मिनरल तेल एक ऐसी सामग्री है जो आपको अक्सर अपनी त्वचा के प्रोडक्ट्स, स्किन केयर और मेकअप में मिल जाएगा। ये वही चीज़ है जो आपको एक कोमल और मखमली एहसास देता है, चाहे वो आपकी त्वचा हो या आपके बाल। और अगर आप अभी अपना कोई प्रोडक्ट उठा कर उसकी सामग्री सूची को पड़ेंगे, तो शायद आपको उसमें मिनरल तेल का नाम भी नज़र आ जाएगा।

क्या है मिनरल तेल और क्यों ये खराब है

मिनरल तेल में कोई रंग या गंध नहीं होता है, और ये पेट्रोल से निकलता है।

कई सालों पहले इसे इसकी चिकनाई की वजह से केवल पुर्ज़ों में इस्तेमाल किया जाता था, लेकिन हाल ही में किये गए रिसर्च से पता चला है कि मिनरल तेल में काफी विषाक्त पदार्थ मौजूद हो सकते हैं, जिससे आपका कैंसर का खतरा भी बढ़ सकता है।

कुछ कंपनियां मिनरल तेल को दूसरे नामों से भी लिखती हैं, जैसे की पैराफिनम या पेट्रोलॉटम।

ये करता क्या है?

जब आप शरीर या बालों पर मिनरल तेल लगाते हैं, तो वो जगह एकदम मुलायम बन जाती है। पर मिनरल तेल में कोई भी गुण नहीं है और ना ही ये आपकी त्वचा या बालों को कोई फायदा पहुंचाता है और तो और, जब आप इसे शरीर पर लगाते हैं, तो ये प्लास्टिक की तरह शरीर पर एक परत बना देता है, जिससे आपके शरीर को सांस लेने में दिक्कत होती है।

क्या इसके नुकसान भी हैं?

not-good-for-acne
ये ऐक्ने को बढ़ा सकता है

Credits: unikportal

ये ऐक्ने को बढ़ा सकता है

अगर आपको अक्सर ऐक्ने होता है, तो मिनरल तेल के इस्तेमाल से ये और भी बढ़ सकता है। साथ ही ये शरीर पर एक परत बना देता है, जिससे आपके शरीर में झुर्रियां भी जल्दी आ सकती हैं। ज़्यादा वक़्त तक इसका इस्तेमाल करने से ये आपकी सेहत के लिए भी हानिकारक हो सकता है, क्योंकि इससे हॉर्मोन में समस्या जैसी तकलीफें हो सकती हैं।

ये किन चीज़ों में होता है?

त्वचा, बालों और मेकअप से जुड़ी लगभग हर चीज़ में ये होता है, खास तौर से लिप बॉम, फाउंडेशन, मॉइस्चराइज़र और यहां तक की बेबी आयल या शिशुओं को लगाने वाले तेलों में भी ये होता है।

अगर आप वाकई अपनी त्वचा और बालों पर कोई अच्छा और प्राकृतिक कुछ लगाना चाहते हैं तो नारियल का तेल, बादाम तेल और ऑलिव आयल या फिर शिया बटर फायदेमंद हो सकते हैं।