भारत में जहां घूमने की कई जगहें हैं, वहीं कुछ पार्क ऐसे भी है जहां आपको अलग-अलग तरह के जीव देखने का मौका मिलता है। कुछ पार्क ऐसे हैंस जहां आपको सांप की भी कई अद्भुत प्रजातियां देखने के लिए मिलेंगी। यदि आपको इन विषैले लेकिन खूबसूरत जीवों को देखना अच्छा लगता है, तो आपको ज़रूर भारत के इन स्नेक पार्क की सैर करनी चाहिए। ये स्नेक पार्क आपको अचंभित करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

कोलकाता

इंडियन रेप्टाइल्स में ख़ास मानी जानी वाली भारत की छिपकलियों की प्रजातियों की वजह से यह स्नेक पार्क आकर्षण का केंद्र माना जाता है

 

credit: medium.com

पूर्वी भारत में कोलकाता एक ऐसा शहर है, जहां का स्नेक पार्क बेहद फेमस है। यह स्नेक पार्क सरीसृप वैज्ञानिक दीपक मित्रा ने स्थापित किया है। कोलकाता का यह फेमसस्नेक पार्क करीब 2 एकड़ के जंगल में फैला हुआ है, जहां सांपों को खास तौर पर संरक्षण दिया गया है। सांप के अलावा यहां कई अन्य जीव प्रजातियों और पक्षियों को भी संरक्षण प्राप्त है। इंडियन रेप्टाइल्स में ख़ास मानी जानी वाली भारत की छिपकलियों की प्रजातियों की वजह से यह स्नेक पार्क आकर्षण का केंद्र माना जाता है।

पुणे

पुणे का कात्रज स्नेक पार्क, जिसका नाम राजीव गांधी ज़ूलॉजिकल पार्क है, यहां सांपों की कई प्रजातियां पाई जाती हैं। इस स्नेक पार्क में इंडियन रॉक पाइथन, इंडियन वाइपर्स, किंग कोबरा जैसी कई खास प्रजातियों को संरक्षण प्राप्त है। वहीं सांपों को बचाने के लिए यहां कुछ समय से आम जनता के लिए जागरूक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। यहां कई ऐसी प्रजीतियों को रखा गया है, जो विलुप्ति की और चल पड़ी हैं। यहां इनकी संख्या बढ़ाने की कोशिश वैज्ञानिक करते हैं। यह भारत के कई मुख्य सर्प उद्यान में से एक माना जाता है।

कन्नूर

यह केरल केएनएच 17 से बेहद पास है, जहां इन सर्प प्रजातियों पर अनुसंधान किया जाता है

 

credit: eravikulam.org

कुन्नूर अपनी खूबसूरत वादियों के अलावा अपने ख़ास स्नेक पर के लिए भी जाना जाता है। कुन्नूर के इस स्नेक पार्क का नाम है परिस्सिनिकदावु। यहां कई विषैले और नॉन पॉइज़नस सांपों की अलग-अलग प्रजातियां भी मौजूद है, जो पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर खींचती है। यह केरल केएनएच 17 से बेहद पास है, जहां इन सर्प प्रजातियों पर अनुसंधान किया जाता है और इन्हे खास संरक्षण दिया जाता है। यहां पिट वाइपर, पाइथन और कोबरा की कई ऐसी प्रजातियां मौजूद है, जिसे देखना आपके लिए एक हटकर अनुभव होगा।

चेन्नई

चेन्नई स्नेक पार्क भी भारत का एक जाना-मान स्नेक पार्क है। यहां सांपों को ख़ास संरक्षण दिया जाता है। 1972 में स्थापित किया गया यह स्नेक पार्क सांपों की कई दुर्लभ प्रजातियों के साथ-साथ विदेशी सांपो को भी संरक्षण देती है। यहां सांपों के प्रजनन के साथ-साथ और अनुसंधान भी किया जाता है। यहां आपको विदेशी कोबरा के साथ साथ पाइथन और रैटल स्नेक की कई प्रजातियां दिखाई देंगी।

बेंगलुरु

यह भारत के प्रमुख स्नेक पार्क में से एक है, जहां सांपों के प्रजनन के लिए भी प्रयत्न किए जाते हैं

 

credit: cloudinary.com

आपने बेंगलुरु के बन्नेरघाटा नेशनल पार्क के बारे में तो ज़रूर सुना होगा। यहां का एक भाग सांपों के लिए रखा गया है। यहां सांपों के कई आकर्षक प्रजातियों को रखा गया है, जिसके बारे में लोगों को समय समय पर कार्यक्रम आयोजित कर के बताया जाता है। यह भारत के प्रमुख स्नेक पार्क में से एक है, जहां सांपों के प्रजनन के लिए भी प्रयत्न किए जाते हैं।यहां जाना आपके लिए एक अलग हटकर अनुभव साबित होगा।

भारत में सांपों पर को लेकर कई अंधविश्वास फैले हुए हैं, जिसकी वजह से सांपों की कई प्रजातियां विलुप्ति ओर चल पड़ी है। धार्मिक प्रथाओं में इनका इस्तेमाल इनके लिए खतरा बन चुका है। इसीलिए सांपो के बारे में सही जानकारी प्राप्त करनी हो, तो इन उद्यानों में जाना आपके लिए बेहतर साबित होगा।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..