आपने अक्सर फूलों की घाटियों, ट्यूलिप गार्डन, सेब के गार्डन इत्यादि देखे होंगे, लेकिन यदि हम ये कहें कि दुनिया का एक देश ऐसा भी है, जहां एक ही पेड़ पर अलग-अलग तरह के 40 फल लगते हैं, तो क्या आप इस बात पर यकीन कर पाएंगे? शायद नहीं, इसलिए हम आपको कहेंगे कि यूनाइटेड स्टेट के न्यूयार्क में खुद जाकर इस पेड़ को देख आइये। दरअसल न्यूयॉर्क में पाया जानेवाला ये झाड़ कई सालों से लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया हैऔर इसलिए इसे देखने हर साल हज़ारों सैलानियों का तांता लगा रहता है। आइये जानते हैं इस पेड़ के बारे में और भी ख़ास बातें।

कैसे उगाया गया ये पेड़?

इस पेड़ को उगाने के लिए स्कल्प्चर थ्रू ग्राफ्टिंग तकनीक का प्रयोग किया है

Image Credit: mediad.publicbroadcasting

न्यूयॉर्क के स्कल्प्चर आर्टिस्ट सैम वॉन ऎकेन एक ऐसे प्रोफरसर हैं, जिन्होंने इस पेड़ को उगाया है। इस पेड़ को उगाने के लिए उन्होंने स्कल्प्चर थ्रू ग्राफ्टिंग तकनीक का प्रयोग किया है, जिसके अनुसार उन्होंने पेड़ की कलम को एक दुसरे पेड़ की टहनी में ग्राफ्ट किया। सैम का कहना है कि ये सुनने में बेहद आसान लगता है, लेकिन इसे उगाना उतना ही मुश्किल था। सैम के अनुसार इसे उगाने में करीब 8 से 9 साल का वक्त लगा और इसके लिए उन्हें 40 हज़ार डॉलर की लागत लगी।

क्या है इस पेड़ का नाम?

वे इस पेड़ को जादुई पेड़ भी मानते हैं

Image Credit: amazonaws

इस पेड़ का नाम ‘ट्री ऑफ़ 40 फ्रूट्स’ रखा गया है। सैम के अनुसार बाइबिल में 40 अंक का ज़िक्र बार-बार किया गया है, जिसके अनुसार वे इस पेड़ को भी ईश्वर का उपहार ही मानते हैं। इसलिए वे इस पेड़ को जादुई पेड़ भी मानते हैं।

पेड़ क्यों है जादुई?

इस पेड़ में न सिर्फ फल, बल्कि तरह-तरह के रंग-बिरंगे फूल भी उगते हैं

Image Credit: thumbs

आपको जान कर हैरानी होगी कि इस पेड़ में न सिर्फ फल, बल्कि तरह-तरह के रंग-बिरंगे फूल भी उगते हैं। इसके अलावा इसमें चेरी, बादाम, आड़ू, प्लम, खुबानी जैसे कई फल उगते हैं। इसे देख कर हर कोई अचंभित रह जाता है और कुदरत के इस करिश्मे की दिल से तारीफ करता है।

यदि आप भी ईश्वर के इस करिश्मे को देखना चाहते हैं, तो न्यूयॉर्क ज़रूर जाएं।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..