क्या आप हमेशा सुस्त, कमजोर और अस्वस्थ महसूस करते हैं, लेकिन इसे एक लाइफ साइकिल या फिर मौसम में चेंज के कारण इसे इग्नोर कर देते हैं। आपको लगता है कि सुस्त या फिर कमजोरी महसूस करना एक आम बात है और आप इसे अनदेखा कर देते हैं। लेकिन वास्तव में ऐसा होता नहीं है। कमजोरी और आलस्य आपको एक गंभीर बीमारी की तरफ संकेत करता है और वो है एनीमिया।

आपको बता दें कि बॉडी में लाल रक्त कोशिकाओं का असंतुलन एनीमिया होने के प्रमुख कारणों में से एक है। ये आमतौर पर अत्याधिक खून की कमी, लाल खून के कम उत्पादन, ऑटोइम्यून जैसी बीमारियों के कारण होता है। खैर जो भी कारण हो एनीमिया व्यक्ति की ओवरऑल ग्रोथ और डेवलपमेंट को प्रभावित करता है। ये आयरन और फोलेट की कमी के कारण भी होता है।

एनीमिया पीड़ित रखे खुद का खास ध्यान और अपनाए ये तरीके

एनीमिया के हैं विभिन्न प्रकार

Image Creidt: news18.com

भोपाल के डॉक्टर आरपी पटेल के मुताबिक, एनीमिया के विभिन्न प्रकार हैं और आमतौर पर ये तब होता है जब बॉडी में हीमोग्लोबिन का लेवल कम होता है। हीमोग्लोबिन एक प्रोटीन है जो रेड ब्लड कोशिकाओं में मौजूद होता है, जो ऑक्सीजन को बॉडी के विभिन्न भागों तक पहुंचाता है।

बढ़ते बच्चों और प्रेग्नेंट महिलाओं में एनीमिया एक आम लक्षण है। फोलेट और विटामिन बी -12 बॉडी में आरबीसी के उत्पादन को प्रभावित करता है और इसकी कमी से एनीमिया हो सकता है। एनीमिया की गंभीरता कारण पर निर्भर करती है। हम आपको ब्लड में आयरन को बढ़ाने और एनीमिया को ठीक करने के लिए कुछ सरल उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं। हम आपके साथ उन फूड्स की लिस्ट शेयर कर रहे हैं, जिससे आप नेचुरल तरीके से एनीमिया से बचाव और उपचार कर सकते हैं।

एनीमिया से बचने के लिए इन फूड्स को खाए

पत्तेदार सब्जियां

पत्तेदार सब्जियां विटामिन और मिनरल जैसे फोलेट और आयरन से भरे होते हैं, इन्हें खाने से एनीमिया और आयरन की कमी दूर होती है। ये एनीमिया से बचाव के लिए एक बेहतरीन उपाय है। पत्तेदार सब्जी जैसे पालक में बहुत ज्यादा पोषक तत्व होते हैं।

चिकन- रेड मीट हैं फायदेमंद

एनीमिया से पीड़ित व्यक्ति के लिए बहुत जरूरी है कि उसे सही मात्रा में पोषण आहार मिले। इससे उसकी बॉडी संतुलित रहेगी। रिच आयरन फूड्स, हेल्दी प्रोटीन से लेकर ओमेगा 3 फैटी एसिड तक, ये बॉडी की ग्रोथ और डेवलपमेंट में मदद करते हैं। चिकन, रेड मीट से लेकर अंडे तक, इन सभी में पोषण तत्वों की मात्रा अधिक होती है। इतना ही नहीं ये तत्व एनीमिया के इलाज में मदद भी करते हैं

ये चीज़े भी करती हैं बचाव

जड़ वाली सब्जियां

Image Credit: news18.com

अधिकांश जड़ वाली सब्जियां मिनरल्स से भरे होते हैं। इन्हें खाने से ब्लड की मात्रा बॉडी में बढ़ती है और आपकी डाइट भी अच्छी होती है। गाजर और शकरकंद भी पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इन्हें डेली डाइट में शामिल करना चाहिए, जिससे आपकी बॉडी में ब्लड ज्यादा डेवलप हो सके।

दाने और बीज

बीज और नट्स विभिन्न मिनरल और विटामिनों से भरे होते हैं। इसके अलावा नट्स को रेग्यूलर डाइट में शामिल करने से आपकी बॉडी में पोषण तत्व मिलते हैं। ये नट्स फाइबर से भरपूर होते हैं, बॉडी में ब्लड की मात्रा तेजी से बढ़ती है। एनीमिया पीड़ितों को अपने खाने में नट्स और सीड्स को शामिल करना ही चाहिए।

This is aawaz guest author account