डिप्रेशन या कहें अवसाद, एक ऐसी समस्या है जिससे आज कल हर तीसरा व्यक्ति ग्रसित है। कभी-कभी डिप्रेशन थोड़े समय के लिए रहता है, लेकिन कभी यह भयानक रूप ले लेता है। ऐसे में हम जीवन के नकारात्मक पहलुओं के बारे में सोचने लगते हैं। जब यह स्थिति चरम पर पहुंच जाती है, तो व्यक्ति के शरीर को पूरा आराम नहीं मिल पाता और मस्तिष्क में दबाव बना रहता है। यही तनाव बढ़ाता है और इसी स्थिति को डिप्रेशन की स्थिति कहते हैं। आइए आज हम डिप्रेशन के लक्षणों के बारे में जानेंगे, जिसे पहचानना बेहद आसान है।

1. अवसाद के प्रमुख लक्षणों में से एक है कि व्यक्ति हर समय परेशान रहता है। उसका किसी काम में मन नहीं लगता। अक्सर उसका मन उदास रहता है, जैसे किसी कोई काम में रुचि ना रहना, किसी बात की खुशी ना होना, गम का एहसास होना इत्यादि। यह डिप्रेशन का प्रमुख लक्षण है।

2. जैसा कि सभी जानते हैं, डिप्रेशन व्यक्ति के दिमाग को प्रभावित करता है। इसकी वजह से रोगी नकारात्मक सोच सोचने लगता है। जब यह स्थिति चरम पर पहुंच जाती है, तो व्यक्ति हीन भावना से ग्रस्त हो जाता है।

इन लक्षणों में सबसे खतरनाक है मेजर डिप्रेसिव डिसऑर्डर, जिससे आज कई लोग प्रभावित हैं

Credits: medscape.com

3. डिप्रेशन के बारे में बात करते हुए डॉक्टर सतीश नगरगोरजे बताते हैं कि अक्सर हम ज़्यादा कमाने की चाह में ज़्यादा काम करते हैं, जिससे तनाव बढ़ता है। क्षमता से ज़्यादा काम करने की वजह से इसका असर आपके स्वास्थ्य पर पड़ने लगता है और खुद के लिए समय निकालने का अवसर नहीं मिलता। यही वजह है कि लोगों में नींद की कमी की समस्या देखी गई है। बीच रात में नींद खुल जाना और बहुत देर तक नींद ना आना डिप्रेशन के लक्षण हो सकते हैं।

4. इन लक्षणों में सबसे खतरनाक है मेजर डिप्रेसिव डिसऑर्डर, जिससे आज कई लोग प्रभावित हैं। इसमें व्यक्ति को मिले-जुले लक्षण दिखाई देते हैं। इस तरह के डिप्रेशन के रोगी को काम करने, सोने, पढ़ने, खाने इत्यादि में परेशानी होती है और काम-काज में मन नहीं लगता, ऐसी स्थिति में लोग दिन पर दिन बीमार होते जाते हैं और डिप्रेशन बढ़ता जाता है।

इसीलिए ज़रूरी है कि हम इन लक्षणों पर ध्यान दें, जिससे अगली बार यदि आपको इन लक्षणों जैसा महसूस हो, तो डॉक्टर के पास जाना आसान हो जाए।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..