यदि आप प्राकृतिक जगहों पर घूमने और वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी करने के शौक़ीन है, तो आप इंडिया के सभी नेचुरल पार्क्स और टाइगर रिज़र्वर्स में जाकर प्रकृति का आनंद ले सकते हैं। कॉर्बेट नेशनल पार्क, रणथम्बोर और पेंच टाइगर रिजर्व जैसी जगहों में आप साइट सीइंग का आनंद ले सकते हैं।

जब वाइल्ड लाइफ सफारी की बात आती है, तो आपको अच्छे से प्लानिंग कर घूमने के लिए निकलना चाहिए। हर यात्री को बदलते मौसम और उससे जुड़ी अन्य चीज़ों की जानकारी रखनी चाहिए। आप सफारी के लिए अकेले जाएं या फिर एक ग्रुप के साथ, सफारी के लिए निकलने से पहले से आपको सफारी से जुड़ी पूरी जानकारी होना ज़रुरी हैं।

चलिए हम आपको बताते हैं कि एक वाइल्ड लाइफ सफारी प्लान करने के लिए आपको किन चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए।

सफारी पर जाने के लिए सबसे अच्छा समय

अप्रैल एन्ड से लेकर मिड जून एक जंगल सफारी पर जाने का सबसे अच्छा समय होता है। ख़ास तौर पर भारत के दक्षिण और सेंट्रल हिस्सों पर जाने के लिए यही समय सही है। इन क्षेत्रों में नदियां बारह महीने नहीं बहती और गर्मियों के दौरान सुखी पड़ जाती है। इसके कारण जंगल के ज़्यादातर प्राणी जंगल के तालाब में अपनी प्यास बुझाने आते हैं। यही समय होता है जब आपको टाइगर और उसके जैसे कई और जंगली जानवरों को देखने का मौक़ा मिलता है। चूंकि इस समय गर्मियां बढ़ जाती है, इसलिए आपको शाम में या फिर सुबह-सुबह सफारी के लिए निकलना चाहिए। अक्सर नेशनल पार्क और सैंक्चुरीज़ मॉनसून के दौरान यानी जुलाई से सितंबर के बीच बंद होते हैं।

अक्सर गर्मियों में टाइगर अपनी प्यास बुझाने जंगल के तालाबों तक आते हैं, जिस वजह से आप उन्हें बहुत अच्छे से देख सकते हैं।

Image Credit: natgeotraveller

किन सफारीज में जाना चाहिए ?

भारत में कुल 103 नेशनल पार्क्स हैं। इसका मतलब है कि आप अपने पसंद के किसी भी नेशनल पार्क में घूमने जा सकते हैं। सबसे ज़्यादा टाइगर्स मध्य प्रदेश के रिज़र्व्स में देखे जाते हैं। कान्हा, पेंच और चंद्रपुर में सबसे ज़्यादा टाइगर्स पाए जाते हैं। लेकिन अगर आप पिग्मी हॉग, एक सींग वाले गैंडों और उनके जैसे अन्य रेयर स्पीशीज़ को देखना चाहते हैं, तो नॉर्थ-ईस्ट का काज़ीरंगा और मानस नेशनल पार्क बेहतर हैं। जंगली लायन को देखने का मौक़ा सिर्फ गुजरात के गिर नेशनल पार्क में मिलता है।

एक सींग वाले गैंडे ज़्यादातर भारत के ईस्ट और नॉर्थ-ईस्ट हिस्से में पाए जाते हैं

Image Credit: tajhotels

कहां करना चाहिए स्टे

ज़्यादातर नेशनल पार्क्स और टाइगर रिज़र्व्स के पास उसी क्षेत्र से थोड़ी दूर सरकारी गेस्ट हाउस होते हैं। रणथम्बोर के जंगल जैसे कुछ जंगलों के पास में अच्छे रिजॉर्ट्स भी होते हैं। लेकिन अगर आप सही मायने में अपनी सफारी का आनंद लेना चाहते हैं, तो आपको फारेस्ट डिपाटमेंट के गेस्ट हाउस में ही रहना चाहिए। इसके लिए आपको पहले से ही वहां अपने रहने के लिए बुकिंग करवानी होगी।

सफारी पर पहुंचने से पहले ही आपको वहां अपने रहने का सारा प्रबंध करना पड़ेगा।

Image Credit: blogspot

चूंकि ये सभी क्षेत्र कानून द्वारा संरक्षित क्षेत्र हैं, इसलिए आपको वहां जाते समय सारे ज़रूरी कानूनी कागज़ तैयार रखने होंगे। जंगल तक पहुंचकर फिर खाली हाथ वापस आना किसी को अच्छा नहीं लगता है। इसलिए आपको हर तरह से तैयार रहना चाहिए।

तो, इस तरह आप अपने लिए एक परफेक्ट वाइल्ड लाइफ सफारी की योजना बना सकते हैं।