आज दुनिया में आधी से ज़्यादा आबादी महिलाओं की है, ऐसे में बिज़नेस की दुनिया में महिलाओं को अभी भी एक लीडर बनने के लिए सक्षम नहीं समझा जाता है। सब ये भूल जाते हैं कि जब भी महिलाओं को सामने आकर अपनी प्रतिभा के अनुसार काम करने का अवसर दिया जाता है, तो वे हमेशा पुरुषों के बराबर अथवा उनसे बेहतर काम कर के दिखाती है और कंपनी की सफलता में एक महत्वपूर्ण योगदान देती है। लेकिन आज भी बहुत से लोग इसी विचारधारा का पालन करते हैं कि एक पुरुष कर्मचारी के गुण और प्रतिभा लीडर बनकर बिज़नेस को आगे लेकर जाने के लिए ज़्यादा बेहतर है। हमें इस विचारधारा को बदलकर महिलाओं को भी लीडर बनने के सामान अवसर मिले इसके लिए कदम उठाने चाहिए। ऐसा करने के लिए हमें पहले इन बातों को समझना पड़ेगा –

आज दुनिया में विविधता होना है ज़रूरी

महिला लीडर्स नए और ओरिजिनल विचार के साथ-साथ बिज़नेस के लिए फ़ायदेमंद सुझाव लेकर आती हैं, जिसकी फिलहाल दुनिया को बहुत ज़रूरत है।

Image Credit: Pexels.com

आप सभी ने यह तो ज़रूर सुना होगा कि महिला लीडर्स की वजह से बिज़नेस में विचारों और प्रतिभा की विविधता आती है, जिसका सीधा-सीधा प्रभाव कंपनी की आर्थिक सफलता पर पड़ता है। यह 100% सच है। लेकिन, हमें अधिक से अधिक महिला लीडर्स की ज़रूरत सिर्फ अपने बिज़नेस को आगे लेकर जाने के लिए ही नहीं है, बल्कि इसलिए भी है जिससे हम इस दुनिया को एक विविध और और मूल्यवान जगह बना सके। यह देखा गया है कि महिला लीडर्स ना केवल नए और ओरिजनल विचार लेकर आती हैं, बल्कि उनके सुझाव बिज़नेस के लिए फ़ायदेमंद भी होते हैं। किसी भी समस्या का हल ढूंढने का उनका नज़रिया काफी अलग और हटकर होता है और आज पूरी बिज़नेस कम्युनिटी को इसी की ज़रूरत सबसे ज़्यादा है।

महिलाओं को अपना हक़ मिलना चाहिए

महिलाएं हमेशा से ही बिज़नेस की दुनिया में असमानता और भेदभाव का शिकार रही हैं, इसलिए अब समय आ गया है कि हम उन्हें उनका हक़ दें।

Image Credit: Unsplash.com

बिज़नेस में ज़्यादा से ज़्यादा महिलाओं को लीडर बनाने के पीछे सबसे पहला कारण है कि हमें बिज़नेस में नए विचारों, नए नज़रिये, नई कार्य शैली और विविधता की ज़रूरत है। चूंकि बहुत से लोग इसी बात को समझने में चूक जाते हैं, तो हम उनसे ‘महिलाओं के हक़’ को समझने की उम्मीद ही छोड़ देते हैं। हमें तो महिलाओं को इतना सशक्त बनाना चाहिए कि वे अपनी काबिलियत के दम पर अपने ऑफ़िस में एक लीडर बन सके और अपना हक़ पा सके। महिलाओं को आवश्यक ज्ञान और स्किल्स प्रदान करने के लिए हम उनके लिए कुछ विशेष मैनेजमेंट प्रोग्राम्स का भी आयोजन कर सकते हैं। महिलाओं ने बहुत समय तक बिज़नेस की दुनिया में असमानता और भेदभाव का सामना किया है, इसलिए अब उन्हें उनका हक़ ज़रूर मिलना चाहिए। इसलिए, यदि आज आपको किसी योग्य महिला को ऑफ़िस में एक लीडर बनाने का अवसर मिले, तो उसके लिए काम करें, उन्हें प्रोत्साहित करें और उन्हें लीडर बनाए।