ट्रेवलिंग पसंद करने वाले लोगों में से कुछ लोग ऐसे होते हैं, जो बाइक से रोड ट्रिप पर जाना बेहद पसंद करते हैं। अगर आप भी रोड ट्रिप पर जाने के शौकीन हैं, तो आपके लिए यह जानकारी बेहद ज़रूरी है। कॉलेज के दोस्तों के साथ जाना हो या अपने चाहने वालों के साथ बाइक पर बैठकर वादियों का मज़ा लेना हो, ये रास्ते आपके रोड ट्रिप में चार चांद लगा सकते हैं।

एक राज्य से दूसरे राज्य तक फैली इन लंबी-लंबी सड़कों को देखकर आपका दिल भी झूम उठेगा। आइए जानते हैं भारत की कुछ ऐसी सड़कें, जो जन्नत से कम नहीं है।

पुरी से कोणार्क

ऐसे समुद्री रास्ते आपने पहले कभी नहीं देखे होंगे

समुद्र के किनारे किनारे लंबी लंबी सड़कों पर बाइक चलाने का मज़ा ही कुछ और होता है। यह मज़ा आप भी ले सकते हैं, पूरी से कोणार्क जानेवाले हाईवे NH 203 पर आपना रोड ट्रिप प्लान करके। हालांकि यह हाईवे, सिर्फ हाईवे नहीं है।  36 किलोमीटर का यह रास्ता आपके ज़हन में कई यादें छोड़ जाएगा। आप भी अगर इसका मज़ा लेना चाह रहे हैं तो यहां आपको सितंबर से मार्च के बीच रोड ट्रिप प्लान करना चाहिए।

गुवाहाटी से तवांग

पहाड़ों के बीच से होकर गुज़रते हैं ये रास्ते

गुवाहाटी से तवांग के बीच फैली यह रोड या यूं कहें कि पहाड़ों के बीच से जाते हुए ये रास्ते आपको नॉर्थ-ईस्ट की खूबसूरती से रूबरू करवाएंगे। घने पेड़ो के बीच से निकलते यह रास्ते काफी सकरे होने की वज़ह से आपके लिए चैलेंजिंग हो सकते हैं, लेकिन इसकी खूबसूरती आपका मन मोह लेगी। गुवाहाटी से तवांग जाने वाले इस रास्ते की दूरी 520 किलोमीटर है। आपको इन रास्तों का मज़ा लेना है तो मार्च से अक्टूबर के बीच कभी भी प्लान बना सकते हैं।

चेन्नई से पॉन्डिचेरी

ईस्ट कोस्ट रोड के नाम से फेमस है ये रोड

ईस्ट कोस्ट रोड के नाम से फेमस चेन्नई से पॉन्डिचेरी का रास्ता लगभग खाली रहता है। समुद्र के किनारे और साथ साथ चलते इस रास्ते पर जाना आपको ऐसी शांति देगा, जिसे आप ज़िंदगी भर अपने मन में बसाए रख सकते हैं। इस रास्ते पर चलते चलते आपको कई बीचेज़ भी मिलेंगे, जहां आप रुक कर मौज़ कर सकते हैं। वहीं आप इन रास्तों का आनंद भी उठा सकते हैं। चेन्नई से पॉन्डिचेरी के बीच की दुरी  107 किलोमीटर है। आपको यहां सितंबर से मार्च के बीच में जाना चाहिए।

विशाखापट्टनम से अरकू वैली

हिल स्टेशन तक की इस यात्रा के दीवाने हैं लोग

जैसा कि सभी जानते हैं और अरकू वैली एक हिल स्टेशन है और विशाखापट्टनम से इस हिल स्टेशन की दूरी लगभग 116 किलोमीटर है। आंध्र प्रदेश में बसे इस हिल स्टेशन की खूबसूरती को शब्दों मे बयां नहीं किया जा सकता। इसकी खूबसूरती को समझने के लिए आपको खुद जाकर यहां प्रकृति के नज़ारे देखने चाहिए। अगर आप विशाखापट्टनम से अरकू वैली तक के रोड ट्रिप पर जाते हैं, तो आपको रास्ते में गुफाएं, झरने, घुमावदार रास्ते और हरियाली से सराबोर वातावरण दिखाई देगा। एक बार आप यहां जाकर इस जगह को कभी नहीं भूल पाएंगे। यहां आपको अक्टूबर से मार्च के बीच में जाना चाहिए।

मनाली से लेह हाईवे

लेह की वादियों का मज़ा कुछ ऐसे लीजिये

मनाली की खूबसूरती के बारे में तो सभी जानते हैं और लेह की खूबसूरती के लोग दीवाने हैं, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है मनाली से लेह के बीच का 479 किलोमीटर का यह लंबा रास्ता कितना खूबसूरत होगा? पहाड़ियों के बीच से होकर जाने वाले घुमावदार रास्ते खूबसूरत होने के साथ साथ खतरनक ज़रुर हैं लेकिन दावा है कि इन रास्तों को देख कर आपका मन आनंदित हो जाएगा। बड़े-बड़े पहाड़ और झरने से होकर जाते हुए रास्ते आप को बेहतरीन यादें दे कर जाएंगे। यहां आपको मई महीने से मिड अक्टूबर के बीच ट्रैवल करना चाहिए।

अगर आप भी प्लान कर रहे हैं ऐसी ही एक रोड ट्रिप, तो इन रास्तों को चुने और अपनी इस ट्रिप को ज़िंदगी भर के लिए यादगार बनाएं। हम आपको रोड ट्रिप से जुड़ी कुछ ऐसी ही रोचक बातें बताते रहेंगे, तब तक के लिए पढ़ते रहिए हॉट फ्राइडे टॉक्स!

फोटो क्रेडिट: स्कूपव्हूप

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..