जैसे की आप जानते हैं की अभी हाल ही में 20 मार्च को इंटरनेशनल डे ऑफ़ हैप्पीनेस यानी अंतराष्ट्रीय खुशी दिवस मनाया गया था। तो क्यों ना एक नज़र उन देशों पर डाली जाएं, जिन्हे दुनिया के सबसे खुशनुमा देशों में माना जाता है। ख़ास बात यह हैं कि इन देशों में खुश रहने वाले सभी लोग अमीर होने के कारण या फिर ज़्यादा शौहरत हासिल करने के कारण खुश नहीं हैं, बल्कि यह लोग खुश हैं क्योंकि इन सभी को अपने देश की संस्कृति, पारिवारिक मूल्यों और अपने देश की प्रकृति पर गर्व है। इनके पास जो कुछ भी हैं, वह उसमे संतुष्ट महसूस करते हैं। ‘वर्ल्ड हैप्पीनेस रिकॉर्ड’ द्वारा ऐसे कई देशों को विश्व के सबसे खुशनुमा देश का दर्जा दिया गया है। आइये जानते हैं कौन से है वो देश:

भूटान, जहां आपको शायद ही कोई बुरा मिज़ाज का व्यक्ति दिखाई देगा

भूटान के लोग अपनी जड़ों से जुड़कर रहते हैं।

Image Credit: cleartrip.com

भूटान एक छोटा सा देश है और यह धरती पर सबसे खुशहाल जगहों में से एक माना जाता है। इस देश के लोग हर तरह से संतुष्ट हैं। वे बौद्ध धर्म का पालन करते हैं। यहां का सुंदर परिदृश्य, हरियाली और कम प्रदूषण मन को बेहद सुकून और ख़ुशी देता है। यहां के लोगों के चेहरे पर हमेशा मुस्कान बनी रहती हैं। भूटान के लोग अपनी जड़ों से जुड़कर रहने में विश्वास रखते हैं और किसी भी मोह-माया में ना बंधकर जीवन जीने की कोशिश करते हैं।

डेनमार्क; जहां डेन्स सबसे ज़्यादा टैक्स देने के बावजूद खुश रहते हैं

डेनमार्क के लोगो अपने बुढ़ापे की ज़रा भी चिंता नहीं करते

Image Credit: nationalgeographic.com

डेनमार्क दूसरा खुशहाल स्थान है जहां आप सुकून से अपना जीवन बिता सकते हैं। यहां की आबादी 5 मिलियन के करीब होगी, जो बाकी देशों के मुकाबले काफी कम है। यहां के लोग एक दूसरे का बहुत साथ देते हैं और यहां के बच्चों को छोटी उम्र से ही इस बात की सीख दी जाती है कि हमेशा माता-पिता का आदर करना चाहिए और एक अच्छा इंसान बनना चाहिए। डेनमार्क के निवासी सबसे ज़्यादा टैक्स देते हैं, जिसके कारण उन्हें सरकार से फ्री हेल्थकेयर सर्विसेज़ मिलती हैं। बच्चो की कॉलेज फीस भी सरकार द्वारा दी जाती है और बुढ़ापे के लिए अच्छी रिटायरमेंट स्कीम का भी ख़याल रखा जाता है, जिससे वृद्धावस्था में किसी भी तरह की तकलीफ़ से ना गुज़ारना पड़े। यही कारण है कि डेनमार्क में लोग चिंतित नहीं, बल्कि सुरक्षित महसूस करते हैं।

फिनलैंड; जहां क्राइम रेट शुन्य है

फिनलैंड में लोगों के बीच सामाजिक भेद-भाव नहीं किया जाता

Image Credit: independent.ie

फिन्स विश्व के सबसे खुशहाल लोगों में से एक हैं। यहां पर लोगों के लिए बेस्ट हेल्थकेयर सिस्टम है और शिक्षा भी मुफ्त है और इसलिए यहां लोग खुशी-खुशी टैक्स देते हैं क्योंकि वो जानते है कि बदले में उन्हें सरकार से उनके भुगतान से दोगुनी सर्विसेज़ मिलेंगी।

कनाडा; तनख्वाह अधिक, बेरोज़गारी कम

यहां के लोग बहु संस्कृतिवाद के समर्थक है

Image Credit: expedia.com

वर्ल्ड हैप्पीनेस रिकॉर्ड के अनुसार कनाडा को दुनिया का सातवां सबसे खुशहाल देश कहा जाता है। कनाडा के लोगों के सामाजिक संबंध बहुत मजबूत हैं। एक और खुशी की बात है, उनका बहु संस्कृतिवाद के प्रति समर्थन। यहां पर बेरोज़गारी कम है और लोगों की तनख्वाह भी ज़्यादा है। यहां का हेल्थ और एज्युकेशन सिस्टम बहुत अच्छा है।

स्विट्ज़रलैंड, यश चोपड़ा की फिल्मों से अधिक सुन्दर

देश की समृद्धि और अच्छे स्वास्थ्य के लिए आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रम बहुत अच्छे होते हैं।

Image Credit: 1zoom.net

‘स्विट्ज़रलैंड’, इस नाम के बारे में सोचते ही दिमाग में एक सुंदर दृश्य दिखाई पड़ता है। यहां की ट्रांसपोर्टेशन सेवाएं इतनी अच्छी है कि किसी को भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करने के लिए १० मिनट से ज़्यादा चलने की आवश्यकता नहीं है। यहां पर, देश की समृद्धि और अच्छे स्वास्थ्य के लिए आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रम दुनिया में सबसे अच्छे माने जाते हैं। यहां पर सरकार लोगों की स्वास्थ्य और मूल जीवन से संबंधित उन सभी ज़रूरतों का ख़याल रखती हैं जो एक आम जीवन जीने के लिए आवश्यक होती है।

सिर्फ आप ही हैं जो अपनी ख़ुशी का कारण बन सकते हैं। तो उठिये और इन खुशहाल देशों में घूमकर आइए।

This is aawaz guest author account