ऑफिस में अपने कलीग्स की सोच को बदलना कोई आसान काम नहीं है। आप इस बात की अपेक्षा नहीं कर सकते कि लोग केवल आपके द्वारा पेश किये गए फैक्ट्स को सुन कर उस बात पर अपनी हामी भरेंगे। अब आप माने या ना माने, लेकिन केवल फैक्ट्स के दम पर लोगों की सोच बदली नहीं जा सकती। लोगों की सोच को बदलने के लिए आपको उनके विश्वास को जीतना पड़ता है और लोगों का विश्वास जीतना भी आसान नहीं होता है। आम तौर पर लोग उन्ही बातों को मानना चाहते हैं और उन्ही तथ्यों पर विश्वास करना चाहते हैं जो उनके दिमाग में बस चुकी हैं। अब इन बातों और तथ्यों को हटा कर उनके विचार बदलने के लिए आपको थोड़ी ज़्यादा मेहनत करनी पड़ती है। चलिए देखते हैं कि इस मुश्किल काम को आप आसान कैसे बना सकते हैं।

उनकी सोच को स्वीकार करें और समझें

शुरुआत में जितना हो सके उतना उन्हें समझने की कोशिश करें।

Image Credit:

यदि आप उनकी सोच को स्वीकार कर उन्हें समझने की कोशिश करते हैं, तो आपके प्रति उनका झुकाव आसानी से हो सकता है। इसलिए सबसे पहले तो उनके विचारों को महत्त्व दें और बातचीत करते समय एक विषय ढूंढने की कोशिश करें, जिससे आप दोनों की सोच थोड़ी-बहुत मिलती हो। एक ऐसा माहौल बनाएं कि उस विषय के बारे में वे आपसे खुल कर बात कर सके। लेकिन इसके लिए पहले उन्हें यह विश्वास दिलाएं कि आप उन्हें और उनकी सोच को समझते हैं। शुरुआत में ही अपने विचारों को उन पर थोपने की गलती ना करें। ऐसा करने से वे आपके विरुद्ध जा सकते हैं।

शुरुआत कुछ इस तरह करें

यह काम बहुत आसान है। आपको धीरे-धीरे उन्हें यह एहसास दिलाना है कि जिन तथ्यों और चीज़ों पर वे विश्वास करते हैं, उनमे बहुत खामियां हैं। यह करते समय बहुत चतुराई से आपको उनके हर विचार में छिपी खामी का कारण उन्हें समझाना है। यह काम अच्छे से करने के लिए आप उनके साथ उनके विचारों से जुड़े सवाल-जवाब कर सकते हैं। आपको उन्हें यह नहीं बताना है कि उनकी सोच गलत है, आपको बस उन्हें इस बात का एहसास दिलाना है कि इस सोच के साथ उन्हें आगे चल कर ज़्यादा फायदे नहीं होंगे। ऐसा करने से उन्हें यह भी नहीं लगेगा कि आप उनकी सोच को गलत ठहरा रहे हैं और वे आपकी बात भी समझ जाएंगे।

आखरी पड़ाव

समय आ गया है कि आप उन्हें अपनी सोच की ओर आकर्षित करें

Image Credit:

चूंकि अब आपके सवालों के कारण खुद की सोच से उनका विश्वास हटने लगा है, यही सही समय है जब आप अपने विचारों को उनके दिमाग में डालने की कोशिश कर सकते हैं। उन्हें आपकी सोच से जुड़े सभी फायदे और लाभ बताएं। फिर बहुत प्यार से उन्हें अपनी इस विचारधारा के पीछे का कारण और मतलब समझाएं। यही कोशिश करें कि वे आपकी इस सोच के साथ कनेक्ट कर सकें।