माइग्रेन एक ऐसी समस्या है जिससे व्यक्ति के सिर में भयानक दर्द होता है। इसका दर्द अचानक शुरू हो जाता है और फिर घंटों तक आपको अपनी गिरफ्त में रखता है। इसमें होनेवाले तेज़ दर्द की अवधि निश्चित नहीं होती और साथ ही साथ यह सुबह और शाम किसी भी समय महसूस हो सकता है। यदि आप भी माइग्रेन के दर्द से परेशान रहते हैं, तो आज हम आपको कुछ ऐसे हर्ब्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जो जल्द से जल्द आपका माइग्रेन का दर्द ठीक करने में मदद कर सकता है। ये हर्ब्स माइग्रेन में किसी वरदान से कम साबित नहीं होंगे।

हल्दी

इसमें मौजूद एंटी इंफ्लामेटरी गुण और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर तत्वों की वजह से यह इम्युनिटी बढ़ाती है

मुंबई में बतौर जनरल फिज़िशियन डॉ शिनॉय की माने, तो हल्दी में भरपूर मात्रा में चिकित्सीय गुण होते हैं, इसलिए माइग्रेन के दर्द में हल्दी का इस्तेमाल अच्छा माना जाता है। इसमें मौजूद एंटी इंफ्लामेटरी गुण और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर तत्वों की वजह से यह इम्युनिटी बढ़ाती है। साथ ही इन तत्वों की वजह से शरीर में रक्तप्रवाह बेहतर बनता है, जिससे मस्तिष्क में होनेवाली क्लॉटिंग दूर होती है। जिससे माइग्रेन के दर्द में आराम मिलता है। आप चाहें तो हल्दी को उबले दूध और गर्म पानी में मिलाकर पी सकते हैं।

फीवरफ्यू

फीवरफ्यू एक ऐसा हर्ब है, जो माइग्रेन में बेहद मददगार साबित होता है। यदि मस्तिष्क में रक्त प्रवाह में अचानक बदलाव आए, तो तेज़ दर्द के साथ-साथ, मितली और आंखों की संवेदनशीलता बढ़ती है। जिसकी वजह से आपको बेहद परेशानी हो सकती है। फीवरफ्यू एक ऐसा हर्ब है, एंटी इंफ्लामेटरी गुणों से भरपूर होने के कारण रक्त कोशिकाओं को आराम देता है और माइग्रेन के दर्द से छुटकारा दिलाता है। ग्रीन टी या ब्लैक टी के साथ इसका इस्तेमाल करने से आपको बेहद फायदा होता है।

लैवेंडर आयल

इसकी खुशबु से आपको माइग्रेन की समस्या के अलावा चिंता, अवसाद और मितली की समस्या से भी आराम मिलता है

लैवेंडर एक ऐसा हर्ब है, जिसकी खुशबु से आपकी तंत्रिकाओं को आराम देता है। हालांकि मौखिक रूप से इसका सेवन नहीं किया जाता, लेकिन किसी आयल और पानी में मिलकर इसकी खुशबु से मदद ली जा सकती है। इसकी खुशबु से आपको माइग्रेन की समस्या के अलावा चिंता, अवसाद और मितली की समस्या से भी आराम मिलता है। बेहतर है यदि आप इसे किसी आयल में मिला कर इसका इस्तेमाल खुशबु के लिए करें।

तुलसी है कारगर

तुलसी एक ऐसी औषधि है, जो आपको बेहद फायदा पहुंचाती है। खास तौर पर इसमें मौजूद तत्वों की वजह से सिरदर्द में इसका काढ़ा बनाकर पीना आपके लिए अच्छा माना जाता है। इस काढ़े को बनाने के लिए तुलसी के 10 पत्ते और 4 लौंग मिलाकर एक गिलास पानी में उबालें। जब पानी आधा रह जाए तब थोड़ा सा सेंधा नमक डालकर गर्म चाय की तरह इसे पिएं। ऐसा करने से सिर की नसों में ब्लड सर्क्युलेशन अच्छा होता है और आपको बेहतर महसूस होता है।

नींबू आएगा काम

हल्के गुनगुने पानी में आधे नींबू का रस डाल कर और एक टीस्पून नमक मिला कर पीने से सिरदर्द में आराम मिलता है

अक्सर लोगों को एसिडिटी और गैस की वजह से भी सिरदर्द की शिकायत रहती है। यदि आपको भी यही समस्या है, तो नींबू आपके बेहद काम आ सकता है। हल्के गुनगुने पानी में आधे नींबू का रस डाल कर और एक टीस्पून नमक मिला कर पीने से सिरदर्द में आराम मिलता है। नमक एक नैचुरल एंटीसेप्टिक होता है, जो पेट की समस्या से निजात मिलाता है और नींबू गैस की समस्या से छुटकारा दिलाता है। इससे आपका सिरदर्द जल्द ही ठीक हो जाता है।

इस तरह माइग्रेन के दर्द में ये हर्ब्स आपके लिए बेहद फ़ायदेमंद साबित होंगे।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..