आजकल की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी से समय निकालकर कुछ देर के लिए अपने साथ समय बिताना हर व्यक्ति के लिए ज़रूरी हो गया है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि काम का तनाव हम सभी को परेशान किये रहती है और खुद को तनाव मुक्त करने के लिए ट्रेवलिंग से बेहतर उपाय कोई भी नहीं है। यदि आप भी दुनिया से अलग-थलग होकर ऐसी जगह जाना चाहते हैं, जहां आपको भीड़ नहीं, बल्कि शान्ति मिले, तो आज हम आपके लिए लेकर आए हैं ऑफबीट ट्रेवलिंग डेस्टिनेशंस की लिस्ट।

तवांग

यहां 12 महीने तापमान 21 डिग्री सेल्सियस से ज़्यादा नहीं रहता

credit: hiqcdn.com

अरुणाचल प्रदेश का यह छोटा सा शहर अपने रंग बिरंगे पहाड़ों और खूबसूरत झरनों के लिए लोगों के बीच चर्चित है। यहां की हरी भरी वादियां मन को शांति और तन को ठंडक प्रदान करते हैं। यहां 12 महीने तापमान 21 डिग्री सेल्सियस से ज़्यादा नहीं रहता। यही वजह है कि आप काम की थकान मिटाने के लिए तवांग का रुख कर सकते हैं। यहां आपको सकरात्मकता के साथ-साथ आध्यात्मिकता का स्पर्श मिलेगा। यहां 17वीं शताब्दी की सबसे पुरानी मॉनेस्ट्री देखने का भी मौका भी आपको मिलेगा।

कुर्ग

कर्नाटक के गोद में बसे कुर्ग को एक लोकप्रिय पर्यटक स्थल माना जाता है। इसे भारत का स्कॉटलैंड भी कहा जाता है। यदि आप बिज़ी लाइफ से कुछ समय निकालकर शान्ति का आनंद उठाना चाहते है, तो कुर्ग आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन होगा। यहां की खूबसूरती के लोग कायल हो जाते हैं, वहीं यहां आपको मसालों की अलग-अलग किस्में खरीदने का मौका मिलेगा, जिसकी गुणवत्ता बाहर मिलने वाले मसालों से कई गुना बेहतर होती है। यहां से आप शुद्ध कॉफी भी खरीद सकते हैं। यदि आप मांसाहार करना पसंद करते हैं, तो कुर्ग में चिकन और मटन के ख़ास व्यंजन चख सकते हैं। आप शायद नहीं जानते होंगे कि कुर्ग को कोडागु भी नाम दिया गया है। कोडागु का मतलब होता है चारों ओर से पहाड़ियों से घिरा हुआ, इसलिए भारत का यह खूबसूरत स्थान आपके मन को मोहने के लिए काफी है।

मालशेज़ घाट

यहां रिवर्स वॉटर फॉल भी है, जिसे देखना आपके लिए नया अनुभव होगा

credit: heritagehotelsofindia.com

मुंबई से मात्र 154 किलोमीटर की दूरी बसे मालशेज़ घाट की खूबसूरती देखते ही बनती है। मुंबई के कल्याण से ये मात्र 80 किलोमीटर की दूरी पर है, जहां की खूबसूरती आपके लिए किसी तोहफे से कम नहीं है। यहां चारों तरफ से हरियाली से भरे हुए पहाड़ है और इसके साथ है पहाड़ी झरने, जिसे देखकर आपका मन खुश हो जाएगा। इसके अलावा यहां रिवर्स वॉटर फॉल भी है, जिसे देखना आपके लिए नया अनुभव होगा। यहां की हवा इतनी तेज़ी से बहती हैं कि झरने के पानी का रुख बदल जाता है।

बीर

हिमाचल प्रदेश का बीर-बिलिंग एक ऐसा स्थान है, जहां की खूबसूरती के लोग कायल हो जाते है। पैराग्लाइडिंग पसंद करनेवाले लोग यहां खास तौर पर छुट्टियां मनाने आते हैं। दिल्ली से इसकी दूरी 500 किलोमीटर है, वहीं धर्मशाला से भी आप आसानी से यहां पहुंच सकते हैं। यहां पैराग्लाइडिंग करते हुए चाय के बागानों के ऊपर से गुज़ारना आपके लिए एक खूबसूरत अनुभव होगा। यदि आप पैराग्लाइडिंग सीखना चाहते हैं, तो बिगनर्स कोर्स भी जॉइन कर सकते हैं। इसके अलावा यहां कई मॉनस्ट्रीज़ और मेडिटेशन सेंटर भी हैं, जहां की सैर आप कर सकते हैं।

कुन्नूर

यहां आप कैम्पिंग के अलावा हाइकिंग और ट्रेकिंग का भी लुत्फ़ उठा सकते हैं

credit: googleapis.com

तमिलनाडु में नीलगिरि की पहाड़ियों की तलहटी में बसा हुआ कुन्नूर अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है। यहां के चाय के बागानों से लेकर संतरे के बागों तक आपके लिए घूमने के लिए कई जगहें हैं। यहां आप कैम्पिंग के अलावा हाइकिंग और ट्रेकिंग का भी लुत्फ़ उठा सकते हैं। चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरी ये खूबसूरत जगह आपको सनसेट और सनराइज़ की खूबसूरत छटा दिखाएगी। यहां आप ऑर्गेइक फार्मिंग भी सीख सकते हैं।

इन जगहों की खूबसूरती ही नहीं, बल्कि शांति भी आपको बेहद पसंद आएगी। यदि आप भीड़-भाड़ से दूर कुछ वक्त बिताना चाहते हैं, तो यहां की टिकिट कटवाइए।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..