आज दुनिया भर में पांचवां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस यानी कि इंटरनैशनल योग डे मनाया जा रहा है। यही वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए रांची पहुंचे हैं। इस बार योग डे की थीम ‘योग फॉर हार्ट रखी’ गई है, जिसमें ये बताया गया है कि रोज़ाना योग करने से दिल की बीमारियों का खतरा 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है। आज इस इंटरनैशनल योग डे पर हम आपके लिए रोज़मर्रा की कुछ ऐसी समस्याओं का निदान लेकर आए हैं, जो आपको हमेशा परेशान किये रहती है। आज हमें कुछ स्वास्थ्य समस्याओं से निदान के गुर सिखाने जा रहे हैं योगाचार्य सुनील पांडे। आइये जानते हैं, हम किस तरह योग की मदद से इन समस्याओं का समाधान पा सकते हैं।

प्राणायाम है ज़रूरी

योगाचार्य सुनील पांडे की माने तो किसी भी व्यक्ति के लिए उसके त्रिदोष, वात, पित्त और कफ यदि सही स्तर पर बने रहते हैं, तो व्यक्ति के बीमार होने की आशंका नहीं होती। इन त्रिदोषों को बैलेंस करने के लिए प्राणायाम का अभ्यास करना बेहद ज़रूरी है। आप अपने शरीर और ज़रूरतों के अनुसार प्राणायामों का चलन कर सकते हैं। श्वास-प्रश्वास की प्रक्रिया, जिसे प्राणायाम का नाम दिया गया है, इसकी सिर्फ टेक्निक अलग-अलग होती है। इन प्राणायामों में प्राणधारणा प्राणायाम, अनुलोम-विलोम, भस्त्रिका, कपालभाति और भ्रामरी प्राणायाम आप कर सकते हैं।

श्वास-प्रश्वास की प्रक्रिया, जिसे प्राणायाम का नाम दिया गया है, इसकी सिर्फ टेक्निक अलग-अलग होती है

ब्रीदिंग इशू से निदान

ब्रीदिंग इशू आज एक ऐसी समस्या बनती जा रही है, जिसपर रोक लगाना सरकार के लिए भी नामुमकिन हो गया है। बढ़ते प्रदुषण और हानिकारक वातावरण की वजह से लोगों में एलर्जी से जन्म लेनेवाले ब्रीदिंग इशू नज़र आ रहे हैं। ऐसे में इसे योग की मदद से कैसे ठीक किया जाए, यह हमें जानना बेहद ज़रूरी है। सुनील पांडे जी की मानें, तो अस्थमा, एलर्जी, साइनस, नाक में ब्लॉकेज इत्यादि समस्याएं लोगों को बेहद करती हैं। लेकिन इनका निदान प्राणायाम की रोज़ाना प्रैक्टिस से संभव है। इसके अलावा आप फेफड़ों को मज़बूत बनाने के लिए आसनों का सहारा भी ले सकते हैं, जिसमें भुजंगासन और उष्ट्रासन मुख्य तौर पर जाने जाते हैं।

इम्युनिटी क्यों है ज़रूरी

किसी भी स्वास्थ्य समस्या को दूर रखने और शरीर को संक्रमणों से बचाने के लिए इम्युनिटी का मज़बूत होना बेहद ज़रूरी है। हमारी इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए कई ऐसे योगासन हैं, जिसका अभ्यास आपको रोज़ाना करना चाहिए। इनमें पर्वतासन, पश्चिमोत्तानासन, मत्स्येन्द्रआसान और उष्ट्रासन जैसे कुछ आसन हैं, जो आपको ज़रूर करने चाहिए।

हमारी इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए कई ऐसे योगासन हैं, जिसका अभ्यास आपको रोज़ाना करना चाहिए

बैकपेन की समस्या से छुटकारा

लगातार बैठकर काम करने और रोज़ाना व्यायाम ना करने की वजह से हमारे शरीर के कई हिस्सों में जकड़न आ जाती है। इसमें सबसे ज़्यादा परेशान करनेवाली समस्या होती है बैकपेन की, जिसकी वजह से हम ठीक से बैठ नहीं पाते। लेकिन इस तकलीफ से छुटकारा पाने के लिए योगाचार्य सुनील पांडे हमें बता रहे हैं कुछ ऐसे आसनों के बारे में, जिसका अभ्यास करने के बाद आप स्वस्थ महसूस करते हैं और बैकपेन की समस्या से आपको छुटकारा मिल जाता है। बैकपेन में आप कन्द्रासन, वक्रासन, चक्रासन और पवनमुक्तासन जैसे आसनों की मदद ले सकते हैं। इन आसनों को करने से पहले आपको किन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना है, आइये जानते हैं योगाचार्य सुनील जी से इस एपिसोड में।

योगशाला

तो जैसे कि आपने सुना, आज इंटरनैशनल योग डे पर योगाचार्य सुनील पांडे जी आपकी रोज़मर्रा की समस्याओं के निदान से हमें रूबरू करवाया। ऐसे ही हमारे शो योगशाला में आपको आगे और भी कई समस्याओं के निदान की जानकारी मिलती रहेगी। तब तक के लिए सुनते रहिये आवाज़ डॉट कॉम।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..