि किसी भी प्रकार से इंटरव्यूअर को खुश किया जाए। जान-पहचान निकालना, कहां के रहने वाले हैं वहां से कोई कनेक्शन निकालना, रेफरेंस से बार-बार दबाव डलवाना आदि कुछ ऐसे कारण हैं जिनके चलते आप इंटरव्यू की प्रक्रिया से हमेशा के लिए ब्लैक-लिस्ट हो सकते हैं। इसलिए इंटरव्यू में उतना ही बोलिए जितना सामने वाला आपसे पूछे, अपनी योग्यता को पहले रखिये अपने बारे में बताइए, आपके पिछले काम के बारे में बात करिए। ना कि इंटरव्यूअर किस शहर और प्रदेश से है इसको जानने में ही आप पूरी एनर्जी खर्च कर दें।

This is aawaz guest author account