पीरियड्स एक स्थिति है, जो महिलाओं को हर महीने झेलनी पड़ती है। किसी भी महिला को पीरियड्स के दौरान काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। हमारे बीच कई ऐसी महिलाएं हैं, जो अनियमित पीरियड्स से की वजह से स्वास्थ्य समस्याओं को झेल रही हैं। ऐसे में अगर पीरियड्स समय पर ना आए, तो महिलाओं के मन में आशंका घर कर जाती है कि कहीं वे प्रेग्नेंट तो नहीं? यह एक आम धारणा बन चुकी है कि यदि पीरियड्स मिस होते हैं, तो वह प्रेग्नेंट हैं। यदि आप भी ऐसा ही सोचते हैं, तो आप गलत हैं। जानीमानी गायनेकोलॉजिस्ट शेफाली जैन कहती हैं कि पीरियड्स में अनियमितता कई कारणों की वजह से हो सकती है। यहां तक कि यदि आप प्रेग्नेंट ना हों, तब भी स्वास्थ्य समस्याओं की वजह से कई महीनों तक आपको पीरियड्स ना आने की समस्या हो सकती हैं। इसीलिए आज हम आपको कुछ ऐसी समस्याओं के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी वजह से आपके पीरियड्स मिस हो सकते हैं।

स्ट्रेस

ज्यादा तनाव लेने की वजह से इसका सीधा असर आपके हार्मोनल संतुलन पर पड़ता है

यदि बात करें आजकल की लाइफस्टाइल की, तो काम के तनाव में हम पूरा दिन बिताते हैं। 12 घंटों तक लगातार काम करने के बाद हम 4 घंटे की सुकून भरी नींद भी नहीं ले सकते। ऐसे में यदि महिलाएं ज़्यादा स्ट्रेस से गुज़रती हैं, तो इसका असर उनके पीरियड्स पर पड़ता है। ज्यादा तनाव लेने की वजह से इसका सीधा असर आपके हार्मोनल संतुलन पर पड़ता है और यह बिगड़ने लगता है। इसीलिए पीरियड्स में हार्मोनल असंतुलन की वजह से भी देरी होती है।

वज़न

आपको जानकर हैरानी होगी कि शरीर का वज़न भी हमारे पीरियड्स की अनियमितताओं का कारण बढ़ सकता है। यदि किसी महिला का वज़न बेहद कम है, तो इसका असर उसके मासिक धर्म पड़ सकता है। इसीलिए यदि आपकी लम्बाई के अनुसार आपका वज़न कम है, तो पीरियड्स में अनियमितताएं देखी जा सकती हैं।

एक्सरसाइज़

ज़रुरत से ज़्यादा एक्सरसाइज़ करने से आपका हार्मोनल बैलेंस बिगड़ जाता है

क्या आपने कभी यह सुना है कि किसी महिला ने ज़रूरत से ज्यादा एक्सरसाइज़ कर ली हो और इसकी वजह से उसे स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ा हो? जहां एक ओर सभी एक्सपर्ट्स एक्सरसाइज़ करने की सलाह देते हैं, वहीं ये बात भी सच है कि अत्यधिक एक्सरसाइज़ भी आपके शरीर के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है। दरअसल ज़रुरत से ज़्यादा एक्सरसाइज़ करने से आपका हार्मोनल बैलेंस बिगड़ जाता है और इसकी वजह से समय पर पीरियड्स नहीं आते। इसीलिए हमेशा ट्रेनर की सलाह से ही एक्सरसाइज़ करनी चाहिए।

पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम

आज कल की मॉडर्न जीवनशैली की वजह से महिलाओं में आम तौर पर पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम की समस्या बढ़ गई है। इस समस्या के कारण महिलाओं में अनियमित पीरियड्स की शिकायत बनी रहती है। वहीं इस समस्या में महिलाओं के पीरियड्स अनियमित होने के साथ-साथ वज़न का बढ़ना, चेहरे पर दाग-धब्बे, बाल झड़ने जैसी समस्याएं भी दिखाई देते हैं।

इसीलिए यदि आपके पीरियड्स अनियमित हैं, तो जल्द से जल्द गायनेकोलॉजिस्ट से बात करने की, समय-समय पर डॉक्टर से सलाह लेने और शारीरिक स्वास्थ्य का ध्यान रखने की भी सलाह आपको दी जाती है।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..