होली रंगों का त्यौहार है। इसमें रंगों का हुडदंग कभी गुलाल से तो रंग भरे गुब्बारे से किया जाता है। हर तरफ ‘होली है’ की धूम मची होती है लेकिन रंगों में मौजूद कई केमिकल्स से आपके शरीर की त्वचा पर बहुत ही ख़राब असर पड़ता है। इनमें माइका, लेड जैसे केमिकल्स सिर्फ स्किन ही नहीं, बालों की त्वचा यानी स्कैल्प पर भी बुरा असर डालते हैं जिससे बाल रूखे-बेजान होते हैं। वहीं स्किन पर पिम्पल्स, रूखापन, खुजली और कई तरह की समस्याएं होती हैं। आज हम आपको बताते हैं होली के दौरान आप अपनी त्वचा और बालों का कैसे ख्याल रखें।

होली खेलने से पहले ध्यान रखें ये बातें,नहीं ख़राब होगी स्किन और बाल

सनस्क्रीन करेगा रक्षा

Image Credit: hindustantimes.com

डॉक्टर एनएस अग्रवाल के मुताबिक, आउटडोर होली खेलने के दौरान सूर्य की किरणें हमारे चेहरे और शरीर के खुले हुए अंगों पर पड़ती है जिससे त्वचा को काफी नुकसान पहुंचता है। सूर्य से निकलने वाला ख़तरनाक यूवी रेडिएशन त्वचा को रुखा बनाकर उसे टैन कर देता है जिससे त्वचा काली भी पड़ जाती है। इससे बचने के लिए आप होली खेलने से पहले कुछ सावधानियां बरतें तो हानि से बच सकते हैं और त्यौहार का भरपूर मज़ा भी उठा सकते हैं ।

धूप में निकलने से 20 मिनट पहले चेहरे के साथ-साथ पूरे शरीर पर सनस्क्रीन लगा लें। अपने स्किन टाइप के हिसाब से आप ज्यादा एसपीएफ वाला चुन सकते हैं। जिनकी त्वचा रूखी है उन्हें पहले सनस्क्रीन लगाना है और उसके कुछ मिनट बाद कोई मॉइस्चराइजर जिससे उन्हें रूखापन नहीं लगेगा।

होली खेलने से पहले अपने चेहरे पर बर्फ रगड़ लें। इससे चेहरे के रोमछिद्रों में रंग-गुलाल नहीं जाएगा क्योंकि आइस क्यूब लगा लेने से वह बंद हो जाएंगे और स्किन को नुकसान नहीं पहुंचेगा। इसके अलावा होली खेलने के तुरंत बाद साबुन से चेहरा ना धोएं क्योंकि इससे स्किन बेहद रुखी हो जाएगी। धोने से पहले आप स्किन पर कोई क्लींजिंग क्रीम लगाएं और उससे मसाज कर लें फिर कॉटन बॉल से चेहरे को साफ करके ठन्डे पानी से धो लें। होठों पर होली खेलने से पहले लिप बाम या वैसलीन लगा लें। इसी तरह महिलाएं नेल्स पर नेल पेंट लगा लें तो होली खेलने के बाद नाख़ूनों पर लगा रंग आसानी से निकल जाएगा।

होली के दौरान बालों की देखभाल का भी बहुत ध्यान रखना पड़ता है। होली खेलने से पहले कोई लीव-ऑन कंडीशनर लगा लेंगे तो उससे बालों पर सीधा रंग लगने से बच जाएगा और वो डैमेज से भी बच जाएंगे। इसके अलावा बालों में तेल लगाकर होली खेलने से भी बालों में रंग नहीं टिकते और उनसे नुकसान भी कम हो जाता है। होली खेलने के बाद सिर धोएं तो पहले सिर्फ पानी से रंग-गुलाल निकाल लें और उसके बाद किसी हर्बल शैम्पू का इस्तेमाल करें। शैम्पू करने के बाद एक मग पानी में थोड़ा सा नींबू का रस मिलाकर अपने बालों पर डाल लें, इससे स्कैल्प की त्वचा साफ़ हो जाएगी और बालों की क्वालिटी भी अच्छी होगी।

तो इस साल बिना त्वचा और बालों की फिक्र किए आप हो ली खेल सकते हैं। बस इस बात का ध्यान रखिए कि आप जिस भी रंग और गुलाल का उपयोग करें वह केमिकल फ्री हो।

This is aawaz guest author account