इंडिया वर्सेस ऑस्ट्रेलिया! जब भी क्रिकेट के मैदान पर ये दोनों टीमें आमने-सामने आती हैं, लोगों की सांसे रुक जाती है। आज से नहीं, बल्कि हमेशा से ही लोगों के लिए ऑस्ट्रेलिया और भारत की मैदानी जंग मायने रखती है। यही वजह है कि लोग मैदान पर ही नहीं, बल्कि घर पर भी इस मैच को 1 मिनट के लिए भी नहीं छोड़ते। एक बार फिर इंडिया-ऑस्ट्रेलिया का मैच होने जा रहा है और इस बार वर्ल्ड कप के लिए। वर्ल्ड कप 2019 में 9 जून को होनेवाले इस मैच को देखने के लिए लाखों लोग एक ही छत के नीचे आने वाले हैं और इस बार ये मैच होने वाला है इंग्लैंड की राजधानी लंदन में। लंदन के जानेमाने क्रिकेट ग्राउंड द ओवल में ऐरोन फिंच और कप्तान कोहली की टीमें भिड़ेंगी।

2015 के सेमि-फाइनल में जब इंडिया और ऑस्ट्रेलिया की टीमें टकराई थीं

Image Credit: static-news.moneycontrol.com

पिछली बार, यानी कि वर्ल्ड कप 2015 के सेमी-फाइनल में जब इंडिया और ऑस्ट्रेलिया की टीमें टकराई थीं, तब ऑस्ट्रेलिया ने भारत पर 95 रनों से जीत हासिल की थी। लेकिन जैसा कि हर व्यक्ति जानता है, इस बार भारतीय टीम का पलड़ा क्रिकेट के मैदान पर भारी है। अब ये तो वक्त ही बताएगा कि कैसे इस बार वर्ल्ड कप में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलियन टीम को हराकर अपनी हार का बदला लेती है।

यदि आप इस मैच का लुत्फ़ लंदन जाकर उठाना चाहते हैं, तो आपको लंदन की खूबसूरती का दीदार भी ज़रूर करना चाहिए। आज हम आपको लंदन के कुछ ऐसे स्थलों के बारे में बताएंगे, जिसे देखना आपके लिए एक खूबसूरत अनुभव साबित होगा। बात जब आती है लंदन की, तो यहां कई खूबसूरत और ऐतिहासिक इमारतें भी हैं, जो इस शहर को और भी खूबसूरत बनाती है।

मैडम तुसाद वैक्स म्यूज़ियम

यहां मोम से ख़ास शख्सियतों की प्रतिमाओं को बनाया गया है

Image Credit: s.triple.co

मैडम तुसाद वैक्स म्यूज़ियम के बारे में तो हर कोई जानता है। यहां मोम से ख़ास शख्सियतों की प्रतिमाओं को बनाया गया है। जिसमें राज प्रमुख, राजा, नेता, वैज्ञानिकों के अलावा खिलाड़ियों और फ़िल्मी हस्तियों की प्रतिमाओं का भी समावेश किया गया है। खास तौर पर यह जगह भारतीयों के लिए ख़ास है, क्योंकि यहां बॉलीवुड के कई खास और फेमस सेलिब्रिटीज़ की भी मोम प्रतिमाओं को भी रखा गया है। इस म्यूज़ियम में आपको इंग्लिश, फ्रेंच, जर्मन, इटालियन के अलावा हिंदी में भी सूचना देनेवाले बोर्ड दिखाई देंगे। यह म्यूज़ियम बेहद खूबसूरत है और घूमने में दिलचस्प भी।

लंदन आय

लंदन आय थेम्स नदी पर बना एक ऐसा खूबसूरत पुल है, जिसे पहली नज़र में देखकर हर कोई हैरान रह जाता है। इसका निर्माण साल 2000 में यानी कि 21 वीं सदी की शुरुआत में करवाया गया, जिसकी ऊंचाई 135 मीटर है। इसकी खूबसूरती लोगों को इतनी भाती है कि आज 19 सालों बाद भी टूरिस्ट की ये चहीती जगह बनी हुई है। इस पुल के साथ लगा है एक खूबसूरत झूला, जिसमें टूरिस्ट के बैठने की सुविधा की गई है। इससे टूरिस्ट इसे पीक पर जाकर लंदन के खूबसूरत नज़ारों को देख सकते हैं। रात में इसका नज़ारा और भी खूबसूरत हो जाता है, क्योंकि रात में इस पूरे पुल को आकर्षक और रंग-बिरंगी लाइट्स की मदद से सजाया जाता है।

टावर ऑफ लंदन

इसका निर्माण 11वीं शताब्दी में थेम्स के तट पर किया गया था

Image Credit: img.purch.com

ये ब्रिटेन की महारानी का ऐतिहासिक महल रहा है, जो लंदन की पुरानी संस्कृति की जीती-जागती मिसाल है। इसका निर्माण 11वीं शताब्दी में थेम्स के तट पर किया गया था। यही वजह है कि आज भी टूरिस्ट थेम्स नदी में बोटिंग के ज़रिये इस महल की खूबसूरती को निहार सकते हैं। यह न सिर्फ लंदन के बल्कि दुनियाभर के टूरिस्ट्स की पसंदीदा जगहों में से एक है।

टावर ब्रिज

यह लंदन की एक ऐसी जगह है, जिसका निर्माण 1894 में किया गया, लेकिन आज भी इस पुल की लोकप्रियता देखने लायक है। यह पुल मुख्य 2 स्तम्भों पर बनाया गया है, जिसका निचला हिस्सा खुल जाता है और इसके बीच से नौकाएं गुज़रती हैं। जब यह पुल खुलता है, तब यह देखने में बेहद खूबसूरत नज़ारा होता है। वहीं थेम्स पर एक खूबसूरत ब्रिज बनाया गया है, जिसका नाम लन्दन ब्रिज है।

लंदन में इन ऐतिहासिक स्थलों के अलावा और भी कई खूबसूरत जगहें हैं, जिसमें सेंट पॉल केथेड्रल, ट्राफलगर स्क्वायर, पिकाडिली सर्कस और बिग बेन क्लॉक टावर एक हैं। इस बार लंदन में मैच के बाद घूमने का प्लान बना हो, तो इन जगहों की खूबसूरती आपका मन मोहने के लिए काफी है।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..