गोवा, जो हमारे देश के युवाओं की पसंदीदा पर्यटक स्थल है। गोवा में अक्सर लोग समुद्री बीचों का लुत्फ़ उठाने के लिए ही जाते हैं। यहां की नाइट लाइफ हो या यहां का सी फ़ूड, लोग इसका लुत्फ़ उठाने के लिए यहां दौड़े चले आते हैं।लेकिन यदि आप गोवा के बीचों से बोर हो चुके हैं, तो आज हम आपको कुछ ऐसी जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में आपने पहले कभी नहीं सुना होगा।

महदेई वाइल्डलाइफ सेंचुरी

यहां चिड़ियों की करीब 225 से ज्यादा प्रजातियां मौजूद है

गोवा के पूर्व दिशा में बसी ये सेंचुरी करीब 208 स्क्वेयर किलोमीटर्स क्षेत्र में फैली हुई है। यहां की खूबसूरती और बर्ड वाचिंग का मन मोहने के लिए काफी है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां चिड़ियों की करीब 225 से ज्यादा प्रजातियां मौजूद है। यहां तक कि यहां तितलियों की भी करीब 300 प्रजातियां पाई जाती है। यह जगह प्रकृति प्रेमियों के लिए बेहद खूबसूरत साबित होती है, जहां आप सुकून के कुछ पल बिता सकते हैं।

सलीम अली बर्ड सेंचुरी

वहीं मंडोवी नदी किनारे 440 एकड़ एकड़ में फैली यह बर्ड सेंचुरी, जो सलीम अली बर्ड सेंचुरी के नाम से फेमस है, यह लोगों की पसंदीदा जगह है। इस सेंचुरी में पक्षियों की कई खूबसूरत प्रजातियां देखने को मिलती है। इन चिड़ियों में बुलबुल, किंगफिशर, वुडपैकर, स्वान, हॉर्नबिल जैसे कई पक्षियों की खूबसूरत प्रजातियां दिखाई देती हैं। गोवा में सलीम अली बर्ड सेंचुरी जाना आपके लिए खूबसूरत अनुभव साबित होगा।

काटिगाओ सेंचुरी और दूधसागर फॉल्स

घने जंगलों के बीच बनी ये सेंचुरी प्राणियों का स्वर्ग मानी जाती है

यदि आप वाइल्ड लाइफ सेंचुरी को पसंद करते हैं, तो पणजी से करीब 60 किलोमीटर की दूरी पर बसी है कोटिगाओ वाइल्ड लाइफ सेंचुरी। घने जंगलों के बीच बनी ये सेंचुरी प्राणियों का स्वर्ग मानी जाती है। सफारी पसंद करने वाले लोगों के लिए यह जगह अपने आप किसी खूबसूरत सपने की तरह है। यहां आपको बंदर, हिरण और भालूओं की कुछ ऐसी प्रजातियां दिखाई देगी, जिसे आपने पहले कभी नहीं देखा होगा। इसके अलावा गोवा की एक और खूबसूरत जगह है दूधसागर फॉल्स। यह झरना महावीर सेंचुरी के अंदर स्थित है। गोवा के पश्चिमी घाट के इलाकों में मौजूद झरनों में दूधसागर सबसे ज्यादा फेमस है।

कैसे पहुंचे गोवा?

गोवा पहुंचने के लिए आप सड़क, हवाई और रेलमार्ग इन तीनों का इस्तेमाल कर सकते हैं। यदि आप हवाई मार्ग से यात्रा करना चाहते हों, तो आपको डाबोलिम एयरपोर्ट तक की टिकट लेनी होगी। यह एयरपोर्ट पणजी से करीब 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यदि आप रेलमार्ग का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो आपके लिए दो मुख्य स्टेशन हैं, जिसमें मडगांव और वास्को डिगामा एक हैं। ट्रेन का ये रुट कई शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है और यहां तक पहुंचना आपके लिए आसान हो सकता है।

वहीं यदि आप रोड ट्रिप प्लान कर रहे हैं, तो आपको कर्नाटक और महाराष्ट्र से बस सेवाएं आसानी से उपलब्ध हो जाएंगी, जिसमें आप बेंगलुरु से भी रोड यात्रा कर गोआ पहुंच सकते हैं। लेकिन यदि आप मुंबई और पुणे से गोआ जा रहे हैं, तो आपको नेशनल हाइवे एनएच 4 का चुनाव करना चाहिए।

इस तरह गोवा की ये खूबसूरत जगहें आपको एक अलग दुनिया की सैर करवाती हैं।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..