कई वैज्ञानिक और मोटिवेशनल स्पीकर्स समान रूप से इस बात को साबित कर चुके हैं कि मुस्कुराहट या हंसी आपको और आपके आसपास की दुनिया को बदल सकती है। कई रिसर्च में भी ये बात साबित हुई है कि एक मुस्कान से लोग आकर्षित होते है। यह हमें दूसरों से अधिक आकर्षक दिखा सकती है। यह हमारी मनोदशा और साथ ही हमारे आस-पास के लोगों की मनोदशा को भी दिखाती है। और इससे हमारी जिंदगी जीने की अवधि भी बढ़ सकती है। बिजी लाइफस्टाइल और कई सारी चिंताओं के बीच हम हंसना भूल जाते हैं, ऐसे में इसे किसी भी कीमत पर कभी नहीं खोने दीजिए। आज स्माइल पॉवर डे के मौके पर हम आपको बता रहे हैं कि जब आप हंसते हैं तो न सिर्फ आसपास का माहौल बल्कि आपके मस्तिष्क और शरीर में क्या-क्या बदलाव देखने को मिलते हैं।

मुस्कुराहट से दिमाग में होते हैं ये बदलाव

Image Credit: huffingtonpost.com

भोपाल के डॉक्टर आरपी पटेल के अनुसार, हर बार जब आप मुस्कुराते हैं, तो आप अपने दिमाग में एक छोटी सी फील गुड पार्टी देते हैं। मुस्कुराहट न्यूरल संदेशों को सक्रिय करती है जो आपके स्वास्थ्य और खुशी को लाभ पहुंचाता है। मुस्कुराते हुए न्यूरोपेप्टाइड रिलीज होता है जो तनाव से लड़ने की दिशा में काम करता है। न्यूरोपेप्टाइड्स छोटे अणु होते हैं जो न्यूरॉन्स को संवाद करने की अनुमति देते हैं। वे पूरे शरीर को संदेश देने की सुविधा देते हैं जब हम खुश, उदास, क्रोधित, उदास या उत्तेजित होते हैं। फील गुड न्यूरोट्रांसमीटर – डोपामाइन, एंडोर्फिन और सेरोटोनिन – सभी तब रिलीज़ होते हैं जब आपके चेहरे पर एक मुस्कान अच्छी तरह से चमकती है। यह न केवल आपके शरीर को आराम देती है, बल्कि यह आपके हृदय गति और रक्तचाप को भी कम कर सकती है। जब आप हंसते हैं तो एंडोर्फिन एक प्राकृतिक दर्द निवारक के रूप में भी काम करता है। यह 100 प्रतिशत कार्बनिक और बिना सिंथेटिक कॉनकॉक्शंस के संभावित नकारात्मक दुष्प्रभावों के बिना रिलीज होता है। साथ ही आपकी मुस्कान द्वारा लाया गया सेरोटोनिन रिलीज एक एंटी-डिप्रेसेंट / मूड लिफ्टर के रूप में कार्य करता है। आज के कई फार्मास्यूटिकल एंटी-डिप्रेसेंट आपके मस्तिष्क में सेरोटोनिन के स्तर को भी प्रभावित करते हैं, लेकिन एक मुस्कान के साथ, आपको फिर से नकारात्मक दुष्प्रभावों के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है – और आपको अपने डॉक्टर से सलाह की आवश्यकता नहीं है।

मुस्कुराहट आपके शरीर को कैसे प्रभावित करती है?
जब आप मुस्कुराते हैं तो आप वास्तव में बेहतर दिखते हैं – और ये वास्तव में सच है। जब आप मुस्कुराते हैं, तो लोग आपके साथ अलग तरह से पेश आते हैं। आप आकर्षक, विश्वसनीय, तनावमुक्त और ईमानदार लगते हैं। न्यूरोप्सिकोलोगिया नामक पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया है कि एक आकर्षक, मुस्कुराता हुआ चेहरा देखकर आपके ऑर्बिटोफ्रंटल कॉर्टेक्स, आपके मस्तिष्क के क्षेत्र को सक्रिय करता है जो संवेदना की प्रक्रिया करता है। इससे पता चलता है कि जब आप किसी व्यक्ति को मुस्कुराते हुए देखते हैं, तो आप वास्तव में आप अच्छा महसूस करते हैं। तो देर किस बात की, आप भी हमेशा हंसते-मुस्कुराते रहिये!

This is aawaz guest author account