भारतीय परिवार से ताल्लुक रखनेवाली सोनिया जैन के लिए भी बाइक का साथ पाना आसान था, लेकिन अपनी लगन और दुनिया के सामने अपनी बात साबित करने के लिए तत्पर सोनिया ने लोगों के सामने एक मिसाल कायम की है। जहां आज भी लड़कियों को बाइक चलाने की इजाज़त नहीं है, उस समय में सोनिया ने बाइक पर तीन देशों की यात्रा की है। आइये जानते हैं कैसा था सोनिया का ये ट्रेवल एक्सपीरियन्स।

म्यांमार की तरह खूबसूरत कोई जगह नहीं

इतनी छोटी सी जगह में भी महिलाऐं पुरुषों से कई ज़्यादा आगे हैं

सोनिया कहती हैं, “जब मैंने बाइक से म्यांमार की सैर की, तब मुझे पता चला कि वह कितनी खूबसूरत जगह है। आज तक मुझे सिर्फ हिमाचल पसंद आता रहा है, लेकिन म्यांमार जाकर मुझे ये एहसास हुआ कि इतनी खूबसूरत जगह के बारे में लोग कैसे नहीं जानते। आपको जानकार हैरानी होगी कि इतनी छोटी सी जगह में भी महिलाऐं पुरुषों से कई ज़्यादा आगे हैं। जब यहां के लोगों को एहसास हुआ कि मैं भारत से आई हूं, तो लोगों ने मुझसे चाय या कॉफी के पासी लेने से भी इंकार कर दिया। ये उनका बड़ा दिल और मेहमान नवाज़ी ही है कि उन्होंने मुझे इतना प्यार दिया।”

क्या थाईलैंड और बैंकॉक को गलत वजह से ही जानना ज़रूरी है?

थाईलैंड का वाइट टेम्पल इतना खूबसूरत और अनोखा है

सोनिया कहती हैं, “हमारे देश में थाईलैंड और बैंकॉक को सिर्फ हॉलिडे डेस्टिनेशन की तरह जाना जाता है, जो खास तौर पर मर्दों की पसंदीदा जगह मानी जाती है। लेकिन लोग यहां की खूबसूरती, टेक्नोलॉजी फ्रेंडली एटमॉस्फियर और खास तौर पर स्प्रिच्युएलिटी को नज़रअंदाज़ कर देते हैं। थाईलैंड का वाइट टेम्पल इतना खूबसूरत और अनोखा है कि लोग यहां जाकर खुश हो जाते हैं। यहां के मंदिर में मार्वल के सुपरहीरोज़ की तसवरीं लगाईं गई हैं, जिसका अर्थ है कि लोग अनदेखे भगवान में नहीं, बल्कि खुद पर विशवास करते हुए इंसान में बसी सुपर पावर को मानते हैं। ये अनुभव अपने आप में बेहद खूबसूरत एहसास है।”

100 से ज़्यादा बाइक का मिला साथ

मैं सिर्फ देश की लड़कियों को ये बोलना चाहती हूं कि अगर मैं 100 बाइक्स चला सकती हूं तो आप 10 तो चला ही सकती हैं

सोनिया ने पहला इंडिया रिकॉर्ड बनाया 100 से अधिक बाइक्स चला के। सोनिया बताती हैं, “मैंने 100 से ज़्यादा बाइक चलाई हैं, जिसमें 2300 सीसी की ट्रायम्फ रॉकेट से लेकर 50 सीसी सनी जैसी बाइक्स शामिल हैं। इसके अलावा 400 किलो की रोड मास्टर, सुपर फ़ास्ट रेसिंग बाइक, सनी, विंटेज, 1956 की लेफ्ट हैंड क्लच के साथ बीएमडब्ल्यू जैसी बाइक्स का भी नाम आता है। ऐसा करके मैं सिर्फ देश की लड़कियों को ये बोलना चाहती हूं कि अगर मैं 100 बाइक्स चला सकती हूं तो आप 10 तो चला ही सकती हैं।”

आप जीतोगे नहीं, तब तक लोग मानेंगे नहीं

हमेशा खुद को साबित करिये, क्योंकि लोगों को अब तक हम पर भरोसा करना नहीं आया है

सोनिया कहती हैं, “मेरे परिवार को तब तक मेरी चिंता सताती रही, जब तक मैंने उनके सामने ये साबित नहीं कर दिया कि मैं बाइक चला सकती हूं। हमारे देश में लड़कियों के साथ हमेशा यही होता रहा है। जब तक वे खुद को साबित नहीं करती या वे लीक से हटकर काम करने में कामयाब नहीं होती, तब तक उन पर कोई भरोसा नहीं करता। इसलिए हमेशा खुद को साबित करिये, क्योंकि लोगों को अब तक हम पर भरोसा करना नहीं आया है।”

बाइक को ब्रदरहुड का प्रतीक माननेवाली सोनिया इस वुमन्स डे पर भारतीय महिलाओं को जज़्बा कायम रखने की सीख देती है।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..