हर कोई डॉक्टर, टीचर, इंजीनियर या बैंकर ही बने ये ज़रूरी तो नहीं। हमारे देश में ऐसी कई नौकरियां हैं, जिसे आप अच्छी तनख्वाह पाकर कर सकते है। अगर आपको ऐसी नौकरी करना पसंद हैं, जहां आपको रोज़ नए लोगों से मिलने का मौका मिले, फ़िल्मे देखने का मौका मिले और साथ ही हर रोज़ कुछ नया सीखने का मौका मिले तो? भला कौन नहीं करना चाहेगा ऐसी नौकरी। हम बात कर रहे हैं रेडियो जॉकी की , जो अपनी आवाज़ के दम पर अपनी पहचान बना लेते हैं।

रेडियो जॉकी जिन्हें हम आर जे कहकर पुकारते हैं। इसमें रोमांच और लोकप्रियता भी बहुत है, लेकिन ये बहुत चुनौतीपूर्ण करियर भी हैं।। यह एकमात्र ऐसा प्रोफेशन है, जिसमें आपको लोग आपकी आवाज़ से पहचानते हैं और आप बिना पब्लिक के सामने आए ही लोकप्रिय हो जाते हैं। साथ ही इसमें अच्छी कमाई भी है।

vidya-balan-as-rj-in-lage-raho-munna-bhai
इसके लिए किसी बड़ी डिग्री की ज़रूरत नहीं होती, सिर्फ आपकी आवाज़ ही काफी है

कैसे बन सकते है रेडियो जॉकी

युवा दिलों में अपनी अच्छी ख़ासी पहचान बनाने वाले रेडियो जॉकी अनुराग पांडेय का कहना हैं कि आर जे को लाइव प्रोग्राम के दौरान लिसनर्स के साथ उनकी रुचि के अनुरूप बातें करनी होती हैं और उनकी पसंद के गीत भी सुनाने होते हैं। इसके अलावा सेलिब्रिटी इंटरव्यू, नए कांटेस्ट और म्यूज़िक इंफॉर्मेशन जैसी चीजें भी आर जे की प्रोफाइल में शामिल होती है।

अनुराग पांडेय कहते हैं, “एक सफल रेडियो जॉकी बनने के लिए जरूरी है कि आप खुद की दिलचस्प स्टाइल में लिसनर्स के साथ बातें करना सीखें और ज्यादा रेडियो सुनें। संगीत के बारे में अपना ज्ञान बढ़ाएं और म्यूज़िक इंडस्ट्री के बारे में खुद को अपडेट रखें। आपका बातचीत करने का तरीका प्रभावी होना चाहिए और खासतौर पर आपका उच्चारण साफ होना चाहिए।”

भारत के कई शहरों में आर जे का कोर्स मिलेगा।

संगीत, राइटिंग और प्रेज़ेंटिंग स्किल्स की समझ

आर जे के लिए जरूरी है कि संगीत की पूरी समझ हो। मुमकिन हो तो पुराने गीतों से लेकर अब तक के नए गीतों के बारे में और साथ ही में गायकों , गीतकारों तथा संगीतकारों के बारे में पता होना चाहिए। एक अच्छा आर जे अपनी स्क्रिप्ट भी खुद लिखता है। इसलिए अपने प्रोग्राम या शो को दिलचस्प बनाने के लिए उसे दिलचस्प अंदाज़ के साथ लिखना भी आना चाहिए और लिखने के बाद उसे अपने शानदार अंदाज़ पेश करना भी आना चाहिए।

पढ़ने और लिखने की आदत

रेडियो जॉकी के लिए ज़रूरी हैं कि आप खूब पढ़े। आप जितना पढ़ेंगें आपका ज्ञान उतना ही बढ़ेगा । आपको ना केवल संगीत का पूरा ज्ञान हो, बल्कि देश से जुड़ीं ख़बरों का भी ज्ञान होना चाहिए। आज रेडियो जॉकी देश और दुनिया की बात करता है ,अपने शहर के ट्रैफिक की बात करता है, मौसम की बात करता है, मुहब्बत और दर्द की बात करता है। वो हर तरह के करियर की भी जानकारी देता है और साथ ही महत्त्वपूर्ण लोगों की टिप्पणियों पर भी अपनी राय रखता है। इस तरह वह अपनी तमाम जानकारियों के साथ एक हल्का-फुल्का संगीतमय माहौल बनाए रखता है। इसके लिए एक अच्छे रेडियो जॉकी को अपनी जानकारी हमेशा अपडेट रखनी चाहिए। ऐसा तभी होगा जब आप साहित्य पढ़ें, समाचारों पर ध्यान दें और समाज के साथ तालमेल बनाए रखे।

ऑल इंडिया रेडियो हर तीन महीने पर आर जे के लिए ऑडिशन करता रहता है।

रेडियो जॉकी का काम

एक रेडियो जॉकी का काम सिर्फ रेडियो शो करना ही नहीं होता, बल्कि अपने कार्यक्रम में म्यूज़िक प्रोग्रामिंग, स्टोरी राइटिंग, रेडियो एडवरटाइज़िग करने से लेकर ऑडियो मैगज़ीनऔर डॉक्यूमेंट्री भी पेश करने की ज़िम्मेदारी उसी की होती हैं। आपको बता दें कि रेडियो जॉकी की जॉब 9 से 5 की रेगुलर जॉब नहीं है। रेडियो में आपको दिन या रात कभी भी शो होस्ट करना पड़ सकता है।

योग्यता और कमाई

आर जे का कोर्स १२वी के बाद भी किया जा सकता है। आप किसी भी अच्छे संस्थान से प्रोफेशनल डिग्री और डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। शुरुआत में आपको १५ से २० हज़ार तनख्वाह मिलेगी, लेकिन जैसे-जैसे आपका एक्सपीरियंस बढ़ेगा आपकी सैलरी में भी बढ़ोतरी होगी।

पहचान छोटी ही सही लेकिन अपनी खुद की होनी चाहिए। इसी सोच के साथ जीती हूँ।अपने सपनों को साकार करने की हिम्मत रखती हूं और ज़िन्दगी का स्वागत बड़े ही खुले दिल से करती हूँ। बाते और खाने की शौकीन हूँ । मेरी इस एनर्जी को चार्ज करती है, मेरे नन्ने बच्चे की खिलखिलाती मुस्कुराहट।