कई बार वर्कलोड, बिजनेस मीटिंग,देर तक पढ़ने या किसी न किसी कारण से हमारी नींद छूमंतर हो जाती है। कई बार जाने-अनजाने हम नींद से दूरी बना लेते हैं जबकि सोना हमारे शरीर के लिए बहुत ज़रुरी है। आइये आपको बताते हैं कम नींद लेने से बॉडी को होने वाले नुकसान के बारे में…

ब्रेन की वर्किंग पर पड़ता है असर: डॉक्टर एसके जैन के अनुसार, सोने के दौरान हमारी बॉडी उसके कैमिकल बैलेंस को मेंटेन करती है। ब्रेन नए कनेक्शन स्थापित करता है और मेमोरी का भी रिटेंशन करता है। अगर आप कम नींद लेने लगते हैं या फिर सोना बंद कर देते हैं तो बॉडी और ब्रेन प्रॉपर तरीके से काम करना बंद कर देती है। इससे आपकी लाइफ की क्वालिटी पर भी काफी असर पड़ता है।कई रिसर्च में यह खुलासा हुआ है कि 6 से 8 घंटे से कम नींद लेने से जल्दी मौत का खतरा 12 प्रतिशत से बढ़ जाता है।

कम नींद का असर आपकी सेहत पर

नर्वस सिस्टम पर पड़ता है बुरा असर

Credits: /c.ndtvimg.com

आपका सेंट्रल नर्वस सिस्टम बॉडी के लिए इनफार्मेशन हाईवे की तरह काम करता है। यह शरीर के विभिन्न अंगों को सूचनाएं प्रदान करता है। इसे सुचारु रखने के लिए सोना बहुत ज़रुरी है। अगर आप सोएंगे नहीं तो नर्वस सिस्टम की कार्य प्रणाली पर असर पड़ेगा और वह दूसरे अंगों को सिग्नल्स नहीं भेज पायेगा।नींद में ब्रेन की नर्व सेल(न्यूरॉन्स) के बीच रास्ता बनता है जिससे आप बातें याद रख पाते हैं। नींद नहीं होने से ब्रेन थक जायेगा और अपनी प्रतिदिन की क्रियाएं भी नहीं कर पायेगा। नतीजतन आप भी जिस नयी चीज को सीखने की कोशिश करेंगे,उसमें कंसन्ट्रेट नहीं कर पाएंगे। बॉडी को सिग्नल्स भी लेट मिलेंगे और इससे आपके को-ऑर्डिनेट करने की कैपबिलिटी कमजोर होगी और एक्सीडेंट होने की सम्भावना बढ़ेगी। इसके अलावा नींद नहीं लेने से आपकी मेंटल और इमोशनल स्टेट पर भी नेगेटिव असर पड़ेगा। मूड़ स्विंग्स होंगे,आपकी डिसीज़न लेने की पॉवर और क्रिएटिविटी पर असर पड़ेगा।

इम्यून सिस्टम भी होगा कमजोर: जब आप सोते हैं,आपका इम्यून सिस्टम इंफेक्शन से लड़ने वाले सायटोकिंस बनाता है। यह बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में मदद करता है। सायटोकिंस साथ ही सोने में मदद करता है और इम्यून सिस्टम को उस दौरान और एनर्जी से भर देता है ताकि वह बीमारियों से लड़ सके। जब आप नहीं सोते तो ऐसा नहीं हो पाता और आपका इम्यून सिस्टम भी कमजोर पड़ने लगता है जिसके कारण आप बीमार पड़ने लगते हैं।

वजन बढ़ने का रिस्क: खूब खाने और फिर एक्सरसाइज न करने के बाद अगर आप नींद भी नहीं लेते तो वजन तेजी से बढ़ने की संभावना होती है। नींद दो हॉर्मोन लेप्टिन और घ्रेलिन के लेवल को कंट्रोल करता है जिससे भूख कंट्रोल होती है। लेकिन जब आप नहीं सोते तो इन दोनों हार्मोन का संतुलन बिगड़ जाता है और वजन बढ़ने लगता है। साथ ही खाने के बाद घ्रेलिनका लेवल भी बढ़ जाता है।इंसुलिन ब्लड शुगर लेवल को कण्ट्रोल करती है और ज्यादा इंसुलिन से टाइप 2 डायबिटीज़ का खतरा होने लगता है।

दिल की सेहत पर असर: जो लोग पर्याप्त नींद नहीं लेते,उन्हें कार्डियोवस्कुलर डिसीज़ का खतरा कई गुना बढ़ जाता है और हार्ट अटैक और स्ट्रोक की सम्भावना रहती है।ऐसा इसलिए क्योंकि सोने से दिल और धमनियां हेल्दी रहती हैं जिससे ब्लड शुगर,ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।

This is aawaz guest author account