भारत में कई ऐसे खूबसूरत रास्ते हैं, जहां जाने के लिए लॉफ रोड ट्रिप प्लान करते हैं। रोड ट्रिप के दौरान अक्सर हम रास्तों से गुज़रती हुई गाड़ियों को निहारते हैं। कोई धीमी गति से, तो कोई सरसराती हुई निकल जाती है। लेकिन क्या आपने हाइवेज़ से गुज़रते हुए ट्रकों को देखा है? हाइवे पर अपना बोलबाला रखने वाले ये ट्रक सामान को लाते-ले जाते हुए दिखाई देती है। लेकिन ये ट्रक सिर्फ सामान ही नहीं, बल्कि अपने साथ एक मैसेज या कहें सन्देश लिए चलते हैं। आपने अक्सर ट्रक के पीछे लिखे हुए मैसेज पढ़े होंगे, जिसमें कभी फनी, तो कभी स्वैग से भरे मैसेजेस दिखाई देते हैं। आइये आज आपको हाइवे की शान कहे जाने वाले ट्रकों के पीछे के मैसेज पढ़वाते हैं।

टेक पोइज़न

जी हां, ‘टेक पोइज़न बट डू नॉट बिलीव ऑन गर्ल्स’ यानी ‘ज़हर खा लो, लेकिन लड़कियों पर भरोसा मत करो’ ये सन्देश आपको ये तो बताता ही है कि देश के मर्द लड़कियों से कितना परेशान है।

credit: indianfunnypictures

बुरी नज़र वाले

आपने अक्सर पढ़ा होगा ‘बुरी नज़र वाले तेरा मुंह काला’, लेकिन अब लोग इसे भी नए इनोवेशन के साथ पेश करने लगे हैं। इसका एक बेहतर वर्ज़न भी हमारे पास है, जो है ‘बुरी नज़र वाले तू सौ साल जिए, तेरे बच्चे दारु पी पी के मरे’!

 

credit: holidify.com

नो गर्लफ्रेंड

गर्लफ्रेंड ना रखने की सलाह देते हुए एक और भाई साहब चले आ रहे हैं, लेकिन इस बार थोड़े अलग अंदाज़ में। ‘नो गर्लफ्रेंड, नो टेंशन’ यानी ना गर्लफ्रेंड बनाएं ना टेंशन पालें।

credit: holidify.com

आती क्या खंडाला

आपने गुलाम फिल्म का गाना ‘आती क्या खंडाला’ तो कई बार सुना होगा, लेकिन इसे किसी ट्रक के पीछे लिखा देखना अपने आप में एक कमाल का अनुभव है। उस पर जब रिक्वेस्ट की गई हो, ‘साथ मत छोड़ साहिबा’, तब तो कहना ही क्या। है न!

credit: holidify.com

लखनऊ की तारीफ के क्या कहने

‘ये नीम का पेड़ चन्दन से कम नहीं, हमारा लखनऊ लन्दन से कम नहीं’, है ना मज़ेदार। भाई लखनऊ, जिसे तहज़ीबों का शहर कहा जाता है, वहां के लिए इतना प्यार तो वाजिब है!

credit: indianfunnypictures

धीरे चलिए

हाइवे पर तो अक्सर ‘धीरे चलिए’ के बोर्ड तो पढ़े ही होंगे, लेकिन इसे शायरी में बदलकर समझाना कोई इनसे सीखे। ‘धीरे-धीरे चलेंगे तो बार-बार मिलेंगे, तेज़ चलेंगे तो हरिद्वार में मिलेंगे।’ तो बताइये आप कहां मिलना चाहते हैं?

credit: holidify.com

हंस मत पगली

देखिये तो, क्या आपके लिए मुस्कुराने के लिए ये वजह काफी है या नहीं। ‘हंस मत पगली, प्यार हो जाएगा’ कहना है इनका। जिसे देख कर आपको हंसी तो आएगी, पर इनसे प्यार करने से खुद को बचाना भी पड़ेगा। क्या आप ये कर पाएंगी?

credit: holidify.com

इसके अलावा ‘हॉर्न, ओके, प्लीज़’, ‘मां का आशीर्वाद’, ‘जय महाराष्ट्र’, धीरे चलिए, कतार में चलिए’ जैसे कई उदाहरण है, जो आपको रोड ट्रिप के दौरान दिखाई देंगे। तो इस बार आप जब ट्रेवल कर रहे हैं तो आप अपने पास के आते जाते ट्रकों पर नज़र ज़रुर फेरें, क्या पता आपको कुछ नया औऱ खास ही पढ़ने को मिल जाए।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..