इंडस्ट्री के दो बेहतरीन एक्शन और डांस करने वाले हीरो ऋतिक रोशन औऱ टाइगर श्राफ आपको एक साथ आमने-सामने नज़र आएंगे सिद्धार्थ आनंद की फ़िल्म ‘वॉर’ में। ये फ़िल्म एक स्पाई एक्शन फिल्म हैं, जिसका एक्शन और लोकेशन दोनों ही दमदार है। अगर आप यशराज फ़िल्म की धूम सीरिज़ के दीवाने रहे हैं तो ये फ़िल्म आपको पसंद आएगी। इस फिल्म में उसी तरह का स्वैग और स्टाइल दर्शकों को देखने को मिलेगा

फ़िल्म की कहानी


Image Credit: Movie – War

फ़िल्म कहानी हैं कबीर (ऋतिक रोशन) नाम के एजेंट की ,जो अपने देश भारत के लिए काम कर रहा हैं। वो अपने मिशन के लिए अपनी खुद की टीम बनाता हैं। उसकी टीम में शामिल होने आता है ख़ालिद, जिसके अब्बू को कबीर ने ही देशद्रोही होने के कारण मार डाला था। ख़ालिद अपने ऊपर और परिवार के ऊपर लगे इस देशद्रोह के दाग को हटाना चाहता है और इसीलिए वो अपने देश के लिए काम भी करना चाहता हैं, लेकिन क्या कबीर ख़ालिद को अपनी टीम में शामिल करेगा या नहीं? क्या दोनों मिलकर देश के द्रोहियों को पकड़ पाते हैं या नहीं, ऐसे ही कई सवालों का जवाब है फिल्म ‘वॉर’ में।

फिल्म के किरदार


Image Credit: Movie – War

फिल्म में ऋतिक यानी कबीर और खालिद यानी टाइगर श्राफ दोनों ही महत्वपूर्ण भूमिका में है। एक गुरु (कबीर) है तो दूसरा उसका शिष्य (खालिद)। दरअसल, दोनों ही एक्टर को बराबरी का ही स्क्रीन स्पेस दिया गया है। दोनों ही अभिनेताओं की ख़ासियत है दोनों का डांस और एक्शन। हालांकि हर फ्रेम में यह दोनों एक्टर एक दूसरे को कॉम्पिलिमेंट देते नज़र आते हैं। इस बात में कोई दो राय नहीं कि हमारी इंडस्ट्री में ऋतिक जैसा हैंडसम अभिनेता शायद ही कोई ओर हो। कुछ सालों पहले उन्हें ग्रीक गॉड की उपाधि दी गई थी, इस फिल्म को देखकर लगता है कि भले ही सालों साल बीत जाए लेकिन ऋतिक का चार्म कम नहीं हुआ है। उनका फिल्म में बेहतरीन अभिनय है। लेकिन इस फिल्म का सरप्राइज़ फेक्टर है टाइगर श्राफ। ऋतिक जैसे प्रतिभाशाली एक्टर के सामने इस तरह का अभिनय कर पाना आसान नहीं, लेकिन इस फिल्म को टाइगर की बेस्ट फिल्म कहा जा सकता है। इंडस्ट्री में बहुत कम सीनीयर एक्टर है, जो खुद फिल्म में होते हुए किसी जूनियर अभिनेता को इस कदर उभरने का मौका दे, लेकिन ऋतिक के होते हुए टाइगर ने जिस तरह इस फिल्म में एक्ट किया है, परफॉर्म किया है, उसमें उनकी मेहनत के साथ-साथ ऋतिक को भी क्रेडिट देना ज़रुरी है

फिल्म में आशुतोष राणा कर्नल यानी कबीर और ख़ालिद के बॉस के किरदार में है। उनका काम फिल्म में बड़ा ज़रुर है , लेकिन उनके किरदार में किसी भी तरह के टर्न और ट्विस्ट ना होने के कारण, अपनी गहरी छाप नहीं छोड़ पाता। वहीं वाणी कपूर ऋतिक की प्रेमिका के किरदार में है। उनका किरदार छोटा है लेकिन वो किसी भी तरह की छाप नहीं छोड़ता। वाणी की जगह अगर किसी पॉवरफुल हीरोइन को लिया जाता तो शायद बेहतर होता।

फिल्म देखे या नहीं


Image Credit: Movie – War

इन फिल्म पर काफी पैसे खर्च किए गए है। विश्व के कई अलग-अलग कोने में शूट हुई इस फिल्म में एक्शन और लोकेशन देखने लायक है। फिल्म में टाइगर की एंट्री के दौरान दिखाया गया अनकट एक्शन सीक्वेंस बेहतरीन हैं। हालांकि कई पॉज़िटीव प्वाइंट के होते हुए भी अगर कही भी यह फिल्म मात खाती है, तो वो है इस फिल्म का म्यूज़िक। इंडस्ट्री के दो बेहतरीन डांस परफॉर्मर एक साथ एक ही फ्रेम में होने बावजूद फिल्म का कोई भी गीत ऐसा नहीं है, जो आपको थिएटर से निकलकर याद रह सके। फिल्म का एक गीत ‘जय शिव शंकर’ में दोनों ही किरदारों को डांस करते देखना बहुत ही लाजवाब है। वहीं, फिल्म का फ़र्स्ट हाफ़ तो अच्छा है, लेकिन इंटरव्ल के बाद फिल्म काफी खींची हुई लगती है। इंटरव्ल से पहले तक फिल्म से जितनी उम्मीदें बढ़ती है, वो इंटरव्ल के बाद फिल्म जैसे-जैसे आगे बढ़ती है, खत्म हो जाती हैं। फिल्म को आसानी से छोटा किया जा सकता था।

कुल मिलाकर आवाज़.कॉम इस फिल्म को ढाई स्टार देता हैं

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।