मसाले हमारे भारतीय व्यंजनों के लिए स्वाद बढ़ाने का काम करते हैं। इनसे खाने में आने वाला अरोमा भारतीय खाने को देश और दुनिया में प्रसिद्ध कर देता है। यूं तो खाने में उपयोग किये जाने वाले कई मसाले हैं लेकिन एक मसाला है, जो काफी पॉपुलर है और वो है काली मिर्च, जिसे अंग्रेजी में ब्लैक पेपर भी कहते हैं। काली मिर्च का स्वाद तेज होता है और यह साधारण खाने को भी चटपटा बना देता है। इस लो-कैलोरी मसाले में विटामिन ए,के और सी के अलावा कैल्शियम, पोटेशियम और सोडियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सिर्फ स्वाद बढ़ाने के अलावा घर की रसोई में पाई जाने वाली काली मिर्च वजन कम करने में भी मददगार है। जी हां और कैसे ये हम आपको बताते हैं।

भोपाल की डायटीशियन स्वर्णा व्यास के मुताबिक, काली मिर्च में पाइपरिन नाम का एक कंपाउंड होता है जो मेटाबॉलिक परफॉरमेंस बढ़ाता है और शरीर में फैट जमने से भी रोकता है। इसे खाने से गुड कोलेस्ट्रोल की मात्रा भी शरीर में बढ़ती है। साथ ही यह आपकी भूख को बढ़ाता है और कम खाना खाने के बावजूद आपको पेट भरा-भरा लगता है। कई स्टडीज में भी ये साबित हुआ है कि डाइट में कालीमिर्च शामिल करने से वजन घटने की प्रक्रिया तेज होती है। इसके अलावा पाइपरिन कई पोषक तत्वों के शोषण में भी सहायक होता है जिसकी वजह से अलजाइमर और सिरोसिस जैसी बीमारियों की भी रोकथाम होने में मदद मिलती है।

क्या आप जानते हैं काली मिर्च खाने के फायदे?

इन तरीकों से करें काली मिर्च का प्रयोग

Image Credit: namanbharat.net

काली मिर्च की चाय: चाय भारतीयों का पसंदीदा पेय पदार्थ है और इसमें कुछ बदलाव कर आप इसे और ज्यादा सेहतमंद बना सकते हैं।खासकर काली चाय स्वास्थ्य के लिए फ़ायदेमंद मानी गयी है।बस अगर आपको वजन कम करना है तो काली चाय में अदरक के साथ-साथ एक चम्मच काली मिर्च डालकर उसे उबाल लें और पी लें। दिन में रोज एक बार इसे पीने से आपका वजन कम होने में मदद मिलेगी। अगर आपको इसके तेज स्वाद से समस्या नहीं तो आप 2 से 3 काली मिर्च सीधे भी खा सकते हैं। इसे खाली पेट सुबह खाने से आपको पेट सम्बन्धी समस्याओं से निजात मिल जाएगी।

शहद और काली मिर्च: एक पैन में पानी उबालें और फिर उसमें एक चम्मच शहद और आधा चम्मच ताज़ी कुटी हुई काली मिर्च मिलाकर ठंडा होने के लिए रख दें और फिर उसे पी लें।इसे भी हफ्ते में कम से कम तीन बार पीने से शरीर में जमा फैट भी पिघलने लगता है।

काली मिर्च का तेल: आपने इसके बारे में न सुना हो लेकिन यह किसी भी फार्मेसी की दुकान पर आसानी से मिल जायेगा। आपको बस इसकी कुछ बूंदें एक ग्लास पानी में मिलाकर नाश्ते से पहले पीनी हैं।इससे भी वजन कम होने में मदद मिलेगी।

फलों और सब्जियों में काली मिर्च का प्रयोग: आप अगर सीधे काली मिर्च को नहीं खाना चाहते हैं तो आप फलों में या उसके जूस में या फिर सब्जियों में डालकर इसके गुणों का फायदा उठा सकते हैं। इससे आप जूस और सब्जियों का स्वाद तो बढ़ेगा ही और आपको इसे खाने से वजन कम करने में भी मदद मिलेगी।

काली मिर्च के साइड इफेक्ट्स: काली मिर्च में गुणों का ख़ज़ाना ज़रुर छिपा हुआ है लेकिन ध्यान रखें कि इसे बहुत ज्यादा मात्रा में न लें और नियमित मात्रा में ही खाने में शामिल करें। दिन भर में एक-दो चम्मच काली मिर्च से ज्यादा न लें नहीं तो इससे आपको साइड इफेक्ट्स भी झेलने पड़ सकते हैं।अत्यधिक मात्रा में काली मिर्च के सेवन से आपको पेट सम्बन्धी समस्याएं जैसे दस्त, गैस, अपच और पेट दर्द हो सकता है।साथ ही आपको आंतों की वॉल में भी जलन महसूस हो सकती है।साथ ही प्रेग्नेंट महिलाओं को इसे डाइट में ज्यादा शामिल करने से बचना चाहिए क्योंकि इससे मिसकैरिज भी हो सकता है।

This is aawaz guest author account