रहमतों व बरकतों का महीना रमज़ान शुरु हो चुका है। इस तेज़ झुलसती गर्मी में रोज़ेदारों के हौसले हैं कि टूटने का नाम नहीं लेते। वे पूरी हिम्मत और पूरे प्यार से रोज़े रख रहे हैं। हर तरफ रमज़ान की रौनक और रमज़ान की बहारें नज़र आ रही हैं। लोग सुबह तीन बजे उठकर रोज़े रख रहे हैं और सहरी व तिलावत करने के बाद फर्ज की नमाज़ पढ़ते हैं। इसके बाद उनका पूरा दिन इबादत में गुज़र जाता है।

वहीं कुछ लोग ऐसे हैं, जो रमज़ान की इन छुट्टियों को ऊपरवाले की इबादत करते हुए उनसे जुड़ी कुछ खास जगहों पर घूमने जाना पसंद करते हैं। हम बात कर रहे हैं ऐसे ट्रैवलर्स की, जो इस रमज़ान में दुनिया घूमने का प्लान बनाते हैं। आइए बात करते हैं ऐसी जगहों के बारे में, जहां आप रमज़ान के महीनों में जाकर छुट्टियों का लुत्फ़ उठा सकते हैं।

दुबई
दुबई में रमज़ान एक बड़ा त्यौहार माना जाता है

यहां की लोकल गवर्नमेंट रोज़ा रखने वाले रोज़ेदारों के लिए कुछ न कुछ नया आयोजित करती रहती हैं। वहीं दिन भर के उपवास के बाद शाम को आपको कई जगह पर इफ्तार करने का मौका मिलेगा। यहां होटलों में छोटी-छोटी मस्जिदों का निर्माण किया जाता है, जिससे लोग आकर नमाज़ पढ़ सकें। दुबई में रमज़ान एक बड़ा त्यौहार माना जाता है, वहीं रोज़ा रखने वालों के लिए भी रमज़ान में दुबई जाना एक अच्छा अनुभव हो सकता है और अगर आप रोज़ा नहीं भी रखते, तो भी इस महीने के दौरान आप दुबई जा सकते है क्योकि तब इसकी रौनक कुछ और ही होती है।

इस्तांबूल,टर्की
पूरा शहर रमज़ान के दौरान इबादत के रंगों में रंग जाता है

इस्तांबुल इस्लामिक कल्चर की एक ऐतिहासिक नगरी है, यहां गवर्नमेंट की ओर से इफ्तार के लिए शाम को जश्न मनाने की पूरी तैयारी की जाती है। पूरा शहर रमज़ान के दौरान इबादत के रंगों में रंग जाता है। साथ ही यहां आप पब्लिक एरिया में बैठकर कुरान पढ़ सकते हैं और यहां की मार्केट का मज़ा ले सकते हैं। यहां हर शाम ट्रेडिशनल फोक डांस का आयोजन किया जाता है। रमज़ान के महीने में इस्तांबुल जाना आपको एक नई उमंग से भर सकता है।

कुआलालंपुर, मलेशिया
रमज़ान के मौके पर हर शाम यहां ट्रेडिशनल डांसर रोज़ेदारों का मन बहलाते हैं

कुआलालंपुर में रमज़ान की रौनक दुबई और इस्तांबूल की तरह नहीं होती, पर फिर भी यहां रोज़े रखने वालों के लिए शाम को इफ्तार के लिए खास इंतज़ाम किए जाते हैं। यहां के मार्केट और टूरिस्ट प्लेस में रमज़ान के दौरान खास रौनक रहती हैं। यहां लोग रोज़ेदारों को खास तौर पर इनवाइट करते हैं। रमज़ान के मौके पर हर शाम यहां ट्रेडिशनल डांसर रोज़ेदारों का मन बहलाते हैं। वहीं कुआलालंपुर में बसी मस्जिद को देखना आपके लिए बेहतरीन अनुभव हो सकता है। यह मस्जिद ट्रेडिशनल डिज़ाइन और मॉर्डन आर्किटेक्चर का एक अनोखा मेल है।

फ़ेस, मोरक्को
यहां रमज़ान के मौके पर दूर-दूर से लोग इबादत करने आते हैं

फ़ेस में बसे पुराने मदीने में मुस्लिम कल्चर को आज भी जिंदा रखा गया है। यहां रमज़ान के मौके पर दूर-दूर से लोग इबादत करने आते हैं। यहां मुस्लिम रोज़ेदारों के लिए खास इंतज़ाम किया जाता हैं, वहीं इफ्तार के लिए पारम्परिक मोरक्कन भोजन का इंतज़ाम किया जाता है।

कैरो, इजिप्त
यहां रमज़ान के मौके पर लोगों का जमावड़ा होता है

ऐतिहासिक छवि लिए कैरो शहर मुस्लिम कल्चर की बागडोर संभाले हुए हैं। यहां आपको ना सिर्फ पिरामिड देखने और यहां की सुंदर जगहों को देखने का मौका मिलेगा, बल्कि साथ-साथ सूर्यास्त के बाद रोज़ेदारों के लिए खास तौर पर खाने के इंतज़ाम का भी लुत्फ़ उठाने का मौका मिलेगा। यहां रमज़ान के मौके पर लोगों का जमावड़ा होता है। यहां आपको कई सुंदर ऐतिहासिक इस्लामिक आर्किटेक्चर के नमूने दिखाई देंगे और हर जगह सेलिब्रेशन का माहौल दिखाई देगा।

तो क्यों ना इस रमज़ान के मौके पर इन जगहों पर जाकर छुट्टियों का मज़ा लिया जाए।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..