किसी भी नौकरीपेशा व्यक्ति के लिए सबसे बुरी खबर क्या हो सकती है ? यही ना कि आपकी सैलरी कम कर दी जाए ? नौकरीपेशा लोगों के लिए यह किसी बुरे सपने जैसा है। हालांकि, कई संस्थानों में ऐसा हो रहा है। अधिकांश मामलों में कंपनियों की माली हालत खस्ता होने के चलते एम्प्लोई पर इस प्रकार की गाज गिरते देखी जा सकती हैं। वही, कुछ इक्का दुक्का मामलों में कारण पर्सनल भी हो सकते हैं। बात चाहें जो भी हो, किसी भी एम्प्लोई के लिए अपनी सैलरी में कमी की बात को पचा पाना आसान नहीं होता है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि सैलरी कम होने की सिचुएशन में क्या किया जाए? आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको इसी विषय से जुड़ी कुछ काम की बातें बताएंगे। तो आइए शुरू करते हैं।

पूरी जानकारी लेना आपका अधिकार

यदि आप सैलरी कट जैसी किसी भी सिचुएशन का सामना कर रहे हैं तो आपको अपने रिपोर्टिंग मैनेजर या HR से वास्तविक स्थिति की जानकारी लेने का पूरा अधिकार है। आपको पता होना चाहिए कि ऐसा क्यों हो रहा है ? क्या सिर्फ आप ही हैं जिसकी सैलरी कम हो रही है या बाकी और भी लोग हैं ? क्या निकट भविष्य में सैलरी करेक्शन होने की उम्मीद है ? आदि। यह सब आपके लिए जानना इसलिए ज़रूरी है क्योंकि सैलरी कम होने का सीधा असर सिर्फ और सिर्फ आप पर ही पड़ने वाला है। ऐसे में आपको वास्तविकता का पता होना चाहिए।

जब अचानक कम कर दें आपकी सैलरी तो क्या करें ?

किन भत्तों पर पड़ेगा असर?

Image Credit: forbes.com

क्या अन्य भत्तों पर भी पड़ेगा असर ?

संस्थान ने यदि आपकी सैलरी कम करने का मन बना ही लिया है, तो आपको यह भी पता कर लेना चाहिए कि कहीं आपके अन्य भत्तों जैसे मेडिकल, लीव पॉलिसी, टी.ए, डी.ए, बोनस, या अन्य किसी अलाउंस पर तो इसका असर नहीं पड़ने वाला है। यदि ऐसा है तो आपको अपने रिपोर्टिंग मैनेजर या HR से तत्काल चर्चा करके इनमें से कुछ अलाउंस पर बात करनी चाहिए और इन्हें कम ना करने की रिक्वेस्ट करनी चाहिए। इनमें मेडिकल का अलाउंस सबसे अहम् है। भले ही मैनेजमेंट आपकी सैलरी कुछ कम कर दे, लेकिन मेडिकल एक ऐसा अलाउंस है जिसकी ज़रुरत आपको कभी भी पड़ सकती है। ऐसे में यह अलाउंस कम होना आपके लिए बड़ा नुकसान है।

कंपनी के लॉन्ग टर्म प्लान + विजन पर बात करें

सैलरी कट का डिसीजन कोई सामान्य बात नहीं है। ऐसा होना भविष्य के बड़े खतरों के प्रति एक संकेत है। आपको यह जल्द से जल्द पता करना चाहिए कि जिस कंपनी में एम्प्लोई की सैलरी बढ़ने की बजाय कम हो रही है उसका खुद का भविष्य क्या है ? यदि आपको यह समझ में आता है कि जिस कंपनी में आप काम कर रहे हैं उसका खुद का कोई भविष्य नहीं है तो ज़रूरी है कि आप समय रहते अपनी नौकरी बदल लें। कंपनी के विजन के चक्कर में कहीं आपका करियर गोते ना लगाने लगे यह समझना बेहद ज़रूरी है।

कहीं यह आपके लिए इशारा तो नहीं

यदि सिर्फ आपकी या कुछ चुनिंदा लोगों की ही सैलरी कम की गई है तो आपको सतर्क होने की ज़रुरत है। यह आपके लिए इशारा भी हो सकता है कि अब कंपनी को आपकी सेवाओं की ज़रुरत नहीं है। ऐसे में अपने संस्थान के मैनेजमेंट से साफ़-साफ़ अपने रोल और परफॉरमेंस के बारे में बात करें। साथ ही आपके लिए बेहतर होगा कि दूसरे विकल्प तलाशना जल्द से जल्द शुरू कर दें।

प्लान बी करें तैयार

सैलरी कम होना संकेत हैं कि आपको अपनी आय का कोई ना कोई दूसरा सोर्स समय रहते तैयार कर लेना चाहिए। अपनी स्किल्स के हिसाब से इनकम का कोई ना कोई सोर्स तलाशना ही प्लान बी है। चूंकि प्राइवेट जॉब में अनिश्चितता का दौर हमेशा ही रहेगा ऐसे में ज़रूरी है कि प्लान बी पर काम किया जाए। यह ना सिर्फ आपको बुरे समय से बचने में काम आयेगा बल्कि जॉब पर आपकी डिपेंडेंसी भी कम करेगा।

This is aawaz guest author account