आज के दौर में लोग ज़्यादा और नौकरियां कम होती जा रही है। ऐसे में कॉलेज से निकलने के बाद ज़रूरी नहीं कि आपको कैंपस के ज़रिए नौकरी मिल ही जाए। इस दौरान कैंपस सिलेक्शन के अलावा जॉब फेयर्स में भी लोगों को हिस्सा लेते हुए देखा गया है। इन जॉब फेयर्स में कई हजार विद्यार्थी नौकरी पाने की उम्मीद में भाग लेते हैं, लेकिन इससे संबंधित कुछ खास बातें ऐसी हैं, जिसके बारे में आपको ज़रूर जानना चाहिए। यदि आप भी जॉब फेयर में हिस्सा लेने के बारे में सोच रहे हैं, तो आपको इसके फायदे और नुकसान से जुड़ी यह खबर ज़रूर पढ़नी चाहिए।

कंपनियों के लिए फ़ायदेमंद जॉब फेयर्स

यहां कंपनियों को फ्रेशर्स के अलावा एक्सपीरियंस्ड एम्प्लॉयी भी मिलते हैं

मुंबई की जानी-मानी कंपनी की एचआर शीतल पवार की माने, तो कंपनियों के लिए जॉब फेयर्स बेहद फ़ायदेमंद होते हैं। उन्हें एक ही स्थान पर बिना कहीं जाए हर तरह के एम्प्लॉयी मिल जाते हैं। साथ ही इन जॉब फेयर्स के ज़रिये कंपनी के ब्रांड को लेकर लोगों के बीच जागरूकता बढ़ती है। यहां कंपनियों को फ्रेशर्स के अलावा एक्सपीरियंस्ड एम्प्लॉयी भी मिलते हैं, जिसे वे अपनी ज़रुरत के मुताबिक हायर कर सकते हैं। इसके अलावा कंपनियों को इंडस्ट्री में मौजूद दूसरी कंपनियों के प्रतिभागियों को भी चुनने का मौका मिल जाता है। ऐसे में ये जॉब फेयर्स कंपनियों को बेहद फायदा पहुंचाते हैं।

एम्प्लॉयी के लिए फायदा या नुक्सान?

वैसे तो जॉब फेयर्स कंपनियों को दोगुना फायदा देते हैं, लेकिन एम्प्लॉयी के लिए भी इन जॉब फेयर्स के कुछ फायदे और कुछ नुकसान होते हैं। अगर हम जॉब फेयर्स के फायदे की बात करें, तो इससे लोगों को अपनी फ़ील्ड में वर्क कल्चर को समझने का मौका मिलता है। साथ ही एक साथ कई तरह की कंपनियां उन्हें एक ही स्थान पर मिलती है, जिससे अलग-अलग तरह के प्रतिनिधियों को मिलने का मौका उन्हें मिलता है। अलग-अलग कंपनियों और उद्योगों को देखने के साथ-साथ उनसे जुड़े सवाल जवाब करने का मौका भी इन फेयर्स में लोगों को मिल जाता है। फेयर्स का एक बड़ा फायदा ये है कि बहुत सारे प्रतिभागी होने के कारण आपको सबसे बढ़िया ऑफर कंपनी की तरफ से मिल सकता है, जिसके लिए आपको रेज़्युमे भेज कर नौकरी के लिए इंतज़ार करने की ज़रुरत नहीं पड़ती। इसके अलावा आप तुरंत प्रतिनिधियों से मुलाकात कर।

साथ ही इसके कई नुकसान भी हैं। एक साथ अलग-अलग कंपनी और जॉब होने की वजह से आप कंफ्यूज हो सकते हैं और ऐसी दुविधा की स्थिति में अक्सर सही नौकरी का चुनाव नहीं कर पाते। इन फेयर के लिए खर्च किया हुआ पैसा और समय दोबारा नहीं आता। ज़्यादा प्रतिभागी होने की वजह से प्रतिनिधि एक व्यक्ति को ज्यादा समय नहीं दे सकते, जिसके कारण कम समय में आपको कुशलता साबित करनी होती है। ये आपके लिए चैलेंजिंग काम साबित हो सकता है।

जॉब फेयर जाने से पहले रखें ये ख्याल

यह फेयर आपके प्रोफाइल से मैच करता है या नहीं यह भी देखना आपके लिए बेहद जरूरी है

यदि आप भी जॉब फेयर का हिस्सा बनने के बारे में सोच रहे हैं, तो आपको सबसे पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना चाहिए, जिससे आप लाइन में लगकर समय बर्बाद करने से बच सकें। इसके अलावा किसी भी फेयर में हिस्सा लेने से पहले उससे जुड़ी हर जानकारी हासिल करें, ताकि आपके पैसे और समय की बर्बादी ना हो। साथ ही यह फेयर आपके प्रोफाइल से मैच करता है या नहीं यह भी देखना आपके लिए बेहद जरूरी है। इन बातों का ख़्याल रख कर आप जॉब फेयर्स के ज़रिये नौकरी पा सकते हैं।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..