कहते हैं ना कि एक अच्छी कहानी के लिए भी अच्छा बैकग्राउंड म्यूज़िक जरूरी है। आपकी जिंदगी भी एक कहानी की ही तरह है, जिसे इंट्रेस्टिंग बनाने के लिए आपको समय-समय पर सुरों का साथ लेना चाहिए। खास तौर पर उन घुमक्कड़ लोगों के लिए, जो ट्रैवलिंग के दीवाने होते हैं। ऐसे लोग सोलो ट्रैवलर ही नहीं, बल्कि अपने दोस्तों के साथ भी सैर करना पसंद करते हैं। ज़ाहिर है आपको अपने ट्रेवलिंग एक्सपीरियंस को और बेहतर बनाने के लिए एक अच्छे संगीत की ज़रुरत होगी।

जब बात हो गानों की, तो भारत के लोग बॉलीवुड म्यूज़िक के दीवाने होते हैं। खास तौर पर ट्रैवेल सॉन्ग्स, जो आपके सफर का मज़ा दोगुना कर देते हैं। आइए बात करते हैं बॉलीवुड के ऐसे ट्रैवेल सॉन्ग्स के बारे में, जो आपके सफ़रनामे को एक नई मंजिल देगा।

फिल्म तमाशा: सफरनामा

किसी अनजाने शख्स के साथ अनजाने सफर का मज़ा तो आता ही है। मंज़िल की तलाश में अनजानी राहों से गुज़रना किसे अच्छा नहीं लगता। अगर आप भी ऐसे ही सफर पर हैं, तो यह गाना आपके लिए ही बना है।

फिल्म जब हैरी मेट सेजल: सफ़र

घर से दूर जब लोग दुनियादारी में फंस जाते हैं, तो हर शख्स खुद को यही याद दिलाता है कि ज़िंदगी एक सफ़र की तरह ही है। यह एक ऐसा सफ़र है, जो उसे पूरा करना ही है। तो क्यों न इस सफ़र में कुछ सुरों का साथ ले लिया जाए?

फिल्म दिल चाहता है: दिल चाहता है

दोस्त, एक ऐसी कुंजी है, जिससे हर ताला खुल जाता है। जो भी परेशानी हो, दोस्त उसे मिनटों में सुलझा सकते हैं। तो क्यों न इस दोस्ती के नाम एक गाना सुना जाए? यह गाना आप अपने दोस्तों के साथ सुनिए और उन खट्टे-मीठे पलों को याद कीजीए जो ज़िंदगी को रंगीन बनाते हैं।

फिल्म ज़िन्दगी ना मिलेगी दोबारा: एक जूनून

वह ज़िंदगी ही क्या, जिसमें कोई जूनून न हो। ऐसे में तो शख्स एक लाश की ही तरह होता है, किसी बात का जूनून ही उसे जीने का सलीका देता है। इसी जूनून को याद दिलाता ये गाना आपके सफ़र को एक नयी ऊंचाइयां देगा।

फिल्म स्वदेश: यूं ही चला चल राही

हर व्यक्ति एक राही की ही तरह होता है, जो अपनी मंज़िल की तलाश में अनजानी राहों से गुज़रता है। लोगों से अपनी मंज़िल का पता पूछता हुआ वह कई दोस्तों से मिलता है। ये दोस्त उसके सफ़र में जुड़कर एक टीम की तरह हो जाते हैं।अपनी उसी दोस्ती को याद करते हुए ये गाना आपके सफ़र में चार चांद लगा देगा।

फिल्म रॉय: सूरज डूबा है यारों

ज़िन्दगी का मज़ा तो तभी है, जब आप इसे एन्जॉय करें। शाम ढलते ही अपने दोस्तों के साथ पार्टीज़ करना हर कोई चाहता है तो क्यों न आप भी अपने दोस्तों के साथ इसका मज़ा लें।

फिल्म ये जवानी है दीवानी: इलाही

हर सफ़र आपको कुछ न कुछ सीखा कर जाता है। आप रोज़ नई चीज़ें सीखते हैं और ऐसे में ये बेहतरीन गाना आपके दिल की बात आपके कानों तक पहुंचता है। इस गाने के साथ राहों का मज़ा उठाने की बात ही कुछ और है। क्यों न आप भी इसे ट्राय करें?

फिल्म क्वीन: ओ गुजरिया

अपनी गर्ल गैंग के साथ छुट्टियां मनाने का प्लान है? तो अपने अंदर छुपी गुजरिया को बाहर आने से ना रोकें। उस गुजरिया को खुलकर मज़े करने दें। यही बात आपसे इस गाने के ज़रिये हम भी कहना चाहते हैं। तो देर किस बात की, फैलाइये अपने पंख और भरिये लम्बी उड़ान।

फिल्म हाइवे: पटाका गुड्डी 

अपने आप को रोक कर तो हर कोई जीता है, लेकिन एक समय ऐसा आता है, जब आप इस दुनिया को भूलकर खुद में गुम हो जाना चाहते हैं। यह गाना भी आपको यही सीख देता है। आपके अंदर की उस पटाका गुड्डी के नाम कीजिये ये गाना और निकल जाइए एक लम्बे सफर पर।

फिल्म मेरे ब्रदर की दुल्हन: धुण की लागे

दिल तो बच्चा सा होता है, उसे दुनियादारी की कहां समझ होती है? लेकिन हम अक्सर इस दिल की बातों को दरकिनार कर देते हैं। लेकिन अब वक्त आ गया है, जब आपको दिल की धुन पर थिरकना चाहिए। क्यों न अपने दिल की बातों को सुन कर एक ऐसे सफ़र पर चलें, जिसकी कल्पना आप लम्बे समय से कर रहे थे।

ये भी पढ़ें: क्या आप भी गब्बर, जोधा या रानी पदमावती हैं?

तो आप भी हो जाइए तैयार, पैक कीजिये अपना बैग और निकल पड़िए एक ऐसे सफ़र पर, जो आपको नए आयामों तक ले जाएगा।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..