आज है, और पूरी दुनिया में इसे मनाये जाने का एक ही कारण है – और वो ये कि हमें आपकी फ़िक्र है।

हो सकता है आप खुद को पूरी तरह से अकेला महसूस कर रहे हैं, या हो सकता है कोई भी आपकी बात सुनने या समझने की कोशिश नहीं कर रहा है। या शायद लोग हमेशा आपको गलत समझते हैं, या अपनी तरह से ज़िंदगी बिताने के लिए आपके लिए गलत राय बनाते हैं।

डिप्रेशन और आत्महत्या जैसे ख्याल हम में से कईयों के मन में आता है और आपको ये जानकार आश्चर्य भी हो सकता है कि आप ही के आस पास के कई लोग भी ऐसी ही चीज़ों से गुज़र चुके हैं या गुज़र रहे हैं।

अगर आपको लगता है कि कोई आपके डिप्रेशन या सूइसाइड के ख्यालों को समझ नहीं पा रहा है, या ध्यान नहीं दे रहा है, या अगर कोई भी आपकी मदद करने के लिए आगे नहीं आ रहा है – तो ऐसे में आप अपना ध्यान रखने के लिए खुद ही मदद मांग सकते हैं, और आप ही अपने लिए खड़े भी हो सकते हैं।

ऐसे में आप ये सब ज़रूर कर सकते हैं।

आपके दोस्त को अभी कॉल करें

अभी फोन उठाइये और अपने दोस्त को फोन लगाइये। उनसे कहिये कि आपको अभी बात करनी है और बहुत ज़रूरी बात है। अगर वो व्यस्त हैं तो उनसे कहिये कि ये वाकई बहुत ज़रूरी बात है और आपको अभी इसी वक़्त उनकी मदद की ज़रुरत है। जब आपकी बात हो और आप अपने दिल की बात उनसे कहते हैं, तो ये भी कहिये कि ये वाकई आपको परेशान कर रहा है और आपको उनकी मदद चाहिए।

हेल्पलाइन पर फोन करें

कई ऐसे हेल्पलाइन हैं जहां आप फोन कर सकते हैं और यहां कोई भी आपको सही या गलत ठहराने की कोशिश नहीं करेगा। और तो और, आपका नाम, आपका नंबर और आप जो भी बात करेंगे वो किसी के साथ शेयर नहीं की जाएंगी।

अपने परिवार के साथ बात करें

talk with someone
बेझिझक कहिये कि आपको उनकी ज़रुरत है

elevatechristiannetwork

हो सकता है कि आपका परिवार आपको समझ ही नहीं पाता है, पर आप हक़ से उन्हें कह सकते हैं कि आप अच्छा महसूस नहीं कर रहे हैं और आपको उनके साथ और मदद की ज़रुरत है।

काम और भाग दौड़ के बीच अपने लिए वक़्त निकालिये। सबकुछ हो जाएगा, मगर पहले आपकी ख़ुशी और सलामती सबसे ज़्यादा ज़रूरी है।