क्या आपने कभी गर्म पानी के प्राकृतिक कुंड देखे हैं? जिन्हे नेचुरल स्प्रिंग वॉटर के नाम से जाना जाता है। भारत में अलग-अलग स्थानों पर ऐसे कई कुंड हैं, जहां बारह महीने गर्म पानी का झरना बहता रहता है। ऐसे कुंड खास तौर पर किसी पूजनीय स्थल के करीब देखे जाते हैं। इसलिए इसका एक खास महत्त्व भारत में माना जाता है। आज हम आपको ऐसे ही प्राकृतिक गर्म पानी के कुंड के बारे में बताएंगे, जो भारत के अलग-अलग स्थानों पर पाए जाते हैं।

उत्तराखंड

यहां स्थित सूर्यकुंड बेहद प्रसिद्ध कुंड है

उत्तराखंड का यमुनोत्री एक जाग्रत देव स्थान माना जाता है। ये एक ऐसा तीर्थ है, जहां लोग अपने जीवन में एक बार जाकर दर्शन तो ज़रूर करते हैं। यदि आप बना रहे हैं, तो यहां आपको गर्म पानी के कई कुंड दिखाई देंगे। लेकिन यहां स्थित सूर्यकुंड बेहद प्रसिद्ध कुंड है। आपको जान कर हैरानी होगी कि इस कुंड का पानी बेहद गर्म रहता है, जिसकी वजह से लोग आसानी से इस पानी से भोजन पका लेते हैं।

हिमाचल प्रदेश

इस कुंड की महत्ता सिर्फ हिन्दुओं के लिए ही नहीं, बल्कि सिखों के लिए भी है

मणिकरण, जो हिमाचल प्रदेश का एक प्रमुख स्थान है, यह अपने गर्म पानी के कुंड के लिए जाना जाता है। यह कुंड कुल्लू से करीब 45 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस कुंड की महत्ता सिर्फ हिन्दुओं के लिए ही नहीं, बल्कि सिखों के लिए भी है। यहां सिखों का प्रसिद्ध गुरुद्वारा भी है। यहां के कुंड में मौजूद पानी इतना गर्म है कि लोग इसी से चावल पका लिया करते है।

उड़ीसा

सल्फर युक्त इस गर्म पानी में स्नान करने के बाद आपको ताज़गी मिलती है

उड़ीसा में अत्रिजल कुंड बेहद फेमस है। यहां के कुंड की ये ख़ासियत है कि इसके पानी में सल्फर की मात्रा बेहद ज़्यादा होती है। यही वजह है कि सल्फर युक्त इस गर्म पानी में स्नान करने के बाद आपको न सिर्फ ताज़गी मिलती है, बल्कि त्वचा सम्बन्धी समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है। यह कुंड भुवनेश्वर से मात्र 42 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, जहां लोगों का जमावड़ा रहता है।

सिक्किम

गर्म पानी का ये कुंड सिक्किम के उत्तर-पूर्व में बोरोंग में 15 हज़ार फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है

सिक्किम में यूमेसमडोंग एक ऐसा बर्फीला स्थान है, जो 12 महीने ठंडा रहता है। लेकिन यहां मौजूद गर्म पानी का कुंड भी लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है। गर्म पानी का ये कुंड सिक्किम के उत्तर-पूर्व में बोरोंग में 15 हज़ार फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है, जो 50 डिग्री सेल्सियस पर खौलता रहता है।

लद्दाख

इसका पानी इतना गर्म है कि यह उबलता रहता है

लद्दाख के पनामिक में स्थित है सल्फर से भरपूर गर्म पानी का कुंड, जिसकी खूबसूरती देखते ही बनती है। इस कुंड नुब्रा वैली में पाया जाता है, जो नामी सियाचिन ग्लेशियर से 9 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इसका पानी इतना गर्म है कि यह उबलता रहता है और इसमें से हर क्षण धुआं निकलता हुआ दिखाई देता है।

इस तरह भारत के इन स्थानों पर गर्म पानी के कुंड देखे जा सकते हैं।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..